महागठबंधन के हाथों मिली करारी हार के बाद ब्रिटेन में लगे पोस्टर ‘मोदी नॉट वेलकम ‘

Share Button

बिहार चुनाव में महागठबंधन के हाथों मिली करारी हार के बाद पीएम नरेन्द्र मोदी के ब्रिटेन दौरे को लेकर वहां प्रोटेस्ट शुरू हो गया है। पीएम मोदी के 12 नवंबर के ब्रिटेन दौरे से पहले विरोध को लेकर संगठन की तरफ से ब्रिटिश पार्लियामेंट के बाहर पोस्टर भी लगाए हैं। मोदी नॉट वेलकम नाम के इस कैंपन की अगुवाई आवाज नेटवर्क कर रहा हैं।

modi britenपीएम मोदी के पहले ब्रिटेन दौरे के लिए वहां के कई ह्युमन राइट समर्थक और एनजीओ पीएम मोदी के इस दौरे के खिलाफ प्रोटेस्ट करने की तैयारी में हैं।

मोदी का ब्रिटेन दौरा 12 नवंबर को है। जहां उनका भव्य स्वागत किए जाने के साथ ही ब्रिटिश पार्लियामेंट को एड्रेस करने का प्रोग्राम है।

यूरोप इंडिया फोरम के यूके वेलकम्स मोदी कैंपेन के तहत मोदी के स्वागत की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

लंदन के वेम्बले स्टेडियम में 13 नवंबर होने वाले कार्यक्रम के लिए 70,000 से ज्यादा लोगों के पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है।

ब्रिटेन में भारत के राजदूत रंजन मथाई ने बताया कि करीब 10 साल में किसी भारतीय पीएम का यह पहला स्वागत होगा। दुनिया में भारत की पोजिशन के लिए उनके पास विजन है। मोदी के स्वागत समारोह को टू ग्रेट नेशंस, वन ग्लोरियस फ्यूचर नाम दिया गया है।

पीएम मोदी के भव्य स्वागत के विरोध में आवाज नेटवर्क ने 3 दिन का प्रोटेस्ट प्लान किया है। 12 नवंबर की दोपहर ब्रिटिश पीएमओ 10, डाउनिंग स्ट्रीट के बाहर से पार्लियामेंट स्क्वॉयर तक मार्च करने का फैसला किया है।

इसके बाद प्रदर्शनकारी हाउस ऑफ कॉमन के बाहर इकट्ठा होंगे। प्रोटेस्ट करने वालों में शामिल एक सिख एनजीओ से संबंधित वॉलंटियर ओम सिंह ने बताया कि उन्होंने मोदी के पोस्टर पर स्वास्तिक (नाजी शासन का चिन्ह) लगाया है। इसके जरिए वे लोग मोदी के भव्य स्वागत का विरोध करेंगे।

आवाज नेटवर्क के स्पोक्सपर्सन ने कहा, मोदी यहां आकर अपने डिजिटल इंडिया, क्लीन इंडिया और विकसित और विकासशील भारत के आइडियाज को बेचना चाहते हैं।

जबकि सच्चाई यह है कि वहां साहित्यकारों पर हिंसा की जा रही है। मोदी भारत की डेमोक्रेटिक और सेक्युलर छवि को अनदेखा कर रहे हैं।

पीएम मोदी के ब्रिटेन विजिट को लेकर सोशल मीडिया पर प्रोटेस्ट शुरू हो चुका है। सोशल साइट्स पर फोटोग्राफ्स और ट्वीट शेयर किए जा रहे हैं। इसके लिए #ModiNotWelcome नाम से हैशटैग भी ट्रेंड में आ गया है।

मोदी के दौरे के विरोध में किए जा रहे कुछ ट्वीट में गुजरात दंगे का जिक्र किए जाने के साथ ही दंगों के फोटोग्राफ्स भी शेयर किए जा रहे हैं।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...