मोनेट-जिंदल ज्वाइंट वेंचर को ‘मंदाकिनी’ और त्रिमुला को मिला ‘मेरल’ कोल ब्लॉक

Share Button

झारखंड का मेरल कोल ब्लॉक त्रिमुला इंडस्ट्री के हाथ लगा है। इस ब्लॉक के लिए उसने उषा मार्टिन और ईस्टर्नरेंज माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड से ज्यादा बोली लगाई। यह ब्लॉक पहले अभिजीत इंफ्रास्ट्रक्चर के पास था और इसमें 1.28 करोड़ टन का रिजर्व है।

col_jharkhandउधर, कोल ब्लॉक की नीलामी में मोनेट इस्पात एंड एनर्जी और जिंदल इंडिया थर्मल की ज्वाइंट वेंचर कंपनी मंदाकिनी एक्सप्लोरेशन एंड माइनिंग ने 602 रुपये रुपये प्रति टन में उड़ीसा के मंदाकिनी कोल ब्लॉक को हासिल किया है और वह इसमें माइनिंग कॉस्ट छोड़ने को भी राजी हुई है। 

ज्वाइंट वेंचर ने अडानी पावर से ज्यादा ऊंची बोली लगाई जिसने ब्लॉक के लिए दो बिड डाली थी। इस ब्लॉक के लिए जीएमआर एनर्जी, जिंदल पावर और विजन कॉमट्रेड प्राइवेट लिमिटेड आदि  कंपनी ने भी बोली लगाई थी।

इस माइन में 32.2 करोड़ टन का रिजर्व है और सालाना 75 लाख टन की प्रॉडक्शन कैपेसिटी है। यह ब्लॉक पहले मोनेट इस्पात एंड एनर्जी, जिंदल फोटो लैब और टाटा पावर कंपनी के पास था।

त्रिमुला इंडस्ट्री को झारखंड का मेरल कोल ब्लॉक हासिल हुआ है। इस ब्लॉक के लिए उसने उषा मार्टिन और ईस्टर्नरेंज माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड से ज्यादा बोली लगाई थी। यह ब्लॉक पहले अभिजीत इंफ्रास्ट्रक्चर के पास था और इसमें 1.28 करोड़ टन का रिजर्व है।

सरकार इसके बाद छत्तीसगढ़ में तारा ब्लॉक के लिए पावर कंपनियों से बोली लेगी। स्टील और सीमेंट सेक्टर्स के दो ब्लॉक-नेराड मालेगांव और डुमरी की भी बोली लगाई जाएगी।

तारा ब्लॉक पर अडानी पावर की नजर है। उसने इस ब्लॉक के लिए तीन बिड दी हैं। इसके लिए जिंदल पावर, JSW एनर्जी, KSK महानदी पावर, लैंको इंफ्राटेक और रतनइंडिया पावर ने भी बिड की है। इस माइन में 16.7 करोड़ टन का कोल रिजर्व है और पहले यह छत्तीसगढ़ मिनरल डिवेलपमेंट कॉरपोरेशन के पास था।

गोदावरी पावर एंड इस्पात लिमिटेड, ग्रेस इंडस्ट्रीज, इंद्रजीत पावर प्राइवेट लिमिटेड, OCL आयरन एंड स्टील लिमिटेड और सनफ्लैग आयरन एंड स्टील कंपनी महाराष्ट्र की नेराड मालेगांव माइन के क्वालिफाइड बिडर्स हैं। यहां लगभग एक करोड़ टन कोयले का भंडार है। यह कोल ब्लॉक पहले गुप्ता मेटालिक्स एंड पावर के पास था।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...