बोले पीएम मोदी- विवेकपूर्ण और तार्किक ढंग से खबरें पेश करे मीडिया

Share Button

देश तेज गति से विकास की दिशा में आगे बढ़ रहा है, लेकिन कुछ समाज विरोधी समूहों को यह परिवर्तन हजम नहीं हो रहा है……”

राज़नामा डेस्क। पीएम नरेंद्र मोदी ने मीडिया संस्थानों से कहा है कि वे जनता के समक्ष विवेकपूर्ण और तार्किक ढंग से खबरें पेश करें। पीएम के अनुसार, समाचारों की विश्वसनीयता के लिए उनमें तथ्यों का होना बहुत जरूरी है।

उन्होंने चेन्नई में आयोजित तमिल की राजनीतिक और व्यंग्य पत्रिका ‘तुगलक’ के स्वर्ण जयंती कार्यक्रम को दिल्ली से विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये संबोधित किया।

इस दौरान मोदी ने कहा कि स्वच्छता अभियान और प्लास्टिक से फैल रहे प्रदूषण के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने में मीडिया ने बड़ी भूमिका निभाई है।

उन्होंने उम्मीद जताई कि मीडिया, राष्ट्र निर्माण की इस तरह की पहल को सपोर्ट करना जारी रखेगी।

उन्होंने यह भी कहा कि अनुच्छेद 370 और 35ए तथा तीन तलाक को समाप्त कर, आर्थिक रूप से कमजोरों के लिए दस प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था करने के साथ ही अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग की स्थापना और आयुष्मान भारत योजना लागू करके सरकार ने पुरानी समस्याओं के समाधान की पहल की है।

पीएम  का कहना था कि देश तेज गति से विकास की दिशा में आगे बढ़ रहा है, लेकिन कुछ समाज विरोधी समूहों को यह परिवर्तन हजम नहीं हो रहा है। ऐसे में विश्वसनीय तरीके से तथ्यों के साथ लोगों को खबरें उपलब्ध कराने की मीडिया की जिम्मेदारी काफी बढ़ जाती है।

इस मौके पर उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने चेन्नई में पत्रिका के कर्मियों को पुरस्कृत किया। उन्होंने कहा कि मीडिया संस्थानों को पत्रकारिता में नैतिकता बनाए रखनी चाहिए।

 किसी भी मामले में प्रश्न उठाते समय भी सकारात्मक रहने से लोकतांत्रिक प्रणाली को मजबूत करने में मदद मिलेगी।  लोगों की प्राथमिकता में सबसे पहले देश होना चाहिए, फिर पार्टी और सबसे आखिर में खुद को होना चाहिए।

उन्होंने ‘तुगलक’ मैगजीन के संस्थापक दिवंगत संपादक चो रामास्वामी का जिक्र करते हुए कहा कि उनकी कलम किसी डर अथवा दबाव के आगे नहीं झुकी और उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में एक मिसाल कायम की है।

Share Button

Relate Newss:

लुटेरे थैलीशाहों के लिए ‘अच्छे दिन’ ?
श्रीकांत प्रत्युष ने जी न्यूज़ से इस्तीफा दिया
मराठी समाचार पत्र लोकमत के दफ्तर पर मुस्लिमों का हमला, अखबार की प्रतियां जलाई 
'गोरा katora' नहीं हुजूर, लोग कहते हैं 'घोड़ा कटोरा'
पत्रकार ओम थानवी की मुलाकात में असहिष्णुता को लेकर चिंतित दिखे राष्ट्रपति
खबर लिखने से पहले सोचें कि समाज पर उसका क्या असर होगाः रघुवर दास
सावधान ! नई दिल्ली से हर तरफ फैला है पत्रकार बनाने का यह गोरखधंधा
बच्चों की जिंदगी से खिलवाड़ करता एनजीओ, मीड डे मील में मिला मेढक, छात्रों ने किया हंगामा
लालू के सामाजिक न्याय और नीतिश के विकास को मुंह चिढ़ा रहा है इनायतपुर
बर्खास्त रिपोर्टर को लेकर खामोश क्यों है पत्रकार संघ और परिषद
खुलासे के साथ भूमिगत हुआ ‘केसरी गैंग’ का रिंग मास्टर
प्रभात खबर ने छापी भ्रामक और आधारहीन समाचार
मोदी राज का पहला सालः 'टुकड़ों में अच्छा-टुकड़ों में खराब'
सीएम नीतीश के हरनौत में धरने पर बैठे पत्रकार और नकारा बने उनके चहेते नालंदा डीएम-एसपी
बदलाव की आंधी में उड़े या खुद को नहीं आंक पाये सुदेश ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...