मोदी जी, स्मृति जी से रिक्वेस्ट कर दुष्ट तुलसीदास को सिलेबस से हटाएँ

Share Button

teliआज शहर पटना के सबसे बड़े और शानदार हॉल में यह सम्मेलन हुआ। बीजेपी के झारखण्ड के मुख्यमंत्री और बिहार के कई भावी मुख्यमंत्री समेत दिग्गज नेता शामिल हुए।

अब वक्त आ गया है कि नरेंद्र मोदी जी, स्मृति ईरानी जी से रिक्वेस्ट करके दुष्ट तुलसीदास को सिलेबस से हटाएँ, जिन्होंने रामचरितमानस मानस के उत्तरकांड में यह लिखा है-

जे बरनाधम तेलि कुम्हारा। स्वपच किरात कोल कलवारा।।

नारि मुई गृह संपति नासी। मूड़ मुड़ाइ होहिं सन्यासी।।

अमित शाह नरेंद्र मोदी को बार बार पिछड़ी जाति का कह रहे हैं और बिहार की एक पिछड़ी जाति या उसके कुछ नेताओं ने नरेंद्र मोदी को अपना जाति भाई बना भी लिया है।

अब अपनी जाति की इज़्ज़त बचाइए मोदी जी। तुलसीदास को सिलेबस से हटवाने की कोशिश कीजिए।

……………………………………..

RSS पहली बार जाति के मैदान में खुलकर उतर रहा है। यह सही है कि RSS ने आज तक कभी भी धर्म की राजनीति नहीं की। उसने हमेशा हिंदू सवर्ण पुरुष, खासकर ब्राह्मण पुरुषों के स्वार्थ की राजनीति की है। संख्या की मजबूरी के कारण बाक़ियों को जोड़ना पड़ता है।

RSS जाति का खेल हमेशा धर्म की आड़ में खेलता आया है। लेकिन अमित शाह और RSS के अन्य नेताओं ने मोदी की जात का बार बार ढिंढोरा पीटकर स्पष्ट कर दिया है कि उसने धर्म का पर्दा हटा दिया है। अब जाति का WWE होने वाला है।

यह RSS का मैदान नहीं है। यह खेल RSS के लिए ख़तरनाक हो सकता है।

dilip-mandal…… भाजपा द्वारा पटना में आहूत तेली साहू सम्मेलन को लेकर वरिष्ठ पत्रकार दिलीप सी मंडल की फेसबुक वाल पर टिप्पणी

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.