मद्रास हाई कोर्ट के जज ने कहा- मुझे भारत में पैदा होने पर आती है शर्म !

Share Button
मद्रास हाईकोर्ट के जज सीएस करनन ने विवादित बयान दिया है। मद्रास हाईकोर्ट से कलकत्ता हाईकोर्ट ट्रांसफर किए जाने से नाखुश करनन ने इस फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘मुझे भारत में पैदा होने पर शर्म आती है।’
करनन ने आरोप लगाया कि वे पिछड़ी जाति से हैं इसलिए उनके साथ भेदभाव किया गया है। बता दें कि जस्टिस जगदीश सिंह केहर और आर भानुमति की डिविजन बेंच ने सोमवार को यह आदेश दिया कि जस्टिस करनन को कोई भी केस न दिया जाए।
इस पर विवादित जज ने सुप्रीम कोर्ट के दोनों जजों के खिलाफ एससी/एसटी (प्रिवेंशन ऑफ एट्रोसिटी) एक्ट के तहत FIR दर्ज कराएंगे। 
कोर्ट के निर्देश से पहले जस्टिस करनन ने सुप्रीम कोर्ट की तरफ से जारी किए गए उनके ट्रांसफर के आदेश पर खुद ही स्टे लगा दिया। करनन ने ट्रांसफर करने के लिए CJI टीएस ठाकुर से लिखित सफाई भी मांगी।
justiceसुप्रीम कोर्ट के उन्हें केस दिए जाने पर रोक लगाए जाने पर करनन का कहना है, ‘मेरा ज्यूडिशियल पावर अब भी मेरा पास है।’ जज ने कहा, ‘मैं इस मामले में खुद संज्ञान लेते (सुओ-मोटो) चेन्नई पुलिस कमिश्नर को निर्देश दूंगा कि वे एफआईआर दर्ज कराएं।’
करनन ने मद्रास हाईकोर्ट के सीनियर जज, चीफ जस्टिस संजय कौल पर प्रताड़ना और अपमान करने के मामले में केस दर्ज करने की धमकी देने का आरोप लगाया था।
सुप्रीम कोर्ट ने लिया एक्शन
अपने ट्रांसफर पर खुद स्टे लगाने वाले करनन को लेकर चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया टीएस ठाकुर की अगुवाई वाली बेंच ने निर्देश दिया है कि उन्हें किसी भी तरह का कोई केस नहीं सौंपा जाए।
जस्टिस करनन ने कहा- मेरा ट्रांसफर सिफारिशी आदेश
जस्टिस करनन ने अपने ट्रांसफर के फैसले पर चीफ जस्टिस को लिखा- योर लॉर्डशिप, मैं अनुरोध करता हूं कि आप अपने सहयोगियों के माध्यम से 29 अप्रैल तक अपना लिखित स्टेटमेंट भी सबमिट करें। तब तक मेर ट्रांसफर आदेश पर स्टे लगाना ठीक रहेगा। उ
न्होंने अपने ट्रांसफर ऑर्डर को अस्थायी ‘सिफारिश आदेश’ करार देते हुए लिखा- सीजेआई को उनके न्यायाधिकार में दखल नहीं देना चाहिए। क्योंकि मैं योग्यता के आधार के एक आदेश को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में हूं।
Share Button

Relate Newss:

पटना शहर में अनंत सिंह के नाम 2 अरब से अधिक की जमीनें !
 इस सरकार-शासन प्रेमी कथित जर्नलिस्ट की पोस्ट से उभरे सबाल, राजगीर में कौन-कितने चिरकुट पत्रकार ! 
स्पेनिश अखबार ‘लॉ रेजां’ ने भारतीय मूल के सिख लेखक को यूं बना दिया आतंकी
नीतिश सरकार के विभागों का बंटबारा, तेजस्वी बने डिप्टी सीएम
चुनाव आयोग ने नीतीश सरकार पर कसा शिकंजा, नालंदा के डीएम समेत 49 IAS इधर-उधर !
पश्चिम बंगाल में सेना तैनात, भड़कीं ममता, कहा- आपातकाल
आइएएस की मौत पर उबाल, सीबीआइ जांच की मांग
नीतिश कुमार ने निभाया अहम वादा, बिहार में शराबबंदी की घोषणा
नीतीश कुमार को अपने ही रिकार्ड को तोड़ने की होगी चुनौती
WCH ropes in Star Cricketer as the Brand Ambassador
Amitabh to endorse DD Kisan for free
पांच्यजन्य अखबार के विरुद्ध कार्यवाही क्यों नहीं?
संजय दत्त की तरह अनंत सिंह के खिलाफ टाडा की तैयारी!
उस महिला का गर्भपात की पुष्टि, कोडरमा घाटी में जिस अज्ञात महिला का मिला था शव
छाई रही बीबीसी की "निर्भया डॉक्यूमेंट्री"

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...