‘मलमास मेला सैरात भूमि को 3 सप्ताह के अंदर अतिक्रमण मुक्त कराएं राजगीर सीओ’

Share Button
नालंदा जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी संजीव कुमार सिन्हा (फाईल फोटो)

राजगीर (न्यूज डेस्क)। नालंदा जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी संजीव कुमार सिन्हा की प्राधिकार में राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि पर भू-माफियाओं द्वारा किये गये अतिक्रमण से जुड़े चर्चित मामले की आज अंतिम सुनवाई पुरी हो गई।

श्री सिन्हा ने अपने आदेश में राजगीर अंचलाधिकारी को आदेश दिया है कि राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि की को तीन सप्ताह के भीतर हर हाल में अतिक्रमण मुक्त कर वस्तुस्थिति से अवगत करायें। इस फैसले के साथ वाद को समाप्त कर दिया गया।

हालांकि आदेश के अनुसार तीन सप्ताह 6 जुलाई के बाद निर्धारित है क्योंकि राजगीर अंचलाधिकारी ने आज प्राधिकार को बताया कि उन्होनें मलमास मेला की सैरात भूमि के चिन्हित सभी अतिक्रमणकारियों को 6 जुलाई तक अतिक्रमण हटाने का अंतिम सूचना भे दी है।

इस पर वादी की सहमति से प्राधिकार पदाधिकारी संजीव कुमार सिन्हा ने यह आदेश पारित किया कि 3 सप्ताह की समया सीमा 6 जुलाई के बाद की कार्य दिवस मानी जाये।

नालंदा लोक शिकायत निवारण प्राधिकार कार्यालय से प्रसन्नचित बाहर निकलते वादी एवं आरटीआई एक्टीविस्ट पुरुषोतम प्रसाद

बता दें कि राजगीर के आरटीआई कार्यकर्ता समाजसेवी पुरुषोतम प्रसाद ने राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि पर भू-माफियाओं द्वारा किये गये अतिक्रमण को लेकर जिला अपीलीय प्राधिकारी में यह अनन्य वाद संख्या-999990124121637691/1A दर्ज कर रखा है।  इसकी अंतिम सुनवाई 17 जून,2017 को होनी तय थी लेकिन, किसी कारणवश सुनवाई नहीं हो पाई थी।

वादी की शिकायत थी कि जिला लोक शिकायत निवारण सह प्रथम अपीलीय प्राधिकारी द्वारा अपने अंतरिम आदेश में राजगीर अंचलाधिकारी के विरुद्ध शास्ति अधिरोपित तक का आदेश दे चुकी है। फिर भी अंचलाधिकारी मामले को लेकर गंभीर नहीं दिख रहे हैं।

नालंदा जिला लोक शिकायत निवारण प्राधिकार के अंतिम फैसले को लेकर काफी संतुष्ट नजर आ रहे वादी पुरुषोतम प्रसाद ने कहा कि यह एक ऐतिहासिक फैसला है और न्याय की जीत है। जैसा कि उन्हें प्राधिकार पदाधिकारी संजीव कुमार सिन्हा सरीखे से उम्मीद थी।

Share Button

Relate Newss:

भारत से 5 हजार करोड़ लेकर फरार नाईजीरिया में देखिये कैसे ऐश कर रहा नीतीन फेदशरा
‘हम भारत के लोग’ और नेताओं के बीच यह अंतर क्यों ?
भैया, मैं जरा बौद्धिक गरीब हूं
मलमास मेला मोबाइल एप्प से हटाई गई भू-माफियाओं से जुड़ी सूचनाएं
वाट्सएप की दो टूकः नहीं कर सकते प्रायवेसी का उल्लंघन
अमित शाह चुनेगें गुजरात का सीएम
व्यंग्य का नया मैदान है सोशल मीडिया !
अनेक चर्चाओं-आशंकाओं के बीच यूं बोले ‘द रांची प्रेस क्लब’ के नव निर्वाचित सचिव शंभुनाथ चौधरी
शर्मनाकः बाड़मेड़ पुलिस ने ‘दुर्ग’ के परिजनों से यूं ऐंठे 80 हजार रुपये
63 साल में नहीं हुआ, मोदी जी ने 2 साल में कर दिखाया : नरेन्द्र सिंह तोमर
'भारत रत्‍न' हो गए प्रो. राव और सचिन तेंदुलकर
अगवा डॉक्टर की हत्या, SP ने दी थी फिरौती देने की सलाह !
IAS एसोसिएशन के खिलाफ पटना हाई कोर्ट में जनहित याचिका
कनफूंकवों ने रघुवर की बांट लगा दी.....
झारखंड जर्नलिस्ट एशोसिएशन के अध्यक्ष पर सचिव ने लगाये गंभीर आरोप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...