मोदी प्रधानमंत्री बने तो देश बर्बाद हो जाएगा :प्रधानमंत्री

Share Button

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने तो देश बर्बाद हो जाएगा, उन्होंने साफ कर दिया कि वह अपने पद से इस्तीफा नहीं देने जा रहे हैं लेकिन प्रधानमंत्री के तीसरे कार्यकाल के लिए दावेदार नहीं हैं। प्रधानमंत्री ने महंगाई, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार को अपनी सरकार की तीन बड़ी नाकामियों के तौर पर बताया।

manmohan

नेशनल मीडिया सेंटर में हुई प्रेस वार्ता में मनमोहन सिंह ने मोदी और राहुल के मुकाबले पर पूछे जाने
पर उन्होंने कहा, ‘अहमदाबाद की सड़कों पर नरसंहार कराने वाले को प्रधानमंत्री बनाना देश के लिए विध्वंसकारी होगा।’ इसके बाद कमोजर प्रधानमंत्री साबित होने के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि शक्तिशाली प्रधानमंत्री का मतलब यह नहीं होता कि आप निर्दोष जनता का नरसंहार करवाएं

उन्होंने कहा कि मोदी का कांग्रेस मुक्त भारत का सपना कभी पूरा नहीं होगा।प्रधानमंत्री उम्मीदवार के नाम की घोषणा पर पूछे जाने पर मनमोहन ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष पहले ही कह चुकी हैं कि समय आने पर प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के नाम का ऐलान किया जाएगा। उन्होंने राहुल बनाम मोदी के सवाल पर भी सीधे-सीधे राहुल का नाम नहीं लिया और कहा कि मुझे उम्मीद है कि अगला प्रधानमंत्री यूपीए का ही होगा। तीसरे कार्यकाल के लिए अपनी अनिच्छा जताते हुए उन्होंने कहा कि मैं अगले प्रधानमंत्री को अपनी विरासत देने को तैयार हूं और मुझे उम्मीद है कि अगला प्रधानमंत्री भी यूपीए का ही होगा।

मनमोहन ने माना कि उनकी सरकार नौकरियां पैदा करने, भ्रष्टाचार को प्रभावी तरीके से रोकने और महंगाई रोकने में नाकाम रही। उन्होंने कहा कि मैं ईमानदारी से कहूंगा कि महंगाई एक वजह रही जिसके चलते कांग्रेस का प्रदर्शन खराब रहा। हालांकि, मैं पहले भी बता चुका हूं कि महंगाई की वजहें हमारे कंट्रोल के बाहर थीं। अंतरराष्ट्रीय कारक थे, ईंधन की कीमतों में इजाफा था।प्रधानमंत्री ने कहा कि जहां तक भ्रष्टाचार के आरोपों की बात हैं, उनमें से ज्यादातर यूपीए के पहले कार्यकाल के समय लगे। कोयला घोटाला और 2 जी स्पेक्ट्रम आवंटन में अनियमितता के आरोप भी यूपीए-1 के समय लगे।

मनमोहन ने कहा, ‘उसके बाद हम चुनावों में गए और अपने प्रदर्शन के दम पर चुनाव जीता। लोगों ने हमें जनादेश दिया। इसलिए ये जो मुद्दे जिन्हें समय-समय पर सीएजी, कोर्ट या मीडिया ने उठाया है। यह याद रखना चाहिए कि ये यूपीए-1 के दौरान के हैं। इस देश के लोगों ने करप्शन के इन आरोपों पर ध्यान नहीं दिया।’प्रधानमंत्री ने कहा कि विपक्ष के अपने स्वार्थ हैं और मीडिया उनके हाथों में कई बार खेल जाता है। इसलिए मेरे पास हर किस्म का यकीन है कि जब इस वक्त का इतिहास लिखा जाएगा तो हम बिना दाग के निकलेंगे। कुछ गड़बड़ियां हुई हैं मगर इन्हें सीएजी और मीडिया द्वारा बहुत बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मैं जब पीएम बना तो आम धारणा यह थी कि कांग्रेस पार्टी गठबंधन सरकार चलाने में सक्षम नहीं है। कांग्रेस की गठबंधन सरकार चलाने की क्षमता जांची गई और हमने यह साबित किया कि कांग्रेस पार्टी गठबंधन सरकार एक बार नहीं, बल्कि दो बार सफलतापूर्व चला सकती है।’ उन्होंने कहा, ‘इस प्रक्रिया में कुछ समझौते करने पड़े, लेकिन मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि ये समझौते सतही तौर पर ही थे, जो राष्ट्रीय समस्या को सुलझाने की हमारी क्षमता को किसी भी रूप में प्रभावित नहीं करते।’ 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *