मांझी का चुनावी स्लोगन- पहले मतदान करें, फिर मद्दपान

Share Button

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए दूसरे चरण को लेकर प्रचार अभियान में जुटे सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री एवं हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने मंगलवार को अपने समर्थकों को समझाने के क्रम में नया स्लोगन दे गये…….. पहले मतदान करें फिर मद्यपान।

MANJHIजीतन राम मांझी ने अपने विरोधियों पर पैसा और शराब बांटने का आरोप लगाते हुए कहा कि वे इस संबंध में चुनाव आयोग से इसकी शिकायत करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि विरोधियों की ओर से जो शराब बांटी जा रही है उसमें मिलावट है। जिसका सेवन करने के बाद आप कई दिनों तक बीमार पड़ सकते है। मांझी ने कहा कि कि पहले वोट देना, इसके बाद दारू पीने का होगा तो पीना।

गौर हो कि पूर्व सांसद ब्रह्मदेव आंनद पासवान ने गरीब जनता दल (सेकुलर) के प्रदेश अध्यक्ष का पद छोड़कर हिंदुस्तानी आवाम मोरचा में शामिल हुए। हम में शामिल करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने कहा कि इससे पार्टी मजबूत होगी। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि वजीरगंज में विरोधियों द्वारा उनके समाज के लोगों के बीच दारू व पैसा बांटा गया। इसकी जानकारी जब लोगों ने दी तो उनसे कहा कि पहले वोट देना, इसके बाद दारू पीने का होगा तो पीना। उन्होंने कहा कि ऐसे दारू का टेस्ट कराया जायेगा। अगर कोई गड़बड़ी पायी गयी तो कार्रवाई होगी।

उन्होंने कहा कि वोटर को प्रभावित करने के लिए ऐसा किया गया है। उन्होंने शेरघाटी के एसडीओ ज्योति कुमार व इमामगंज के बीडीओ विनोद कुमार पर चुनाव कार्य में पक्षपात पूर्ण रवैया किये जाने का आरोप लगाया।

औरंगाबाद के मदनपुर में मांझी ने कहा कि तालाब का पानी जब पुराना हो जाता है, तो उससे दुर्गंध निकलने लगता है और उसे निकाल कर फेंका जाता है। उसी तरह लालू-नीतीश का तालाब सड़ गया है।

Share Button

Relate Newss:

अंततः वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष को भी 'आप' न आई रास, दिया यूं इस्तीफा
दुनिया की चौथी सबसे खूबसूरत महिला ऐश्वर्या बच्चन
बिहार-झारखंड, यहां जदयू-भाजपा सरकार की आत्मा जिंदा कहां है ?
ऐरा-गैरा नत्थू-खैरा भी खेल रहे यूं मीडिया कप क्रिकेट!
पटना मीडिया पर कथित हमले का सच, खुद तेजस्वी यादव की जुबानी
पटना के गांधी मैदान में हुई रैली थी तिलांजलि सभाः मोदी
दैनिक हिंदुस्तान में संपादकों का बड़ा फेरबदल, रांची से गिरीश मिश्र गये दिल्ली
राजनैतिक विश्लेषक, पत्रकार व कॉमेडियन चो रामास्वामी का निधन
इस लोकसभा चुनाव में खाता तक नहीं खुला 1652 पार्टियों का !
मंगोलियाई नेता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही खुद को किया आग के हवाले
अगर साईज पता हो तो पाठकों को अंडरगार्मेंटस भी बांट दे अखबार
रैली को विफल करने की हुई बर्बर कोशिश :मरांडी
जी न्‍यूज पर चली झूठी खबर को सच बनाने में सारे चैनल टूट पड़े
नालंदा के थरथरी में निजी बीएड कॉलेज निर्माण के ठेकेदार से मांगी रंगदारी
भूमि अधिग्रहण अध्याधदेश का विरोध का कारण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...