‘मधु कोड़ा लूट राज’ के हवाला कारोबारी को कोर्ट ने दिलाई चप्पल

Share Button

money aundering case accused

मनी लांड्रिंग केस में पूर्व मुख्‍यमंत्री मधुकोड़ा के साथ सह आरोपी हवाला कारोबारी अनिल आदिनाथ वस्तावड़े के प्रति जेल प्रशासन का अमानवीय चेहरा सोमवार को सामने आया.

सुरक्षा कारणों का हवाला देकर जेल प्रशासन ने अनिल आदिनाथ को नंगे पांव होटवार जेल से ईडी कोर्ट में पेश किया. ईडी कोर्ट ने जेल प्रशासन की इस करतूत पर तुरंत जूते-चप्पल मुहैया कराने का आदेश दिया.

मधु कोड़ा ने भी जताया ऐतराज

आपको बता दें कि अनिल आदिनाथ वस्तावड़े मधुकोड़ा केस में 2013 से जेल में बंद हैं. सोमवार को रांची के ईडी कोर्ट में अनिल नंगे पांव पेश हुए.

बगैर जूते-चप्पल पहने अदालत में आए अनिल आदिनाथ वस्तावड़े ने जेल प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि सुरक्षा का बहाना बनाकर उन्हें जूता-चप्पल नहीं पहनने दिया जाता है.

वस्तावड़े के साथ हुए इस अमानवीय बर्ताव पर इस केस के मुख्य आरोपी और पूर्व सीएम मधुकोड़ा ने भी ऐतराज जताया और अदालत से हस्तक्षेप करने की मांग की.

उन्होंने कहा कि यह बेशक अमानवीय व्यवहार है.

तत्काल चप्पल उपलब्ध कराने के निर्देश

अनिल वस्तावड़े के अधिवक्ता ने बताया कि न्यायालय ने ट्रायल के दौरान किसी आरोपी के साथ हुए इस बर्ताव पर कड़ी नाराजगी जताते हुए होटवार जेल प्रबंधन को तत्काल जूता-चप्पल वस्तावड़े को मुहैया कराने का निर्देश दिया.है.

कोर्ट ने कड़ी फटकार लगाते कहा कि जूते पहनने में कोई सुरक्षा समस्या नहीं है.

उधर, ईडी लोक अभियोजक एसआर दास ने भी इस मसले पर ताजुब जाहिर किया और कहा कि जेल मैनुअल में ऐसा कुछ नहीं है जिससे उन्हें चप्पल पहनने से रोका जाए.

कौन है अनिल आदिनाथ वस्तावड़े

पुणे के गोखले रोड का रहने वाला अनिल वस्तावड़े 2013 में इंडोनेशिया से पकड़े जाने के बाद एकाएक सुर्खियों में आ गया.

वस्तावड़े पर मधुकोड़ा की प्रॉपर्टी को विदेशों में हवाला के जरिए लांड्रिंग करने का आरोप है.

गिरफ्तारी के बाद से होटवार जेल में रह रहे वस्तावड़े इससे पहले सुरक्षा को लेकर भी सवाल खड़े कर चुका है. लेकिन इस बार जिस तरह से जेल प्रशासन पर बस्तावड़े ने आरोप लगाये हैं वह सबके सामने नजर आ गया.

हालांकि इस मामले में जेल प्रशासन की चुप्पी कई सवाल खड़े कर रही है.

Share Button

Relate Newss:

दूसरे विनोद सिंह के बदले मुझे जेल जाना पड़ा !
प्रबंधन की विशाल असफलता है नोटबंदी :मनमोहन सिंह
टीएमएच में मौत से जूझ रहा है टीवी रिपोर्टर बिपीन मिश्रा
बराक ओबामा की शान या उनकी कायरता की पहचान !
‘दुर्ग’ को जमानत, लेकिन ST-SC कोर्ट में यूं दिखा सुशासन का दोहरा चरित्र
टाइम्स नाऊ पर चला एनबीएसए का डंडा, जुर्माना सहित माफी मांगने के आदेश
रांची प्रेस क्लब में शादी का आयोजन कमिटी का फैसला  : सचिव
इंडिया टीवी की एंकर तनु शर्मा सुसाइट नोट से हड़कंप
छोटे और मंझोले अख़बारों को मार डालेगी मोदी सरकार की नई विज्ञापन नीति
बिहार को ललकारने वाले मोदी को घुटने टेकने पड़े :नीतिश
मोदी मैजिक की 'डबल हैट्रिक' के बीच कांग्रेस भी उभरी
गुजरात में पक्षियों के उड़ने का मौलिक अधिकार है या नहीं- अब सुप्रीम कोर्ट तय करेगा
बड़े बेआबरू होकर तेरे कूचे से हम चले....
अनारकली बनीं स्वरा जगा रही उम्मीदें
उपेक्षित है नेताजी से जुड़े झरिया कोयलाचंल का यह विरासत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...