बिहार महासंग्राम में मोदी का 53 तो सोनिया का 100 रहा चुनावी स्ट्राइक रेट

Share Button

बिहार विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद भी भाजपा हाईकमान को कुछ आंकड़ें हमेशा चुभते रहेंगे। 243 सीटों वाली विधानसभा में केवल 53 सीटों पर सिमटने के अलावा पार्टी के लिए ये आंकड़े किसी दुस्‍वप्‍न से कम नहीं है।

sonia-gandhi-narendra-modiदरअसल, कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैलियों के स्‍कोरकार्ड पर नजर दौड़ाएं तो दिलचस्‍प बातें सामने आती है। यहां सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को पीछे छोड़ दिया है।

सोनिया गांधी ने जिन 4 विधानसभा में रैलियां की, सभी में कांग्रेस ने जीत दर्ज की। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुल 26 सीटों पर रैलियां की, जिनमें से बीजेपी केवल 12 सीटें ही जीत पाई। ऐसे में सोनिया का स्‍ट्राइक रेट सौ फीसदी रहा, वहीं पीएम मोदी का 53 फीसदी रहा।

ये आंकड़े और दिलचस्‍प हो जाते हैं जब आप इन रैलियों और उसके असर पर गौर करते हैं. मसलन, पीएम ने हर रैली में आसपास के 5-6 एनडीए प्रत्‍याशी के पक्ष में जनता से वोट मांगा। इसके बावजूद, एनडीए को इसका कुछ खास फायदा नहीं मिला। विपक्ष पहले से ही आरोप लगाते रहा है कि मोदी की सभा में भीड़ प्रायोजित थी।

सोनिया गांधी ने 3 अक्‍टूबर को कहलगांव में पार्टी प्रत्‍याशी सदानंद सिंह और वजीरगंज में अवधेश सिंह के समर्थन में रैलियां की।

इन दोनों सीटों पर महागठबंधन ने जोरदार जीत दर्ज की। सोनिया ने 17 अक्‍टूबर को बक्‍सर और मांझी में चुनावी सभाएं की। बक्‍सर में संजय कुमार तिवारी और मांझी से विजय शंकर दुबे जीतने में सफल रहे।

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 26 रैलियों में करीब 130 एनडीए उम्‍मीदवारों के लिए वोट मांगा। हालांकि, एनडीए इनमें से 12 सीट- बांका, मुंगेर, बेगूसराय, नवादा, सासाराम, औरंगाबाद, जहानाबाद, मढ़ौरा, नालंदा, बक्‍सर, सीतामढ़ी, बेतिया, मधुबनी और मधेपुरा में हार गई।  

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.