मोदी-सरकार की आलोचना के शिकार बने पंकज श्रीवास्तव !

Share Button
Read Time:3 Minute, 57 Second

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह की सरेआम एक संवाददाता को धमकाने का असर मीडिया हाउसेस में होने लगा है।  चुन-चुनकर ऐसे पत्रकारों को नौकरियों से निकाला जा रहा है, जो सरकार या मोदी की जरा भी आलोचना करते हों।

sumit1चर्चा है कि भाजपा का मीडिया सेल ऐसे पत्रकारों की सुपारी दे रहा है और अब टीवी चैनलों की चर्चाओं में भी भाजपा प्रायोजित कथित पत्रकारों को भेजा जा रहा है। फिलहाल मोदी कंपनी का निशाना आईबीएन 7 के एसोसिएट एडिटर पंकज श्रीवास्तव हुए हैं, उन्हें बर्खास्त कर दिया गया है।

पंकज श्रीवास्तव ने इस संबंध में अपनी फेसबुक टाइमलाइन पर पूरी घटना लिखी है, जो इस प्रकार है-

“और मैं आईबीएन 7 के एसो.एडिटर पद से बर्खास्त हुआ !!! सात साल बाद अचानक सच बोलना गुनाह हो गया !!!!

sumit_smsकल शाम आईबीएन 7 के डिप्टी मैनेजिंग एडिटर सुमित अवस्थी को दो मोबाइल संदेश भेजे। इरादा उन्हें बताना था कि चैनल केजरीवाल के खिलाफ पक्षपाती खबरें दिखा रहा है, जो पत्रकारिता के बुनियादी उसूलों के खिलाफ है। बतौर एसो.एडिटर संपादकीय बैठकों में भी यह बात उठाता रहता था, लेकिन हर तरफ से ‘किरन का करिश्मा’ दिखाने का निर्देश था। दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष सतीश उपाध्याय पर बिजली मीटर लगाने को लेकर लगे आरोपों और उनकी कंपनी में उनके भाई उमेश उपाध्याय की भागीदारी के खुलासे के बाद हालात और खराब हो गये। उमेश उपाध्याय आईबीएन 7 के संपादकीय प्रमुख हैं। मेरी बेचैनी बढ़ रही थी। मैंने सुमित को यह सोचकर एसएमएस किया कि वे पहले इस कंपनी में रिपोर्टर बतौर काम कर चुके हैं, मेरी पीड़ा समझेंगे। लेकिन इसके डेढ़ घंटे मुझे तुरंत प्रभाव से बर्खास्त कर दिया गया। नियमत: ऐसे मामलों में एक महीने का नोटिस और ‘शो कॉज़’ देना जरूरी है।

पिछले साल मुकेश अंबानी की कंपनी के नेटवर्क 18 के मालिक बनने के बाद 7 जुलाई को ‘टाउन हॉल’ आयोजित किया गया था (आईबीएन 7 और सीएनएन आईबीएन के सभी कर्मचरियों की आम सभा ) तो मैंने कामकाज में आजादी का सवाल उठाया था। तब सार्वजनिक आश्वासन दिया गया था कि पत्रकारिता के पेशेगत मूल्यों को बरकरार रखा जाएगा। दुर्भाग्य से मैने इस पर यकीन कर लिया था।

बहरहाल मेरे सामने इस्तीफा देकर चुपचाप निकल जाने का विकल्प भी रखा गया था। यह भी कहा गया कि दूसरी जगह नौकरी दिलाने में मदद की जाएगी। लेकिन मैंने कानूनी लड़ाई का मन बनाया ताकि तय हो जाये कि मीडिया कंपनियाँ मनमाने तरीके से पत्रकारों को नहीं निकाल सकतीं ।

इस लड़ाई में मुझे आप सबका साथ चाहिये। नैतिक भी और भौतिक भी।बहुत दिनों बाद ‘मुक्ति’ को महसूस कर रहा हूं। लग रहा है कि इलाहाबाद विश्वविदयालय की युनिवर्सिटी रोड पर फिर मुठ्ठी ताने खड़ा हूँ।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

बिहार को ललकारने वाले मोदी को घुटने टेकने पड़े :नीतिश
ओ री दुनियाः गरीब का जीवन कुक्कुर से भी बदतर देखा
अब असम के राज्यपाल बौराए, कहा- सिर्फ हिन्दुओं का है हिन्दुस्तान
18 मार्च से फिर शुरू होगा जाटों का ‘हरियाणा जलाओ, आरक्षण पाओ अभियान’ !
ऐसे मनबढ़ू अभद्र महिला इंस्पेक्टरों ने एक निरीह पत्रकार को सरेआम घेरकर बेइज्जत किया
फिर से लांच होगें ‘द नेशनल हेराल्‍ड’, ‘कौमी आवाज’ और ‘नवजीवन’ अखबार
सुशासन बाबू के नालंदा में अराजकता, सिर्फ मीडिया में दिखता है सुशासन !
अमेजन के हिंदू देवी-देवताओं की ‘फोटो लेगिंग’ पर बबाल
विधायक भानु प्रताप शाही फिर गए जेल
रघु'राज की याद दिला रही है यह होर्डिंग, 3 माह बाद भी वही अटके हैं सरकारी बाबू
काटजू जी की 'कोर्ट' से दीपक चौरसिया गेटआउट
‘महापाप’ की रिपोर्टिंग से रोक हटाएं मी लार्ड :एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया
कोल्हानः एक्सपर्ट मीडिया न्यूज-राज़नामा डॉट कॉम के पाठकों की संख्या में भारी बढ़ोतरी
सीबीआई की सभी कार्रवाई असंवैधानिकः गुवाहाटी हाईकोर्ट
टीवी पर खबर कम तमाशा ज्यादा  :मार्क टुली
जेयूजे प्रदेश अध्यक्ष रजत गुप्ता का आह्वान- रांची चलो
District Administration, Nalanda पर सबिता देवी के मामला का सच
बादल को मंडेला बता कर मजाक के पात्र बने मोदी
बिहारशरीफ सदर अस्पताल के कैदी वार्ड में पुलिस-कैदी का यह कैसा सुराज? देखिये वीडियो
नालंदा में गजब हो गया, अंतिम सुनवाई के दिन लोशिनिका से रेकर्ड गायब, मामला राजगीर मलमास मेला सैरात भू...
श्वेताभ सुमन की लंका में फूटी चिंगारी, सुनिये ऑडियो टेप
बिहार में पूर्ण शराबबंदी, देसी के साथ विदेशी शराब भी वैन
बिहारशरीफ में चल रही है कई अवैध न्यूज चैनल
सांसद रामटहल चौधरी तक के घर की नाली का पानी स्कूल परिसर में होता है जमा
राघोपुर के बाहुबली लोजपा नेता बृजनाथी सिंह को AK-47 से भून डाला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...