पत्रकारों पर अब सीधे मुकदमे दर्ज नहीं होंगे :अनिल रतूड़ी

Share Button

“पत्रकारों के खिलाफ आने वाली शिकायत पर पहले मामले की जांच पड़ताल की जाएगी और गंभीरता पूर्वक निष्कर्ष निकालने के बाद ही इस मामले में कार्रवाई की जाएगी….”

राजनामा.कॉम। उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी ने कहा है कि किसी भी पत्रकार के संबंध में अगर किसी भी थाने चौकी में कोई शिकायत आती है या कोई तहरीर आती है तो उन पर सीधे मुकदमे दर्ज नहीं होंगे।

पुलिस महानिदेशक ने यह आश्वासन उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय में उत्तराखंड पत्रकार यूनियन के बैनर तले ज्ञापन देने गए पत्रकारों को दिया।

उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी………

उत्तराखंड पत्रकार यूनियन के बैनर तले आज उत्तरांचल प्रेस क्लब में पत्रकारों की बैठक हुई। बैठक में गत 12 जून को उत्तर प्रदेश के शामली रेलवे स्टेशन पर इलेक्ट्रॉनिक्स चैनल के पत्रकार अमित शर्मा पर जीआरपी इंस्पेक्टर व सिपाहियो द्वारा की गई मारपीट और न्यूज़ 18  के पत्रकार राजीव तिवारी के साथ दिल्ली में विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन द्वारा की गई अभद्रता, गाली गलौज, जान से मारने की धमकी देना और पिस्टल दिखाने के मामले में पत्रकारों ने पुलिस महानिदेशक को ज्ञापन दिया।

ज्ञापन में मांग की गई कि उक्त मामलों में जो भी दोषी हैं उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए आप अपने स्तर से उत्तर प्रदेश सरकार  और केंद्र सरकार को पत्रकार संघ का ज्ञापन प्रेपित कर दे। पुलिस महानिदेशक ने आश्वासन दिया कि वह इस मामले में हर संभव मदद के लिए तैयार हैं।

उत्तराखंड पत्रकार यूनियन ने जो ज्ञापन पुलिस महानिदेशक को दिया है उसमें पत्रकार सुरक्षा संबंधी कानून बनाने की भी मांग की गई है ज्ञापन में कहा गया है कि समाचार संकलन के दौरान पत्रकारों के साथ अभद्रता गाली गलौज के मामले सामने आते रहते हैं। ऐसे में कई बार पत्रकारों को जान से मारने की धमकी भी दी जाती है जिसमें उनके साथ ही परिजनों को भी जानमाल का खतरा होता है।

ज्ञापन में कहा गया है कि पुलिस महानिदेशक अपने स्तर से इस मामले में पैरवी कर जल्द से जल्द पत्रकार सुरक्षा कानून को अमल में लाएं।

इसके अलावा ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि भविष्य में शामली और दिल्ली जैसी घटनाओं की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए व्यवस्था सुनिश्चित की जाए पुलिस महानिदेशक ने पत्रकारों को आश्वासन दिया है कि वह इस मामले में निश्चित रूप से सकारात्मक कार्यवाही करेंगे और जो भी संभव होगा वह किया जाएगा।

इससे पूर्व उत्तरांचल प्रेस क्लब प्रांगण में आयोजित बैठक में वक्ताओं ने शामली और दिल्ली की घटनाओं की घोर निंदा की और दोषियों के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई करने की मांग की वक्ताओं ने कहा कि अगर जल्द ही उक्त मामलों में जो आरोपी हैं उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है तो पत्रकार संघ को मजबूरन आंदोलन करने के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

बैठक की अध्यक्षता उत्तराखंड पत्रकार यूनियन के अध्यक्ष चेतन गुरुंग ने की और संचालन महामंत्री गिरिधर शर्मा ने किया।

बैठक के उपरांत अध्यक्ष चेतन गुरुंग के नेतृत्व में पुलिस महानिदेशक को ज्ञापन देने  वाले प्रतिनिधिमंडल में उत्तरांचल प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष नवीन थलेडी, भूपेंद्र कंडारी प्रेस क्लब के उपाध्यक्ष देवेंद्र नेगी कोषाध्यक्ष प्रवीण बहुगुणा, अफजल अहमद संदीप नेगी, रामगोपाल शर्मा उपेंद्र सिंह प्रवीण डंडरियाल, शशि शेखर,  केएस बिष्ट,  संजय नेगी , राजेश बड़थ्वाल, विपिन नौटियाल किशोर रावत पंकज गैरोला उमाशंकर विजय रावत , किशोर अरोड़ा, कुँवर राज अस्थाना , अवनीश ,रामपाल सिंह , समेत कई पत्रकार मौजूद थे।

Share Button

Relate Newss:

जिम्मेवारी तय कर दोषियों को दंडित करें :सुनील बर्णवाल
शोसल मीडिया पर तेजप्रताप की ‘फुनुआ’ की खूब हो रही चर्चा
स्थानीय प्रशासन वनाम आंचलिक पत्रकारिता
इस चुनाव से गायब हैं खेत-खलिहान के मुद्दे
देश में कांग्रेस शासित राज्यों की संख्या 14 हुई
'सांप्रदायिकता' के ज़हर को छोड़कर एकता को गले लगाइए
दैनिक जागरण के प्रतिनिधि की गोली मार कर हत्या, सगा भाई भी जख्मी
संजीवनी के इस महाभोज में सबने छक कर खाया
और भारत में बिल्कुल संस्कारी बना दिया गया जेम्स बॉन्ड
मीडिया के चतुर सयानों की सूचना को अब राज़नामा नहीं लेगी संज्ञान
मीडिया का सरोकार से जुड़ा होना महत्वपूर्ण: पंकज बिष्ट
तेजस्वी यादव ने फेसबुक के जरिये दी सुशील मोदी को चुनौती
कोई भी धर्मग्रंथों पर ट्रेडमार्क अधिकार का दावा नहीं कर सकता :सुप्रीम कोर्ट
गुवाहाटी कांडः नेता-रिपोर्टर भी शामिल
मोदी जी को बेटा नहीं है तो इसमें मैं क्या करुं :हेमंत सोरेन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...