भला हो रेड क्रॉस की, दुःखी पत्रकार को मरहम लगाया

Share Button

सरायकेला (राजनामा.कॉम)। इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी सरायकेला- खरसावां की ओर से टीवी चैनल के पत्रकार चंद्रमणि वैद्य के पिता को दस हजार रुपये का चेक दिया गया।

गौरतलब है कि पिछले दिनों सरायकेला जिले के गम्हरिया प्रखंड कार्यालय के समीप अज्ञात बाइक सवार ने सड़क पार कर रहे पत्रकार के पिता को ठोकर मार दी थी, जिससे वे बुरी तरह से घायल हो गए थे।

उनके शरीर के कई हिस्सों में गंभीर चोटे आयीं थी। 20 दिनों तक उनका इलाज टाटा मुख्य अस्पताल में चलने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। फ़िलहाल वे घर पर ही स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं।

डॉक्टरों का कहना है कि अभी रिकवरी में समय लगेगा धीरे धीरे सुधार होगी। ऐसे में अस्पताल का खर्च दिनों दिन बढ़ता ही जायेगा। वहीं अस्पताल की सलाह मानकर पत्रकार चंद्रमणि अपने पिता को घर ले गए, जहां पूरा परिवार अपने स्तर से उनकी सेवा में जुटा है।

सबसे बड़ी बात यह है कि टाटा- कांड्रा मुख्य मार्ग जो कोल्हान का सबसे वयस्त सड़क है, जहां पुलिस- प्रशासन दावा करती है कि चप्पे- चप्पे पर सीसीटीवी लगे हैं… तो क्या वो सीसीटीवी कैमरे केवल मीडिया और अखबारों तक ही सीमित हैं ?

आखिर सरे शाम एक राहगीर को बाईक सवार धक्का मारकर फरार हो जाता है और लगभग 12 किमी सड़क के किसी भी सीसीटीवी कैमरे में बाइक सवार का फुटेज नहीं दिखा पुलिस को ? आज पत्रकार का पिता 26 दिनों से जिंदगी के साथ जंग लड़ रहे हैं, आखिर जिम्मेवार कौन है!

महज 10 हजार रुपए का सहयोग देकर आखिर क्या दिखाना चाहती है रेड क्रॉस और जिला प्रशासन ? क्या इस सहयोग राशि से पत्रकार के परिवार का आर्थिक बोझ कम हो जाएगा ?

जबकि अस्पताल का बिल छोड़ दिया जाए तो खर्च लाखों में होने का अनुमान है। मानसिक और शरीरिक परेशानी अलग। खैर भला हो रेड क्रॉस का कम से कम इस बहाने दुःखी पत्रकार को मरहम लगाने तो पहुंची।

Share Button

Relate Newss:

पूर्व मुखिया ने दो पत्रकार को स्कार्पियो से रौंद कर मार डाला
अब ईडी के रडार पर आए हिमाचल प्रदेश के सीएम वीरभद्र सिंह
झारखंड सूचना जन संपर्क विभाग में लूट का नया खेल
विलुप्त होती प्रजाति के पत्रकार थे विनोद मेहता !
कुख्यात टुल्लू सिंह ने फेसबुक पर जेल से डाली अंदर की तस्वीरें
उपयोगिता समाप्त हो जाने के बाद छापे गये विज्ञापन
2018 देवर्षि नारद पत्रकारिता सम्मान, श्री चंदन कुमार मिश्र के नाम
पीएम को विज्ञापन बनाने वाले जिओ पर महज 500 जुर्माना !
बिना IT Act ज्ञान के पत्रकार के खिलाफ धुर्वा थाना प्रभारी की चल रही यूं अनुसंधान !
रांची मेयर चुनाव में 29 हजार दबे NOTA, आशा लकड़ा विजयी
हिंदी पायनियर का हालः न नियुक्ति पत्र न सेलरी स्लिप!
सोशल मीडिया को लेकर यूं गंभीर हुये नालंदा के डीएम-एसपी
एक था ‘अखबारों की नगरी’ मुजफ्फरपुर का 'ठाकुर'
सरकारी पैसे से हो रही है निजी प्रचार
मोदी मुर्दाबाद और गो बैक मोदी के नारों के बीच भावुक हुए पीएम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...