बालू का खेल, जदयू विधायक कौशल यादव गए जेल

Share Button

yadav60 लाख के फर्जी चालान पर नवादा में 2 करोड़ 16 लाख के बालू उत्खनन ठेका मामले ने सोमवार को अपना रंग दिखा दिया।

नवादा जिले के गोविन्दपुर विधान सभा क्षेत्र से जदयू के दबंग विधायक कौशल यादव को अदालत के आदेश के बाद आज नवादा जेल भेज दिया गया। कौशल यादव की पत्नी पूर्णिमा यादव भी नवादा से जदयू विधायक हैं।

सूत्रों के अनुसार कौशल यादव एंड कंपनी ने 2005 में नवादा जिले के बालू घाटों का ठेका 2 करोड़ 16 लाख रुपए में लिया था। यह कंपनी बालू उत्खनन और उसे बेचने का काम तो करती रहीर खनन विभाग में रुपए जमा करने के असली चालान के बदले विभागकर्मियों की मिलीभगत से 60 लाख का फर्जी चालान जमा कर दिया।

वर्ष 2006 में जब खनन विभाग में जयप्रकाश सिंह नामक एक इमानदार अधिकारी आए तो उन्होंने इस मामले को पकड़ते हुए नवादा के तत्कालीन एसपी शालीन को पूरे मामले की जानकारी दी।

एसपी के आदेश से नगर थाना में विधायक कौशल यादव, विधान पार्षद सलमान रागीव सहित सात लोगों पर प्राथमिकी (208/06) दर्ज की गई। इस मामले में विधान पार्षद सहित कुछ आरोपित लंबे समय तक जेल में रहे जबकि कौशल यादव ने हाइकोर्ट से अपनी गिरफ्तारी का स्टे ले लिया था जिस स्टे आर्डर की मियाद पूरी हो गई थी।

कौशल यादव ने आज इस मामले में नवादा के सब जज-3 रंजीत प्रसाद की अदालत में सरेंडर किया जहां उनकी जमानत याचिका को अस्वीकार कर उन्हें जेल भेज दिया गया। सूत्र बताते हैं कि कौशल यादव द्वारा सरेंडर करने की वजह के भी राजनीतिक कारण हैं।

वह नवादा से जदयू के टिकट पर अगला लोकसभा चुनाव लड़ना चाह रहे हैं, जो उनके फरार रहने की स्थिति में संभव नहीं था। बताते चले कि इस मामले में एक आरोपित को सजा भी हो चुकी है।

……..पत्रकार विनायक विजेता अपने फेसबुक बाल पर

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...