भ्रष्टाचार के आरोपी हैं झारखंड के नए सीएम रघुवर दास !

Share Button

भाजपा ने भले ही झारखंड से भ्रष्टाचार मिटाने के नाम पर चुनाव जीत लिया हो पर उसके नवनियुक्त मुख्यमंत्री रघुवर दास पर 200 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार के संगीन आरोप हैं। 

raghubar_das_bjpचुनाव प्रचार के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी जब झारखंड की सभावों में अपनी दमदार आवाज से यह कहते रहे कि राज्य को भ्रष्टाचार मुक्त शासन और विकास के लिए भाजपा को जिताइए, तो जनता ने उनकी बातों पर यकीन कर लिया और भाजपा को बहुमत के करीब पहुंचा दिया लेकिन, जैसे ही भाजपा ने एक गैर आदिवासी सीएम के रूप में रघुवर दास के नाम की घोषणा की तो अब सवाल उठेगा कि आखिर पार्टी ने कैसे एक ऐसे व्यक्ति को सीएम की कुर्सी सौप दी जो खुद भ्रस्टाचार के संगीन आरोप का शिकार है.

भ्रष्टार का यह आरोप सन 2005 में रघुवर पर तब लगा जब वह राज्य में शहरी विकास विभाग के मंत्री थे. इस आरोप की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ये आरोप खुद झारखंड असेम्ली द्वारा गठित हाई पावर्ड कमेटी ने लगाया था. इसमें कहा गया है कि रघुबर दास ने सिंगापुर की एक कम्पनी को नियमों के खिलाफ जा कर 200 करोड़ रुपये की परियोजना स्वीकृत की थी . इस फर्म को रांची में ड्रेनज का निर्माण करना था

हाईपावर्ड कमेटी की यह रिपोर्ट बहुत दिनों तक दबी रही. लेकिन किसी तरह मीडिया में इस जांच रिपोर्ट के कुछ अंश मीडिया में भी आ गये. 13 जनवरी 20 10 को आईबीएन-सीएनएन ने भी रिपोर्ट को दिखायी. उस समय रघुवर उपमुख्यमंत्री बन चुके थे.

रांची में ड्रेनेज निर्माण के लिए पांच कम्पनियों ने निवादा भरा था लेकिन तमाम कमियों और शर्तें न पूरा करने के बावजूद सिंगापुर की कम्पनी मिनडर्ट को यह ठेका दे दिया गया. जबकि अन्य चार कम्पनियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया.

सबसे बड़ी बात यह है कि जब यह ठेका सिंगापुर की कम्पनी को दिया गया तो उस समय राज्य में जबर्दस्त विवाद भी हुआ.

जब हाईपावर्ड कमेटी ने अपनी जांच में रघुवर दास को दोषी पाया तो रघुवर ने अपने बचाव में कहा कि कमेटी ने अपनी सीमा का उल्लंघन करके जांच की है.

खास बात यह है कि जब 2005 में यहां भजपा की सरकार थी तब उसने एक तकनीकी कमेटी बनायी जिसने रघुवर दास को क्लीन चिट दे दी . लेकिन जब भाजपा की सरकार चली गयी तो एक नयी जांच कमेटी बनी जिसने अपनी रिपोर्ट में पुरानी कमेटी की जांच रिपोर्ट को सिरे से खारिज कर दी. इस रिपोर्ट में रघुवर दास पर आरोप लगाया गया है कि उनके शहरी विकास विभाग के मंत्री रहरते 200 करोड़ रुपये के ठेके में हेराफेरी की गयी.

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी के नेता रघुवर दास को मुख्यमंत्री नियुक्त किया है. भाजपा को झारखंड चुनाव में भारी सफलता मिली है। 

……नौकरशाही. इन पर संपादक इर्शादुल हक की रिपोर्ट

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...