फैक्स पर निकाल जाता था स्विस बैंक से पैसा

Share Button

dabur

 

 

 

 

 

 

 

एक न्‍यूज चैनल ने स्विस बैंक में अकाउंट को लेकर डाबर समूह के पूर्व निदेशक प्रदीप बर्मन के खिलाफ कई खुलासे किए हैं।

चैनल का कहना है कि बर्मन के स्विस बैंक अकाउंट में 18 करोड़ रुपए हैं और उन्‍होंने अपने खाते की जानकारी इनकम टैक्स से छिपाई थी।

यह भी पता चला है कि बिना स्विट्जरलैंड गए प्रदीप बर्मन का खाता खुल गया था। बर्मन का खाता सिर्फ एक फैक्स औऱ फोन कॉल से ऑपरेट होता था। चैनल ने बर्मन का स्विस बैंक अकाउंट नंबर भी जारी किया।

गौरतलब है कि सरकार ने 27 अक्‍टूबर को सुप्रीम कोर्ट में तीन कारोबारियों के नाम बताए थे जिनमें प्रदीप बर्मन भी शामिल थे।

बर्मन ने छिपाई थी जानकारी

प्रदीप बर्मन के खिलाफ आयकर विभाग ने जो आरोप पत्र तैयार किया है उसमें ये सारी बातें कही गई हैं।

दस्तावेजों के मुताबिक, बर्मन ने 2005-06 की अपनी आय मात्र 66 लाख 34 हजार तीन सौ चालीस रुपए बताई थी और आयकर विभाग को दी जानकारी में उन्‍होंने यह नहीं बताया था कि किसी विदेशी बैंक में उनका खाता है।

बिना गए खुला खाता

बर्मन ने आयकर विभाग की पूछताछ में कहा कि एक आदमी जो ख्वाजा (अभी तक यह पता नहीं चला पाया है कि यह शख्‍स कौन है) को जानता था, वह एचएसबीसी बैंक ज्यूरिख का फॉर्म लेकर दुबई आया था और उन्‍होंने दुबई में ही इस फॉर्म को भरकर पहचान के तौर पर अपना फोटो और इंडियन पासपोर्ट लगाया था।

फैक्‍स से निकल जाता था पैसा

यह भी पता चला है कि खाते से पैसा निकालने के लिए बर्मन को कभी ज्यूरिख जाने की जरूरत नहीं पड़ती थी।

बर्मन के मुताबिक, उन्‍होंने बैंक को ये निर्देश दिए हुए थे कि जब भी उन्‍हें पैसा जमा कराना होगा या निकालना होगा तो वह बैंक को एक फैक्स कर देंगे।

फैक्स पहुंचने के बाद बर्मन के पास एक फोन आता था जिससे इस बात की पुष्टि की जाती थी कि पैसे वही निकाल रहे हैं।

उसके बाद उन्‍हें बता दिया जाता था कि वह किस बैंक से पैसे ले सकते हैं।

जब आयकर अधिकारियो ने बर्मन से पूछा कि वह किस नंबर पर फैक्स करते थे तो उन्‍होंने कहा कि अब उन्‍हें याद नहीं है। 

Share Button

Relate Newss:

दैनिक हिन्दुस्तान में एसपी-डीएसपी के तबादले की 'फेक खबर' से नालंदा में सनसनी
The Telegraph ने राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री-गृहमंत्री की तस्वीर लगा यूं छापी लीडः We the idiots
सावधान ! नई दिल्ली से हर तरफ फैला है पत्रकार बनाने का यह गोरखधंधा
पुलिस-प्रशासन ने दी केस की धमकी, फिर भी चालू न हो सका राजगीर का रज्जू मार्ग
बीपीओ की एक तमाचा ने खोल दी मनरेगा की पोल !
डोमिसाइल के बिना न हो नियुक्ति का खेलः मरांडी
आस्ट्रेलिया में 30 नवंबर से खुलेगा सबसे बड़े दुर्गा मंदिर का पट
मैं शहीद पापा बेटी हूं, पर आपके शहीद की बेटी नहीं : गुरमेहर
पत्रकार बलबीर दत्त और कलाकार मुकुंद नायक को पद्मश्री सम्मान
महज 500 से रिस्क फ्री लाखों का धंधा करना हो तो दरभंगा में खोल लीजिये लोकल चैनल!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...