न्यूज 11 के मालिक अरुप चटर्जी पर गर्ल्स हॉस्टल संचालिका को ब्लैकमेलिंग का एफआईआर

Share Button

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। राजधानी रांची के पीस रोड लालपुर, कुमार गर्ल्स हॉस्टल की मालकिन शशिकला कुमारी ने न्यूज 11 के मालिक अरुप चटर्जी के खिलाफ ब्लैकमेलिंग करने की शिकायत आज लालपुर थाने में दर्ज कराई है  तथा इसकी प्रतिलिपि एसएसपी रांची, एसपी रांची, और डीएसपी रांची को संप्रेषित की है।

थानेदार को लिखे शिकायत पत्र में शशिकला ने आरोप लगाया है कि दिनांक 2 सितम्बर 2019 को अपराह्न 4.16 बजे पर न्यूज 11 के मालिक अरुप चटर्जी का उनके पति के पास फोन आया था, जिसमें अरुप चटर्जी ने कहा कि उसके पति के खिलाफ विजिलेंस की जांच चल रही है क्या?

उसके पति ने कहा– हां चल रही है। आपको कैसे मालूम हुआ? अरुप चटर्जी का कहना था कि सूर्य प्रकाश सुनेजा उसके पास आया था, क्योंकि उसका बेटा गुलशन सुनेजा उसके मीडिया चैनल में काम करता है।

इसी बात पर अरुप चटर्जी ने कहा कि आप लोग क्या चाहते है? या तो मुझे मुंह बंद करने के लिए 20 लाख दीजिये, क्योंकि आप कई गर्ल्स हॉस्टल चलाते हैं? वरना भुगतने के लिए तैयार रहिये।

शशिकला ने लिखा है कि उसके पति ने कोई जवाब नहीं दिया, ऐसे भी हम 20 लाख कहां से और क्यों देंगे? उसके बाद आज न्यूज 11 के तीन कर्मचारी आये और बगैर मेरी इजाजत के हमारे हॉस्टल की फोटोग्राफी एवं विडियोग्राफी करने लगे, ये उसी धमकी की एक कड़ी है।

हॉस्टल में लड़कियां घर समझकर रहती है, तो मैने मना किया, तो उन सब ने जबरन रिकार्ड करना जारी रखा, जब रोकने की कोशिश की, तो उन्हें धक्का दे दिया गया।

तभी मुहल्ले के लोगों ने बीच–बचाव किया और उनका कैमरा, मोबाइल लेकर मुझे दे दिया, जो पुलिस को मैंने सौंप दिया, ये उनकी मनमानी है। मैं इनकी अभद्रता से काफी आहत हूं, उन्होंने फोन करके मीडियाकर्मियों को बुला लिया और हंगामा तथा रिकार्डिंग करने लगे।

शशिकला ने लिखा है कि ऐसे ब्लैकमेलिंग करनेवाले मीडियाकर्मियों तथा उसके मालिक के खिलाफ पुलिस कठोर कार्रवाई करें।

इधर न्यूज 11 के रिपोर्टर आकाश भार्गव ने भी शशिकला के खिलाफ हत्या के इरादे से कमरे में बंद करने, मोबाइल छीनने, पर्स छीनने, कैमरा छीनने, मारपीट और गाली–गलौज करने की शिकायत दर्ज करा दी है।

इस संदर्भ में अब पुलिस क्या करती हैं, सभी का ध्यान उसी ओर है, हालांकि जानकार बताते है कि इस संदर्भ में पुलिस ज्यादा कुछ कर नहीं पायेगी, क्योंकि अरुप चटर्जी पर फिलहाल राज्य सरकार की भी कृपा बरस रही हैं।  इसलिए किसी भी पुलिस अधिकारी की हिम्मत नहीं कि उसके पास जाकर आंख से आंख मिलाकर बात भी कर सकें। (साभारः विद्रोही.कॉम)

Share Button

Relate Newss:

समलैंगिकों के अड्डे बन गए हैं मदरसे !
नीतिश सरकारः मीडिया में महज चेहरा चमकाने पर फूंक डाले 500 करोड़
जो पत्रकार JJA से नहीं जुड़े, उन्हें संगठन पर टिप्पणी का अधिकार नहीं
सफायर इंटरनेशल स्कूल के छात्र विनय की हत्या का आश्चर्यजनक खुलासा
दीपक चौरसिया की राइट हैंड निधि कौशिक इंडिया न्यूज से हुई टर्मिनेट!
रांची पुलिस की पेट्रोलिंग पार्टी ने ही लूट लिये 70 लाख, 6 सस्पेंड, गये जेल
नालंदा में खुलेगी चाणक्य आईएएस एकेडमी की शाखा
स्कॉलर होते हैं परीक्षा माफिया के असली ब्रह्मास्त्र
दिमाग कंपा जाती है पत्रकार संदीप कोठारी का शव !
नरेंद्र मोदी से बेहतर हैं आदित्यनाथ, उन्हें बनने चाहिए अगले पीएमः राम गोपाल वर्मा
मजीठिया‬ वेज बोर्ड को लेकर सुप्रीम कोर्ट नाराज, 15 दिन के भीतर मांगी रिपोर्ट
जानिये वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र के खिलाफ FIR पर क्या बोले धुर्वा थाना प्रभारी
जितनी हुई लानत मलामत, उतना ही बढ़ा कद !
डॉ. ऋता शुक्ला, डॉ.महुआ मांजी समेत 14साहित्यकार होंगे सम्मानित
जज की भूमिका में मीडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...