पुलिस तंत्र के खौफ की कहानी है ‘द ब्लड स्ट्रीट’

Share Button

राजनामा.कॉम।  पंजाबी फिल्म ”द ब्लड स्ट्रीट” के निदेशक दर्शन दरवेश के कुशल लेखन व निर्देशन में बनी यह फिल्म 1 मई को विश्वस्तर पर रिलीज होने जा रही है और रिलीज होने से पूर्व ही इस फिल्म को 56 इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के लिए स्वीकृत हो चुकी है।

the blood streetइसी फिल्म प्रमोशन के सिलसिले में फिल्म की स्टार कास्ट सिरसा पहुंची और सतलुज पब्लिक स्कूल व दून इंटरनैशनल वैली स्कूल में फिल्म प्रमोशन करने के बाद एक निजी होटल में पत्रकारों से रूबरू हुई।

फिल्म प्रमोशन के दौरान स्टार कास्ट को दर्शकों ने अपनी सिरआँखें पर बैठाया। इस स्टार कास्ट में नायक सोनप्रीत जवन्धा, नायिका बिन्नी सिंह, नायक कर्मजीत बराड, सरदार सोही, महावीर भुल्लर, जसवीर सिंह बोपाराय, कुल सिधु, गुरमीत बराड़, कुलू पनेसर, सतविंद्र कौर, के एन एस सेखो, हरजीत भुल्लर, रुपन खगूंडा, दमन ढिल्लो, सेमी मानसा, नरेन्द्र ढिल्लों, कर्ण भीखी, सतीश ठुकराल, कुलवंत खटडा, दर्शन बाबा, सुखविंदर राज, जस लोगोंवाल, अभीजीत जटाना, नगिंद्र गक्खड, इन्द्रजीत सुजापुर, परमिन्द्र गिल, चरणजीत संधू, संत बलजीत सिंह दादूवाल इत्यादि मौजूद थे।

निजी होटल में पत्रकारों से रूबरू होते हुए स्टार कास्ट ने कहा कि ”द ब्लड स्ट्रीट” में अल्पसंख्यक लोगों की भावनाएं दिखाई गई है, क्योंकि पंजाब में आंतकवाद दौरान कई परिवारों के साथ ज्यादती हुई और उन्हें न्याय नहीं मिला का चित्र दिखाया गया है, जिन्होंने अपने ही देश में संताप झेला है।

फिल्म में एक ऐसी मां की तस्वीर भी दर्शाई गई है, जो अपना सब कुछ खोकर भी जिंदा है, परंतु किसी आंतक दौर से चल रही उसके भीतर की मां किसी को नजर नहीं आती। आत्याचार के शिकार अपना अधिकार प्राप्त करने के लिए जब प्रयास करते हैं तो उन्हें आतंकवादी, नशेडी, भगोडा, चोर जैसे विशेषण दिए जाते हैं।

इस प्रकार रोंगटे खड़े करने वाली इस फिल्म की पटकथा और संवाद लेखक दर्शन दरवेश के हैं, जिन्हें एक फिल्म के प्रोजेक्ट को व्यापार के साथ साथ सेवा के रूप में अपना योगदान निर्माता जसबीर सिंह बोपाराय हैं।

बोपाराय की यह फिल्म ”हरजी मूवीज इंटरनेशनल” के बैनर तले पंजाब के विभिन्न विभिन्न गांवो में शूटिंग करके तैयार की गई हैं। ”द ब्लड स्ट्रीट” की विशेषता यह हैं कि इसमें पंजाब के साधारण लोगो की समस्याओ और जिन्दगी को बेहतर ढंग से दिखाते हुए उन्हें इन समस्याओ से जूझने व निपटने की तस्वीर दिखाई गई हैं।

”द ब्लड स्ट्रीट” पुलिस तंत्र के खौफ की कहानी है, जिन्होंने आंतकवाद के दौर में लोगो का आर्थिक शोषण के साथ बेगुनाह लोगो को मौत के घाट उतार दिया गया।

दर्शन दरवेश की फिल्म ”वत्तर” को राजस्थान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में बेस्ट फिल्म का अवार्ड मिल चुका हैं और उन्होंने अब ”द ब्लड स्ट्रीट” फिल्म मे ज्यादा से ज्यादा कलाकारों को फि़ल्मी पर्दे पर लाकर उनकी कला प्रतिभा का उत्साह बढ़ा रहे हैं जिसकी पुष्टि पंजाबी टीवी में क्रमश: ”दाने अनार” के रूप सीरियल करता हैं। स्टार कास्ट के साथ सहायक निदेशक देवेंद्र पंवार भी मौजूद थे।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...