पीएम मोदी ने लाल किले की प्राचीर से अपने भाषण की ये प्रमुख बातें

Share Button

नई दिल्ली। भारत देश के  70वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित किया. ये हैं उनके भाषण की  प्रमुख बातें- 

– ग्राम प्रधान हो या प्रधानमंत्री, सुराज के लिए सभी को अपनी जिम्मेदारियों को निभाना होगा. ये सच है कि देश के सामने समस्याएं अधिक हैं लेकिन ये हमें ये भी नहीं भूलना चाहिए कि देश के पास सामर्थ्य भी है. हमारे पास समस्याएं हैं तो 125 करोड़ मस्तिष्क भी है. एक समय था जब सरकार आक्षेपों से घिरी रहती थी लेकिन हम अपेक्षाओं से घिरे है.

– पहले की सरकार में मुद्रास्फीति 10% के पार चला गया था, हमने 6% से ऊपर जाने नहीं दिया. दो साल देश में अकाल रहा. सब्जियों के दाम पर असर दिखा, दाल का उत्पादन गिरा, महंगाई बढ़ी. हमने महंगाई को रोकने का भरपूर प्रयास किया है और करता रहूंगा. आपकी थाली को महंगी नहीं होने दूंगा.

– रिस्पॉन्सिबिलिटी और एकाउंटिबिलिटी सुशासन की जड़ में होने चाहिए. आज एम्स में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और तारीख दी जाती है, उसकी रिपेार्ट भी ऑनलाइन मिलती है. सरकार के 40 से ज्यादा बड़े अस्पतालों में ये सुविधा चल रही है. एक समय था जब रेल टिकट, 1 मिनट में 2000 टिकट मिलते थे, आज 1 मिनट में 15000 रेल टिकट मिलना संभव हो गया है. यही रिस्पॉसिबल गवर्नमेंट है.

– पहले कंपनियों को कारखाना खोलने के लिए 6 महीने चक्कर काटने पड़ते थे, अब 24 घंटे में ये सरकार रजिस्ट्रेशन कर रही है. सुराज के लिए सुशासन भी जरूरी है.  पिछले साल हमने ग्रुप सी और डी की जॉब के लिए इंटरव्यू खत्म कर दिया.

– हर ग्रामीण चाहता है कि उसके गांव तक पक्की सड़क आए, हमने उसको गति देने का काम किया है. पहले 75 किलोमीटर सड़क प्रतिदिन के हिसाब से बनती थी हमने 100 किलोमीटर की सड़क प्रतिदिन बनाने का काम शुरू कर दिया है. पिछले एक साल में सोलर एनर्जी में 40% की वृद्धि  हुई है. हमारी सरकार बनने के पहले एक साल में 35 किलोमीटर ट्रांसमिशन लाइन बिछाई जाती थी, पर हमने पिछले दो साल में 50000 किलोमीटर की लाइन बिछाई है. पिछले दो साल में 3500 किलोमीटर तक के रेल लाइनें बिछाई गई है. 70 करोड़ लोगों को आधार कार्ड से जोड़ दिया गया है.  60 साल में 14 करोड़ रसोई गैस कनेक्शन मिले थे, हमने 60 हफ्ते में 4 करोड़ को रसोई गैस दी है.

– प्रधानमंत्री जन-धन योजना से हमने 21 करोड़ नागरिकों को जोड़कर असंभव को संभव कर दिखाया है. हिन्दुस्तान के गांवों में खुले में शौच बंद होने चाहिए. आज मैं कह सकता हूं कि डेढ़ करोड़ शौचालय गांवों में बनाए जा चुके हैं. 18000 गांवों में से 10 हजार गांवों में बिजली पहुंच गई है. कई गांव ऐसे हैं जहां आज आजादी के इस जश्न को लोग टीवी पर देख रहे हैं.
दिल्ली से 3 घंटे की दूरी पर हाथरस इलाके में एक गांव है नगला फटेला, लेकिन वहां बिजली को पहुंचने में 70 साल लग गए. एलईडी बल्ब 350 रुपये में आता था आज 50 रुपये में बेच रहे हैं, 13 करोड़ बल्ब आज पूरे देश में बांटे गए हैं. 77 करोड़ बल्ब बांटने का संकल्प है. मैं देशवासियों से अपील करता हूं कि आप अपने घर में एलईडी बल्ब लगाइए. देश के सवा सौ करोड़ रुपये को बचाया जाने का लक्ष्य है.

– गुरु गोविंद सिंह जी की 350वीं जयंती मना रहे हैं। किसान भाइयों ने दो साल के अकाल के बावजूद देश के अनाज भंडार को भरने के लिए जो अथक प्रयास किया उसके लिए धन्यवाद देता हूं. उनका अभिनंदन करना चाहता हूं। अत्यधिक वर्षा से पीडितों को सरकार जरूर मदद करेगी. दाल की बुआई डेढ़ गुना हो गई है. किसानों के लिए हमने जल प्रबंधन पर बल दिया है. माइक्रो इरीगेशन पर हम ध्यान दे रहे हैं. हमने किसान की लागत कम करने के लिए सोलर पंप की दिशा में काम शुरू किया है. ताकि उनका खर्चा कर पड़े. अबतक 77 हजार सोलर पंप बांटे गए हैं। अच्छे बीज के लिए हमारे देश के वैज्ञानिकों ने 131 से ज्यादा कृषि बीज तैयार किये हैं. मैं इन वैज्ञानिकों को बधाई देता हूं. हमने खाद की कमी को दूर कर दिया है.  हमने फसल बीमा योजना बनाई. 15 लाख टन अजान भंडारण की दिशा में काम किया है.

– पहले की सरकारों ने अपनी पहचान बनाने के लिए बहुत कुछ किया, ऐसी ही परंपरा रही. लेकिन हमने टोटल ट्रांसपिरेंसी की दिशा में काम किया. हम चाहते हैं कि सरकार की पहचान, दल की पहचान बने या न बने, देश की पहचान बनाने की दिशा में काम किया है. साढ़े सात लाख करोड़ के प्रोजेक्ट जो लटके पड़े थे, हमने उसे भी पूरा कराने की दिशा में काम किया है. 270 प्रोजेक्ट जो अटके थे हमने उसे पूरा कराया.

– यूपी में हर साल गन्ना किसानों के बकाया की खबर दिखती थी, हमने 99.95% पुराना बकाया चुकता कर दिया है. इस बार जो गन्ना बेचा गया उसका भी अबतक 95% दाम चुका दिया गया है. जो बचा है वो भी जल्दी चुका दिया जाएगा. हमने पोस्ट ऑफिस को पेमेंट बैंक बनाने की दिशा में काम शुरू कर दिया है. गांव-गांव तक पोस्ट ऑफिसों में बैंक खुद जाएगा.

– आज विश्व एक दूसरे देश से जुड़ा हुआ है. हमें वैश्विक इकॉनोमी पर ध्यान देना होगा. दुनिया की सभी संस्थाओं ने भारत को सराहा है. विदेशी निवेश के मामले में हमारा देश आज दुनिया में सबसे पसंदीदा देश बन गया है. यूनाइटेड नेशन की एक संस्था ने अनुमान लगाया है कि जो भारत आज अर्थव्यवस्था के मामले में 10वें नंबर पर खड़ा है वह दो साल में तीसरे नंबर पर आ जाएगा. वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने कहा कि पहले से भारत 19 अंक ऊपर बढ़ गया है.

– बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के लिए हमने जो प्रयास किये हैं उसके लिए देश के हर मां बाप को सजग होने की जरूरत है. हमने महिलाओं को गरीबी से लड़ने के लिए सशक्त बनाने की दिशा में काम करना शुरू किया है. मैटरनिटी के लिए छुट्टी 26 हफ्ते कर दिया है.

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...