मैक्सिको में 43,200 बार रेप की शिकार युवती ने सुनाई दिल दहला देने वाली आपबीती

Share Button

मैक्सिको में देह व्यापार में ज़बर्दस्ती धकेल दी गई एक युवती ने जो आपबीती सुनाई है, उसे सुनकर किसी का भी दिल दहल उठेगा।सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक कार्ला जेसिंटो नाम की इस महिला का मानना है कि उसके साथ 43,200 बार रेप हुआ है।

karla-maxकार्ला का कहना है कि उसे 4 साल तक हर दिन कम से कम 30 लोगों के साथ सोने को मजबूर किया गया।

कार्ला का कहना है कि वह जब 12 साल की थी तो उसे 22 साल का एक युवक गिफ्ट, पैसा और कार का लालच देकर टेनानसिंगो शहर ले गया।

यह शहर इसलिए कुख्यात है कि वहां किसी भी लड़की को देह व्यापार में धकेलने से पहले लाया जाता है। वहां कार्ला उस युवक के साथ तीन महीने तक रही।

फिर उसे मेक्सिको के बड़े शहर गुआडलाजरा ले जाया गया। इस शहर को सेक्स-ट्रेड का बड़ा सेंटर माना जाता है।

कार्ला ने कहा कि उसे सुबह 10 बजे से मध्य रात्रि तक कई पुरुषों के जिस्मानी संबंध बनाने के लिए मजबूर किया जाता था।

कार्ला ने कहा, “मेरे चीखने पर कुछ पुरुष हंसते थे। मैं अपनी आंखें बंद कर लेती थी, जिससे कि देख ना सकू कि मेरे साथ क्या हो रहा है।”

कॉर्ला ने बताया कि इस नर्क में धकेलने वाले युवक ने एक बार गर्दन पर ग्राहक के किस का निशान देखने पर चेन से पीटा, घूंसे लात चलाए। बाल खींचे और चेहरे पर थूका।

कार्ला के मुताबिक उसे और अन्य लड़कियों को छुड़ाने के लिए पुलिस ने छापा मारा। लेकिन पुलिस अफसरों का व्यवहार दंग करने वाला था।

उन्होने लड़कियों की आपत्तिजनक स्थिति में फिल्म बनवाईं। कुछ लड़कियां तो इनमें 10 साल तक की थीं।

एक अनुमान के मुताबिक मेक्सिको में हर साल बीस हज़ार लड़कियों को देह व्यापार में धकेल दिया जाता है।

इंटरनेशनल ऑर्गेनाइज़ेशन फॉर माइग्रेशन का कहना है कि अमेरिका में सर्वाधिक वांछित 10 मानव तस्करों में से पांच मेक्सिको के टैनानसिंगो शहर से ताल्लुक रखते हैं। इस शहर की कुल आबादी 11000 है।

यूनिवर्सिटी ऑफ ट्लेक्सकाला की 2010 में की गई स्टडी के मुताबिक टैनानसिंगों के हर पांच बच्चों में से एक दलाल बनना चाहता है।

जबकि दो-तिहाई बच्चों का कहना है कि उनका कोई ना कोई रिश्तेदार दलाल या मानव तस्कर है।

कार्ला को मैक्सिको सिटी में 2006 में एक रेस्क्यू ऑपरेशन में छुड़ाया गया था। 23 वर्षीय कार्ला मानव तस्करी के खिलाफ अब मुखर होकर कार्य कर रही हैं।

सीएनएन ने रिपोर्ट से पहले कार्ला के दावों की ‘यूनाइटेड अगेंस्ट ह्यूमन ट्रैफिकिंग ग्रुप’ और ‘रोड टू होम’ के अधिकारियों से पुष्टि की। कार्ला को छुड़ाने के बाद ‘रोड टू होम’ शेल्टर में ही रखा गया था।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.