पत्रकार बलबीर दत्त और कलाकार मुकुंद नायक को पद्मश्री सम्मान

Share Button
Read Time:2 Minute, 13 Second

रांची। वरिष्ठ पत्रकार बलबीर दत्त और अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त खोरठा गायक मुकुंद नायक को पद्मश्री से सम्मानित किया गया है। पद्मश्री से बलबीर दत्त का सम्मानित पत्रकारिता के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

अविभाजित भारत में इस्लामाबाद (अब पाकिस्तान) में जन्में दत्त ने अपने जीवन में कई उतार-चढ़ाव देखे हैं। भारत आने के बाद उन्होंने दिल्ली, देहरादून सहित कई अन्य जगहों पर नौकरी की और बाद में रांची पहुंचे।

यहां आने के बाद उन्होंने वर्ष 1963 में रांची एक्सप्रेस अखबार में काम करना शुरू किया, जो बाद में साप्ताहिक से दैनिक अखबार बन गया। दत्त पिछले वर्ष तक यहां बतौर प्रधान संपादक कार्यरत रहे। इस दौरान उन्होंने झारखंड आंदोलन सहित कई अन्य विषयों पर पुस्तकें भी लिखी।

वहीं दूसरी ओर नागपुरी गीत-संगीत को विश्व स्तर पर पहचान दिलाने में मुकुंद नायक का अहम योगदान रहा है। वे न सिर्फ झारखंड बल्कि अमेरिका, इंग्लैंड, फ्रांस, ताइवान और हांगकांग में भी अपनी कला का प्रदर्शन कर तालियां बटोर चुके हैं। मांदर की थाप पर लोगों को झुमा देने वाले मुकुंद नायक देवघर विद्यापीठ से बीए किया है। संगीत उनकी अभिरुचि का मुख्य क्षेत्र है।

इससे पहले उन्हें झारखंड सरकार के कला संस्कृति विभाग से सांस्कृतिक सम्मान और दैनिक प्रभात खबर की ओर से झारखंड गौरव सम्मान दिया जा चुका है। वह संगीत के क्षेत्र में अधिक से अधिक काम करना चाहते हैं।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार दिलीप पडगांवकर
बिहार का 'डीएनए' ही ऐसा है कि विश्व नेता को जिला नेता भी न रहने दिया
अध्यक्ष अमित शाह के नसीहत पर भाजपा की झाड़ू
मीडिया के विजय माल्या यानी महुआ चैनल के पीके तिवारी की 112 करोड की सम्पति जब्त
साप्ता.चौथी दुनिया के निशाने पर इंडियन एक्सप्रेस के संपादक
एसपी के ग्रेडिंग में सुशासन बाबू के गृह थाना हरनौत को मिला ग्रेड "D"
चुनाव हारने के बाद रोते हुए फर्श पर गिर पड़े थे केजरीवाल !
रघु'राज में गरगा पुल से मिली जनजीवन को नई रफ्तार
पत्रकार बताकर अवैध वसूली करने के आरोप में 4 लोग गए जेल
अख़बारों से लुप्त होते सामाजिक सरोकार
मंगनीलाल मंडल पर कार्रवाई, रामविलास पर क्यों नही !
पत्रकार संतोष ने फेसबुक पर लिखा- वीरेन्द्र मंडल केस में भावनाओं पर काबू रखना थी बड़ी चुनौती
अखिलेश सरकार के लिये बड़ी नसीहत यादव सिंह प्रकरण
फेकऑफ से पता लगाएं कि फेसबुक पर हैं आपके कितने फर्जी दोस्त
देखिए आज तक की डिस्क्लेमर हद, रिजल्ट पूर्व नीतिश-मोदी के विजयी भाषण तक गढ़ डाले
सीएम के कनफूंकवों के इशारे पर हुई FIR और रांची के ये अखबार यूं लगे ठुमरी गाने
अब नोटों के लिए जिस्म बेचने को विवश हैं ये विदेशी एक्ट्रेस
नालंदा एसपी ने 'ट्रक वसूली' का ठीकरा हवलदार के सिर फोड़ा !
जमशेदपुर DPRO ने मीडिया हाउसों और रिपोर्टरों को यूं डराया
नाबालिग छात्रा की थाने में जबरिया शादी मामले को यूं उलटने में जुटे कतिपय लोकल रिपोर्टर
लोकतंत्र, बिहार और बिहारियों की विजय है महागठबंधन की जीत :शत्रुघ्न सिन्हा
सरकारी विज्ञापनों में अब नहीं दिखेगा पांच साल तक सिर्फ पीएम का चेहरा
नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार से कुछ सवाल
एक साल में चार वर्षों की दिशा तय की :रघुवर दास
सच्चाई कुछ...छापा-दिखाया कुछ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...