बड़कागांव में रैयत-पुलिस भिड़ंत में 3 की मौत, दर्जनों घायलः परंपरागत हथियार ले सड़क पर उतरे लोग

Share Button
Read Time:2 Minute, 23 Second

हजारीबाग (संवाददाता)।  झारखंड में हजारीबाग के बड़कागांव में एनटीपीसी के खिलाफ कफन सत्याग्रह के दौरान पुलिस व रैय्यत (जमीन मालिकों) के बीच हिंसक संघर्ष हो गया। इस झड़प में तीन लोगों की जहां मौत हो गई, वहीं कई ग्रामीण और एएसपी समेत कई पुलिस जवान घायल हो गए।

क्या है मामला?

पूरा मामला एनटीपीसी के खनन कार्य से जुड़ा है। स्थानीय रैय्यत जमीन के मुआवजा को लेकर 15 सितंबर से हजारीबाग के बड़कागांव में कफन सत्याग्रह आन्दोलन पर हैं।

शनिवार सुबह करीब साढ़े चार बजे सत्याग्रह पर बैठी विधायक निर्मला देवी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। रैय्यतों को जब इसकी जानकारी मिली तो वे आक्रोशित हो गए। ढाढ़ी गांव के पास पुलिस को घेर लिया।

विधायक को छुड़ा ले गए ग्रामीण

पुलिस और रैय्यतों के बीच हिंसक झड़प हुई जिसमें सात पुलिस कर्मी घायल हुए। एसपी कुलदीप भी घायल हुए। इसके बाद पुलिस ने ग्रामीणों पर गोली चलाई जिसमें तीन ग्रामीणों की मौत की खबर है।

प्रशासन की तरफ से दो की मौत की पुष्टि हुई है। एसपी भीमसेन टूटी ने बताया कि  झड़प के बाद बाद ग्रामीण पुलिस वैन से छुड़ा कर विधायक को साथ ले गए। घायलों का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है।

 ताजा हालात तनावपूर्णpublic-on-road

बड़कागाँव में ग्रामीणों ने गोली कांड की घटना के विरोध में लाठी ,तलवार ,फरसा लेकर उतरे सड़क पर। हालात तनावपूर्ण बानी हुई है, । फ़िलहाल बड़कागाँव चौक पर करीब 400 की संख्या में ग्रामीण शव को लेकर बैठे है। अभी परिस्थिति यह है कि पुलिस आस -पास दिखाई नही दे रही है ।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

राजनीतिक संयम दिखाए अब सरकार
देश में जल्द शुरु होगी ई-वारंटी :रामविलास पासवान
सीबीआई की सभी कार्रवाई असंवैधानिकः गुवाहाटी हाईकोर्ट
झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने की फर्जी प्रेस वाहनों पर कार्रवाई की मांग
विनय हत्याकांड में आया नया मोड़, शक के घेरे में अब लेडी टीचर !
भारतीय राजनीति में वंशवाद के टॉप10 नये पौध
भू अधिग्रहण कानून बदलना चाहती है भाजपाः सोनिया गांधी
बिहार में निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता की आवश्यकता : मंत्री प्रेम कुमार
मोदी की हिदायत के बाबजूद बेलगाम है साक्षी महाराज !
कोबरा पोस्ट स्टिंग से खुद की लाज बचाने में जुटे नामचीन मीडिया हाउस
सिद्धू ने हमारे साथ बड़ा धोखा किया :स्टार इंडिया
एण्ड्रॉयड/स्मार्ट फोन या ‘बेगिंग बाउल’ 
चाहता तो मैं प्रधानमंत्री होता !
बीबी के गहने और अपनी जमीनें पाने के लिए मंत्री बनेगें नवीन!
दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाले में गिरफ्तार हो सकते हैं शशि शेखर समेत शोभना भरतिया
केजरीवाल की 'राज' पर कांग्रेस की 'नीति'
टाडा के भगौड़ा पत्रकार सुरेंद्र सिंह का 21 साल बाद सरेंडर
नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार से कुछ सवाल
सियासी प्याले में ओबामा-मोदी का कूटनीतिक धमाल !
'इस महापाप में न्यायपालिका, विधायिका, कार्यपालिका, मीडिया,एनजीओ सब शरीक'
मीडिया के विरुद्ध पब्लिक ट्रायल की जरुरतः केजरीवाल
एनयूजेआई के झारखंड अध्यक्ष बने बलदेव शर्मा
बिहार का 'डीएनए' ही ऐसा है कि विश्व नेता को जिला नेता भी न रहने दिया
जब लाइव डिबेट में अर्णब के सामने आशुतोष हुए शर्मसार !
यह है पीएम मोदी को 55 करोड़ रिश्वत देने की संपूर्ण कथा !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...