फेसबुक से लोग चुन-चुन कर हटा रहे इस ‘लेडी ब्रजेश ठाकुर’ की तस्वीरें

Share Button

ब्रजेश ठाकुर ने पत्रकारिता को ढाल बनाकर करोड़ों की विरासत खड़ी की तो मनीषा दयाल ने पति को छोड़ने के बाद जीवन के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पत्रकार (एक न्यूज एजेंसी के ब्यूरो हेड) का हाथ थाम लिया। मनीषा विपक्षी दल राजद के कद्दावर नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी की पत्नी नूतन सिन्हा की मौसेरी बहन है।….”

राजनामा.कॉम। ‘लेडी ब्रजेश ठाकुर’ और ‘मौत का आसरा गृह’ की संचालिका मनीषा दयाल की गिरफ्तारी के बाद उनसे जुड़े बड़े लोग सोमवार की सुबह से अपने सोशल मीडिया एकाउंट को साफ-सुथरा करने में लग गए हैं।

ब्रजेश ठाकुर से मनीषा की तुलना करना गलत नहीं होगा, क्योंकि दोनों का चरित्र और कार्य कलाप बिल्कुल एक जैसा है। ब्रजेश ने पत्रकारिता को ढाल बनाकर करोड़ों की विरासत खड़ी की तो मनीषा ने पति को छोड़ने के बाद जीवन के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पत्रकार (एक न्यूज एजेंसी के ब्यूरो हेड) का हाथ थाम लिया।

शायद मनीषा दयाल जानती थी कि पत्रकार ही एक ऐसी हस्ती है जो उसकी पहचान उनलोगों से करवा सकता है, जिनके साथ नाम जोड़ कर “नाम” और “दाम” दोनों की प्राप्ति होती है। हालांकि मनीषा ने पत्रकार बंधु के साथ भी ज्यादा वफादारी नहीं निभाई।

दाहिना हाथ से पत्रकार और बाएं हाथ से चिरंतन को पकड़ लिया। चिरंतन AVN स्कूल के मालिक का बेटा है। काफी अमीर है। मनीषा के दोनों हाथ अब भर गए थे। एक हाथ में पहुंच और पैरवी थी तो दूसरे में पैसा।

मनीषा दयाल की खासमखास एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी की पत्नी सुबह से इतनी भयभीत हैं कि अपने फेसबुक एकाउंट से चुन-चुन कर मनीषा की एक एक तस्वीर को हटा रही हैं।

जब आसरा होम्स पटना की संचालिका मनीषा दयाल और उसका सहयोगी चिरंतन भी हिरासत में है तो ऐसे में मनीषा का फेसबुक अकाउंट डीएक्टिवेट कैसे हुआ ? कल देर रात तक मनीषा का अकाउंट एक्टिवेटेड था और आज सुबह से अचानक निष्क्रिय हो गया।

हैरान करने वाली बात है कि क्या ब्रजेश ठाकुर की ही तरह पुलिस हिरासत में भी मनीषा के पास तमाम संचार सुविधाएं उपलब्ध हैं ?

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.