पत्रकार सोमारू नाग बाइज्ज़त बरी, सवालों के घेरे में बस्तर पुलिस

Share Button

बस्तर। छत्तीसगढ़ में माओवादी होने के आरोप में गिरफ्तार किए गए बस्तर के पत्रकार सोमारू नाग को अदालत ने दोषमुक्त करार देते हुए उन्हें बाइज्जत बरी कर दिया है. गुरुवार को आए इस फ़ैसले ने बस्तर पुलिस के कामकाज पर सवाल खड़े कर दिए हैं.

पत्रकार सोमारू नाग को पिछले साल 16 जुलाई को बस्तर के दरभा इलाके से गिरफ़्तार किया गया था.

पुलिस ने उन पर माओवादियों के साथ हिंसक गतिविधियों में भाग लेने का आरोप लगाया था. इसके बाद से ही वे जेल में थे.

नाग के वकील अरविंद चौधरी ने कहा-“पुलिस ने जितने भी झूठे आरोप लगाये थे, उनके पक्ष में कोई भी सबूत अदालत में पेश कर पाने में पुलिस असफल रही.”

सोमारू नाग के साथ गिरफ़्तार किए गए रामलाल और दसमन नामक दो ग्रामीणों को भी अदालत ने रिहा करने के आदेश दिए.

बस्तर में पत्रकारों की गिरफ़्तारी का मुद्दा पिछले साल भर से राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा का विषय बना रहा है.

सबसे पहले बस्तर पुलिस ने 16 जुलाई को दरभा इलाके से पत्रकार सोमारू नाग को माओवादी सहयोगी बता कर गिरफ़्तार किया था.

नाग की गिरफ्तारी पर शुरू हुआ विवाद थमा भी नहीं था कि 29 सितंबर को दरभा इलाके से ही पत्रकार संतोष यादव को पुलिस ने माओवादी मुठभेड़ में शामिल होने का आरोप लगा कर गिरफ्तार कर लिया.

इसके बाद अपने खिलाफ़ छपने वाली खबरों से नाराज पुलिस ने पत्रकार दीपक जायसवाल और पत्रकार प्रभात सिंह को भी कुछ पुराने मामलों का हवाला दे कर जेल भेज दिया गया.

पत्रकार दीपक और प्रभात सिंह को पखवाड़े भर पहले अदालत ने जमानत पर रिहा कर दिया, वहीं सोमारू नाग के मामले में अदालत ने पूरी सुनवाई के बाद नाग को बाइज्जत बरी करने का आदेश दे दिया.

सोमारू नाग की बाइज्जत रिहाई के बाद विपक्षी दल कांग्रेस ने भी सरकार पर निशाना साधा है. छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता शैलेष नितिन त्रिवेदी ने कहा कि बस्तर में हालात ख़राब हैं.

उन्होंने कहा-“ये रिहाई इस बात का जीता-जागता सबूत है कि बस्तर में पत्रकारों को पुलिस और प्रशासन की प्रताड़ना का शिकार होना पड़ रहा है.“  (बीबीसी)

Share Button

Relate Newss:

अंततः जाकिर नाइक ने की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से प्रेस कॉन्फ्रेंस
मीडिया को अपने चश्मे का रंग बदलना होगा
यशोदाबेन को लेकर कितने बेदर्द हैं मोदी!
नालंदा एसपी के कथनी और करनी में फर्क, हर तरफ चोरों की है बहार
समाचार प्लस चैनल के Ceo_Cheif Editor ने प्रेस कांफ्रेस कर सत्ता को दी यूं खुली चुनौती
राजेन्द्र जैसे प्रेरक युवाओं को सरकारी प्रोत्साहन की जरुरत
गोड़ा पुलिस की वाहन चेकिंग से डीटीओ अनजान !
आरएसएस,जनसंघ और भाजपा को खून-पसीने से सींचा, आज सुध लेने वाला कोई नहीं !
राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि को अतिक्रमण मुक्त करने के आदेश से दौड़ी खुशी की लहर
मलमास मेला नामक ‘मोबाईल एप्प’ से यूं प्रमोट हो रहे भू-माफिया अतिक्रमणकारी
मुंगेर के 'जांबाजों' और 'हिन्दुस्तान' की अब लड़ाई दिल्ली में, आपके सहयोग की आस
लालू के सामाजिक न्याय और नीतिश के विकास को मुंह चिढ़ा रहा है इनायतपुर
खबर ब्रेकिंग की होड़ में न्यूज चैनलों की मूर्खता देखिये, लालू को यूं बता दिया बरी
'धूर्त्तपुरुष' की राह पर 'युगपुरुष' ?
अंततः अरविंद केजरीवाल को मिली सुगर-खांसी से मुक्ति !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...