प्रभात खबर ने छापी भ्रामक और आधारहीन समाचार

Share Button

prabhat khabar

पटना से प्रकाशित और खुद को तेजी से बढने का दावा करने वाला ‘प्रभात खबर’ ने शुक्रवार (26 जुलाई) को अपने पृष्ठ संख्या-14 पर एक ऐसी भ्रमक और आधारहीन खबर प्रकाशित की है जिसने पाठकों के बीच तो इस अखबार की विश्वसनीयता पर सवाल खडा किया ही है पिछले वर्ष आरा के कतिरा मुहल्ले में हत्यारों की गोली का शिकार हुए रणवीर सेना के संस्थापक ब्रह्मेश्वर मुखिया के परिजनों को भी स्तब्ध कर दिया है।

 इस अखबार ने आज ‘सीबीआई ने मुखिया के बेटे से ली जानकारी’ शीर्षक से एक समाचार प्रकाशित किया है। इतना ही नहीं अखबार ने इस मामले में और तेजी दिखाते हुए यह भी लिख डाला है कि ‘सीबीआई की टीम नें मुखिया पुत्र और इस घटना के सूचक इंदूभूषण से सीबीआई द्वारा तैयार किए गए प्रश्नों के जवाब मांगे।’

गौरतलब है कि मुखिया हत्या मामले में ‘प्रभात खबर’ शुरु से ही आधारहीन और भ्रामक खबरें प्रकाशित कर रहा है। ब्र्हमेश्वर मुखिया की हत्या के तीन दिन बाद ही इस अखबार ने बिना किसी आधार या प्रमाण के मुखिया के पास 30 करोड से अधिक रुपए होने की खबर अपने प्रथम पृष्ठ पर प्रकाशित की थी जिससे मुखिया समर्थक और राष्ट्रवादी किसान संगठन के लोग काफी नाराज थे।

बेशक मुखिया हत्याकांड की जांच सीबीआई ने अपने हाथें में ली है पर सीबीआई ने अबतक मुखियापुत्र व राष्ट्रवादी किसान के अध्यक्ष इंदूभूषण से अबतक किसी तरह का न तो कोर्ई संपर्क किया है और न ही उनसे किसी तरह की कोई पूछताछ की है।

 इस भ्रामक खबर से आहत और चकित इंदूभूषण जो इन दिनों पटना में हैं, ने आशंका प्रकट करते हुए कहा कि लगता है यह अखबार उनके पिता की हत्या की साजिश रचने वालों के प्रभाव में है और उन्हीं साजिशकर्ताओं के इशारे पर लगातार भ्रामक और आधारहीन खबरें प्रकाशित की जा रही हैं।

…….. पत्रकार विनायक विजेता के फेसबुक वाल से साभार

Share Button

Relate Newss:

अलविदा! बीबीसी हिन्दी रेडियो सर्विस, लेकिन तेरी वो पत्रकारिता....✍
पत्रकार दंपति पर जानलेवा हमला, जिंदा जलाने का प्रयास, पत्नी की हालत गंभीर
दैनिक भास्कर रोहतक के एडीटोरियल हेड जितेंद्र श्रीवास्तव ने ट्रेन से कटकर की आत्महत्या
हिंदी पत्रकारिता दिवस: बिहार में साहित्यिक पत्रकारिता का विकास
'गोरा katora' नहीं हुजूर, लोग कहते हैं 'घोड़ा कटोरा'
बिहार के गया में हुई पत्रकार की हत्या को लेकर शेखपुरा में विरोध मार्च
सीएम-गवर्नर को गाली देता है गुरुजी का पीए
मध्य प्रदेश में पत्रकार की अपहरण के बाद हत्या !
जी न्यूज के संपादक को साकेत कोर्ट से मिली जमानत
देखिए वीडियोः किस शर्मनाक करतूत के कारण हटाया गया राष्ट्रीय सहारा का विज्ञापन मैनेजर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...