मुखिया और पूर्व प्रमुख के बीच मारपीट में महिला सहित एक दर्जन जख्मी

Share Button

हवेली खड़गपुर। खड़गपुर थाना क्षेत्र अन्तर्गत राजा रानी तलाब के समीप बनगामा पंचायत के मुखिया भीम मंडल व समर्थकों और टेटिया बम्बर पूर्व प्रमुख सह बनगामा पंचायत के मुखिया प्रत्याशी रहे निरंजन मंडल व समर्थकों के बीच जमकर मारपीट हुई।

इस घटना में तीन महिला सहित एक दर्जन लोग जख्मी हो गए. सभी जख्मी मुखिया पक्ष के हीरा बिन्द , माला देवी, उर्मिला देवी, कृष्ण कुमार, शशिकांत कुमार व मुखिया भीम मंडल तथा पूर्व प्रमुख पक्ष के मिथुन कुमार, छोटू कुमार, चन्दु बिन्द, निर्मला देवी, बिनोद बिन्द व पूर्व प्रमुख निरंजन मंडल का ईलाज खड़गपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कराया गया। दोनो पक्षों की ओर से एक दूसरे के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया गया है।

थानाध्यक्ष राजेश राय ने बताया कि पूर्व प्रमुख निरंजन मंडल के बयान पर 14 लोगो भीम मंडल, हीरा लाल बिन्द, कृष्णा बिन्द, मुन्ना बिन्द, रजनीकांत बिन्द, विपिन मंडल, अखिलेश बिन्द, मिथिलेश बिन्द, परमानन्द मंडल, रामानंद मंडल, सूर्या बिन्द, मुकेश बिन्द व सण्टा बिन्द को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।

वही मुखिया भीम मंडल के बयान पर अनुरंजन उर्फ मिथुन, निरंजन मंडल, वीरबल , चन्दु , नवल किशोर मंडल, गब्बर, छोटू, विशुन देव बिन्द व जालिम बिन्द को नामजद अभियुक्त बनाया गया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

मुखिया भीम मंडल व समर्थकों और टेटिया बम्बर पूर्व प्रमुख सह बनगामा पंचायत के मुखिया प्रत्याशी रहे निरंजन मंडल व समर्थकों को हिरासत में लिया गया। दोनो पक्षों से पूछताछ कर रही है।

Share Button

Relate Newss:

मुखिया की गुंडई पर पुलिस की कार्यशैली को लेकर पत्रकारों में उबाल
फुहर है आज की मीडिया, आरोपी को इस तरह बचा रही है एसआईटी !
पत्रकार नहीं, प्रखंड कांग्रेस अध्यक्ष है पंकज मिश्रा,पत्रकारिता नहीं है गोली मारने की वजह
उस महिला का गर्भपात की पुष्टि, कोडरमा घाटी में जिस अज्ञात महिला का मिला था शव
पत्रकारिता को समुचित सम्मान मिले : विस अध्यक्ष दिनेश उरांव
नालंदा में मुखिया की चचेरे भाई समेत गोली मार कर दिनदहाड़े हत्या
सरकारी विज्ञापनों में अब नहीं दिखेगा पांच साल तक सिर्फ पीएम का चेहरा
मोदी-चीन डील में अडानी और भारती समूह की बल्ले-बल्ले
यूपी में पत्रकार जगेन्द्र की हत्या पर केंद्र व राज्य सरकार को नोटिस
पत्रकार संतोष ने फेसबुक पर लिखा- वीरेन्द्र मंडल केस में भावनाओं पर काबू रखना थी बड़ी चुनौती

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...