फेसबुक के बजाय जमीन पर काम करें मोदी : अखिलेश

Share Button

यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सलाह दी है कि उन्हें फेसबुक के बजाए जमीनी स्तर पर ज्यादा काम करना चाहिए।

akhilesh_cm_upएक निजी टीवी चैनल के शो में अखिलेश ने कहा कि पीएम को अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और सहयोगी दलों को ज्यादा प्रोग्रेसिव होने की सलाह देनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि फेसबुक पर कम बातें हो और जमीन पर काम ज्यादा।

दादरी कांड को लेकर बीजेपी पर हमला करते हुए अखिलेश ने कहा कि अखलाक की मौत के मामले में गिरफ्तार किए गए सात लोग ऐसे हैं, जिनका स्थानीय बीजेपी  नेताओं के साथ कनेक्शन है। इस मामले में बीजेपी के कई नेताओं ने असंवेदनशील बयान भी दिए थे।

अखिलेश ने कहा कि वे व्यक्तिगत रूप से बीफ खाने के खिलाफ हैं, लेकिन दुनियाभर में लोग इसे खाते हैं। क्या उन्हें अपनी इंडस्ट्रीज बंद कर देनी चाहिए।

अखिलेश ने कहा कि दादरी मामले में अंतर्राष्ट्रीय मीडिया में जो भी छपा है, उसे देखकर बीजेपी और पीएम को बेहद शर्मिंदगी होगी।

गौरतलब है कि दादरी कांड पर बुधवार को पहली बार प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि वे इस घटना से बेहद द़ुखी हैं।

उन्होंने कहा था कानून व्यवस्था राज्य सरकार की जिम्मेदारी होती है, इसमें केंद्र सरकार को घसीटना सही नहीं है।

Share Button

Relate Newss:

भाजपा के नये मुसीबत बने उपेंद्र कुशवाहा !
पीएम मोदी को बोलने की तमीज सीखना चाहियेः राहुल गांधी
‘दिल्ली वर्किंग जनर्लिस्ट एक्ट’ को महामहिम की मंजूरी
एसपी-डीएम साहेब, राजगीर थाना प्रभारी की गुंडागर्दी यूं चालू आहे
‘महापाप’ की रिपोर्टिंग से रोक हटाएं मी लार्ड :एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया
यूं 'लेफ्ट' होना समस्या का हल नहीं है नालंदा के डीएम साहेब
जागरण.कॉम के संपादक शेखर त्रिपाठी को मिली जमानत
बाबूलाल मरांडी  ने खुद खोल ली अपनी राजनीति की कलई !
हिलसा के एसडीओ अजीत कुमार सिंह ने न्याय को यूं नंगा कर दिया
बीपीओ की एक तमाचा ने खोल दी मनरेगा की पोल !
हमारे पत्रकार संगठन का हर विवाद अंदरुनी मामलाः IFWJ अध्यक्ष
ऑनलाइन फ्रॉड का फैलता नया मायाजाल
रिपोर्टर आरजू बख्स को इजलास नोटिश से नालंदा पुलिस का उभरा विकृत चेहरा
आदिवासी इलाकों में पंचायत चुनाव नहीं होने देंगे स्वामी अग्निवेश
मोदी सरकार की नई विज्ञापन नीति को लेकर जंतर-मंतर पर धरना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...