बियर पीते और शराबबंदी को गरियाते नजर आए जदयू के पूर्व विधायाक

Share Button
Read Time:2 Minute, 2 Second

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भले ही बिहार में शराब पर प्रतिबंध लगा दिया है और अब पूरे देश में शराबबंदी की मांग कर रहे हैं, लेकिन उनकी ही पार्टी के एक पूर्व विधायक ने खुलेआम शराब पीकर कानून का मजाक उड़ाया है।

बियर पी रहे पूर्व विधायक का वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो गया है। इंटरनेट पर वायरल वीडियो में औरंगाबाद जिले के कुटुम्बा क्षेत्र के पूर्व विधायक ललन राम न केवल बोतल हाथ में लेकर बियर पी रहे हैं, बल्कि बातचीत के दौरान नीतीश कुमार की शराबबंदी के फैसले को भी फिजूल बता रहे हैं।

अब इस वीडियो के वायरल होने के बाद पूर्व विधायक इसे बदनाम करने की साजिश बता रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह वीडियो पुराना हो सकता है, जो फेरबदल के साथ चलाई जा रही होगी। पूर्व विधायक का शराब पीते वीडियो वायरल होने के बाद विपक्ष ने नीतीश कुमार पर हमला बोल दिया है।

 केन्द्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने बुधवार को कहा कि बिहार में सिर्फ शराबबंदी का प्रचार हो रहा है। शराब बंदी कानून पूरी तरह लागू नहीं हो पा रहा है।

यादव ने पटना में संवाददाताओं से कहा, “जब जद (यू) के लोग ही शराब पीते दिख रहे हैं तो इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि बिहार में किस तरह की शराबबंदी है।”

उन्होंने यहां तक कह दिया कि वह बता सकते हैं कि कहां-कहां शराब बिक रही है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

करोड़ो के पार्श्व नाथ की मूर्ति तोड़ने वाले दो अपराधी धराया
पंचायत चुनावः राजनाथ-मोदी के संसदीय क्षेत्र में बीजेपी की करारी हार
बहुमत साबित करने तक फैसले न लें मांझी : हाई कोर्ट
गुजरात में जेसीबी से कलेक्टर हटवा कहे हैं मरी गाएं
मधेपुरा जिले के बिहारीगंज में तनाव, नेट सेवा बंद, धारा 144 लागू
बहुत कठिन है सहिष्णु होना श्रीमान
तेजस्वी यादव ने फेसबुक पर लिखा- बिहार में है थू-शासन
...और राजगीर की मीडिया को यूं ऐड़ा बना पेड़ा खिला गया रोपवे प्रभारी
पिटाई से नहीं, व्यवस्था की नालायकी से हुई तबरेज की मौत
हम युवा पीढ़ी के बेहतर भविष्य के लिए मांग रहे हैं विशेष राज्य का दर्जा
Amitabh to endorse DD Kisan for free
मोदी के खिलाफ 77, समझें क्या है खेल ?
खो गए राजनीतिक ख़बरों के महारथी दीपक चौरसिया?
भोपाल मुठभेड़ की जांच से शिवराज सरकार का साफ इन्कार
केजरीवालः व्यवस्था बदलने की जिद में छोड़ी सत्ता
खुद के संदेश में फंसे झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष
कर्नाटक के सीएम ने कहा, मैं अब से खाऊंगा बीफ़
ब्लैक लिस्टेड 'राष्ट्रीया' ही नाम बदल कर रहा सीएम रघुवर की 'फ्रॉड ब्रांडिंग'
भारतीय मंदिर, जो कभी दिखता है तो कभी गायब हो जाता है
आभासी दौर और नारी अस्मिता की त्रासदी
नीतिश सरकारः मीडिया में महज चेहरा चमकाने पर फूंक डाले 500 करोड़
पत्रकार दंपति पर जानलेवा हमला, जिंदा जलाने का प्रयास, पत्नी की हालत गंभीर
पीएम मोदी के भ्रष्टाचार की मुहिम का हिस्सा बनना चाहा, हो गया बर्खास्तः तेज बहादूर
SBI बैंक के सुरक्षा गार्ड के वेतन का आधा से उपर पैसा यूं उड़ा रही CISS एजेंसी
सिर्फ प्रेस क्लब भवन कब्जाने के लिये चंद मठाधीश लोग चाहते हैं फर्जी संस्था का अवैध चुनाव !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...