प्रभात खबर के खिलाफ बैनर पोस्टर लेकर सड़क पर उतरे  शिक्षक

Share Button

प्रभात खबरअब शिक्षक भी मीडिया की दबंगई से आजिज आकर सड़क पर उतरने लगे हैं। सोमवार को कुछ ऐसा ही दृश्य बिहार के मोतिहारी की सडकों पर देखने को मिला। ‘शिक्षक दलाल कैसे?

 प्रभात खबर बताये’ जैसे स्लोगन लिखे स्टीकर व पोस्टर लगाये गाड़ियों पर जब हुजूम में शिक्षक सड़क पर उतरे तो खबर लिखने वाले पत्रकार अपनी औकात पर आ गए।

फोन पर मनाने का सारा प्रयास विफल होने के बाद प्रभारी सहित प्रभात खबर की टीम ने शिक्षकों के बैठक स्थल के बगल में जिला परिषद परिसर में शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल से बातचीत कर मामले को रफादफा करने की कोशिश की।

प्रभात खबर लगातार कोचिंग के विरुद्ध श्रृंखला में खबर छापकर शिक्षकों पर दबाव बना रहा था। इसके खिलाफ जब शिक्षकों की गोलबंदी तेज हुई तो स्थानीय प्रभारी सच्चिदानंद सत्यार्थी सहित संवाददाता अमृतेश व छायाकार सुजीत पाठक के पांवों तले की जमीन खिसक गई।

रविवार से लेकर सोमवार की सुबह तक जब इधर-उधर की पैरवी से बात नहीं बनी और शिक्षक आन्दोलन पर उतारू हुए तो शिक्षक शरणम् गच्छामि हो गए।

कोचिंग संचालकों का कहना है कि कुछ छपास नेताओ का बयान छापकर वे हमारा भयादोहन करते हैं। किसी खबर में किसी शिक्षक का पक्ष नहीं लिया गया है।

जहाँ तक निबंधन की बात है तो राजधानी पटना में भी एक भी कोचिंग निबंधित नहीं है।

ऐसे में शिक्षा के क्षेत्र में इस पिछड़े व गरीब इलाके में कोचिंग निबंधित होंगे तो इसका अधिभार छात्रों पर ही पड़ेगा। साथ ही महँगी शिक्षा होने से गरीब छात्र शिक्षा से वंचित होंगे।

Share Button

Relate Newss:

RTI के तहत काम करेगी स्वराज इंडिया, पंजाब में लड़ेगी चुनाव
पत्रिका खोल रही पोलः भास्कर ने खाया 765 करोड़ का कोयला
अपने ही मुल्क में दफ्न होती ज़िंदगियां ! और कितनी शहादत ?
धनखड के लिये भड़ुवागिरी करेगें मोदी !
बंद हो आरोपियों की मीडिया ट्रायलः चीफ जस्टिस
रुला जाती है इस रिकार्डधारी राजेन्द्र कुमार साहु की संघर्ष कहानी
लालू के दावत-ए-इफ्तार में रुबरु हुये नीतीश-मांझी
भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक के खिलाफ उपवास पर बैठे नीतिश
आरोप राजगीर JDU MLA का और शीर्षक बन गये हिलसा RJD MLA
खबर का असरः नालंदा के रामघाट बाजार में 4 चौकीदारों की लगी ड्यूटी
पत्रकार उत्पीड़न को लेकर ग्रामीण हुए गोलबंद, DIG से करेगें SP की कंप्लेन
डीएसपी के झांसे में नहीं आए पत्रकार, आमरण अनशन जारी
'द इकोनॉमिस्ट' ने लिखा- 'वन मैन बैंड' हैं मोदी !
एक बड़े फर्जीबाड़े की उपज है रांची प्रेस क्लब या द रांची प्रेस क्लब !
हजारीबाग कोर्ट में गैंगवार, झारखंड में जंगल राज !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...