पत्रकार पुत्र की निर्मम हत्या की कड़ी निंदा, डीजीपी गंभीर, भेजी उच्चस्तरीय जांच टीम

Share Button

“मामला है सुशासन की ढिंढोंरे पीटने वाले सीएम नीतीश कुमार के गृह नालंदा जिले का, जहां हिंदुस्तान दैनिक अखबार के बिहारशरीफ संस्करण ब्यूरो चीफ आशुतोष कुमार आर्य का इकलौता सोलह वर्षीय पुत्र अश्वविनी कुमार उर्फ चुन्नू की अपराधियों ने निर्मम तरीके से हत्या कर दी…..”

राजनामा.कॉम। बिहार में अपराधी का मनोबल इस कदर बढ़ा हुआ है और पुलिस-प्रशासन उसके आगे इतना मजबूर है कि जहां जो मर्जी घटना को अंजाम देते रहते हैं और पुलिस मूकदर्शक बनी तमाशा देखती नजर आ रही है।

बीते दिन पुलिस-प्रशासन के इसी मुक़दर्शिता की भेंट चढ़ गया एक वरिष्ठ पत्रकार का सोलह वर्षीय पुत्र। अपराधियों ने इस घटना को सीएम नीतीश के गृह हरनौत थाना क्षेत्र के हसनपुर गांव में अंजाम दिया है।

जानकारी के मुताबिक चुन्नू पटना में रहता था, जहां से रामनवमी की छुट्टी में गांव आया था। गांव में ही अपराधियों ने उसकी निर्मम हत्या कर दी।

मिली जानकारी के अनुसार अपराधियों ने चुन्नू की दोनो आंखे भी फोड़ डाली थी। चुन्नू का शव गांव में ही तालाब के पास से रविवार की देर शाम बरामद की गई है। शव मिलने के बाद मृतक के परिजनों का बुरा हाल है। वहीं जिले समेत पूरे राज्य के पत्रकारों में रोष व्याप्त है।

घटना के बाद स्थानीय पुलिस गांव पहुंच कर घटना की छानबीन में जुट गई है। हत्या के मामले में पुलिस सीधे सीधे कुछ भी कहने से बचती दिखाई दे रही है।

नेशनल जर्नालिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय महासचिव कुमुद रंजन सिंह, संजय कुमार सुमन,राष्ट्रीय संरक्षक डॉ जितेंद्र कुमार सिंह, रमेश ठाकुर, वरीय पत्रकार संजय विजितवर सहित बिहार प्रदेश वरीय उपाध्यक्ष सीके झा ने डीजीपी बिहार से 48 घण्टे के अंदर आरोपियों / अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग के साथ ही सीबीआई जांच कराएं जाने की मांग की है।

वही बिहार भर के पत्रकार घटना के विरोध में काला बिल्ला लगाकर सोमवार को कार्य करेंगे।

संगठन के राष्ट्रीय महासचिव कुमुद रंजन सिंह ने बताया कि डीजीपी ने मामले को गम्भीरता से लिया है और डीआईजी , एफ़एसएल टीम तथा डॉग स्कार्ट की टीम पटना से जांच के लिए घटना स्थल भेजी है।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...