नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार से कुछ सवाल

Share Button
Read Time:3 Minute, 52 Second

नोटबंदी पर पूरा देश कहिये या फिर गरीब गुरबा , सब खुश है? पूरा देश इसलिए कहा जा रहा है कि बीजेपी वाले कह रहे है कि इस फैसले से सब खुश है। लेकिन मेरा मानना है की केवल मध्यमवर्ग ही खुशहै। इसे आप माध्यम वर्ग कहिये या फिर मौकाटेरियन। जब जैसा तब तैसा। अमीर और गरीब इस नोटबंदी से नाराज है। इस वर्ग का फैसला चुनाव पर पडेगा। बीजेपी भी ऐसा मान रही है। लेकिन मेरे कुछ सवाल है…..

 अपने फेसबुक वाल पर वरिष्ठ लेखक पत्रकार  'अखिलेश अखिल '
अपने फेसबुक वाल पर वरिष्ठ लेखक पत्रकार ‘अखिलेश अखिल ‘
  1. क्या बीजेपी नरेंद्र मोदी को अपना प्रधानमन्त्री मान रही है? और क्या मोदी जी बीजेपी द्वारा निर्देशित रास्ते पर ही सरकार चला रहे है?

2 . यदि ऐसा है तो मोदी जी ने मुद्रा बदलाव का निर्णय क्या बीजेपी संगठन और अपने मंत्रिमंडल को विश्वास में लेकर उठाया था ?

3 . वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा दिए गए बयान के अनुसार मुद्रा बदलाव के फैसले की कोई पूर्व सुचना उन्हें नहीं थी। तो मोदी जी इतना बड़ा फैसला अपने ही मंत्री से बिना सलाह किये कैसे ले लिए?  क्या मोदी जी को अपने ही वित्त मंत्री पर विश्वास नहीं था? और अगर ऐसा है तो फिर अविश्वासी वित्त मंत्री की क्या जरुरत है ? और आपकी क्या मज़बूरी है ? यह देश जानां चाह रहा है?

4 . यह फैसला लेने से पहले सरकार ने पूरी तैयारी तक नहीं की थी। जिसके कारण आम जनता को भारी परेशानी का सामना अभी भी करना पड़ रहा है। ऐसा क्यों हुआ ?

5 . क्या इस मुद्रा बदलाव से भविष्य में नकली मुद्रा के आक्रमण से देश की मुद्रा का स्थाई बचाव किया जा सकता है ?

6 . नकली मुद्रा की समस्या को केवल शत्रु देशो की भूमिका से नहीं देखा जा सकता , वल्कि देश के भीतर उसका एक मजबूत नेटवर्क होना चाहिए। उसे समाप्त करने के लिए मोदी जी क्या कदम उठा रहे है ?

7 . क्या मोदी जी को यह आशंका है कि नकली नोटों के नेटवर्क में उनके ही मंत्रिमंडल का कोई सदस्य भी शामिल हो सकता है ?

  1. क्या बीजेपी और सरकार के प्रमुख लोग जनता के इन यक्ष प्रश्नों का सार्वजनिक रूप से उत्तर देना अपना कर्त्तव्य समझते है ? और क्या वे इसका उतार देकर अपने कर्त्तव्य का पालन करेंगे ?

9 . आप और देश की जनता जानती है की देश में नकली नोट का धंधा करने वालो का अपना एक मजबूत नेटवर्क है। आप इस नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए कौन सा कदम उठा रहे है ? यदि आपने नोटबंदी का इतना बड़ा फैसला ले ही लिया तो अभी तक कालाधन से जुड़े एक भी आदमी पकड़ा क्यों नहीं गया ?

10 . नयी मुद्रा को नकली मुद्रा के आक्रमण से बचाने के लिए सरकार क्या रास्ता अपनाएगी ?

  1. यदि सरकार , नयी मुद्रा को भी नकली मुद्रा के आक्रमण से नहीं बचा पायेगी तो फिर इस कदम का क्या औचित्य बनता है ?
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

15 हजार लेकर थानाध्यक्ष ने कराई नाबालिग छात्रा की शादी, कतिपय पत्रकार देख ले VEDIO
चुनाव से पहले अब झारखण्ड में दंगा !
नीतिश सरकारः मीडिया में महज चेहरा चमकाने पर फूंक डाले 500 करोड़
बिहार में निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता की आवश्यकता : मंत्री प्रेम कुमार
न्यायपालिका की बेहतरी के लिए ज़रुरी
अपनी बात पहुंचाने का एक प्रयास है किसान चैनल  :पीएम
सुलगते सवालों का अजायब घर है अवनीन्द्र झा की 'मिस टीआरपी' पत्रकारिता
नीतिश के गुस्से में छुपा है राज्य में बड़े स्तर पर प्रशासनिक फेरबदल के साफ संकेत
आस्ट्रेलिया में 30 नवंबर से खुलेगा सबसे बड़े दुर्गा मंदिर का पट
हसीन वादियों का लुफ्त उठाते बिहार के CM और उनके पिछे भागती-गिरती मीडिया
बिहार में पार्टी की बुरी हार का एक बड़ा कारण :भाजपा सांसद
अंततः कोर्ट के आदेश से दर्ज हुआ इंजीनियरों पर गबन का FIR
‘इंफाल टाइम्स’ की वायरल वीडियो में विधायक नहीं, उनके पीए व अन्य, देखिए पूरा वीडियो
राजगीर मेला भूमि पर कब्जा करने वाले महागठबंधन के लोग, भाजपा करेगी आंदोलन :राजीव रंजन
पत्रकार ओम थानवी की मुलाकात में असहिष्णुता को लेकर चिंतित दिखे राष्ट्रपति
शाहरुख खान को लेकर अनाप-शनाप न बोलें BJP के नेता :अनुपम खेर
गौमांस खाने वाले ओबामा से गले मिलते हैं मोदी : लालू
पीआरडी में विशिष्ट अतिथि बनकर आता था महापापी ब्रजेश ठाकुर
अब 2अक्टूबर से नया संशोधित शराबबंदी कानून लागू करने की मंशा
जस्टिस डीएन उपाध्याय बने झारखंड लोकायुक्त
गरीब बिहार की अमीर सरकारः 5 वर्ष में मीडिया पर लुटाए 500 करोड़ !
अभिनेत्री से 'अम्मा' बनी जयललिता की हालत नाजुक
जाहिल हैं रघुबर सरकार के शिक्षा मंत्री ?
ऐसा फेसबुकिया भक्त, जिसने किया मोदी की नाक में दम !
सिल्ली विधायक ने सोशल मीडिया पर दिखाया सीएम को भ्रष्टाचार का आयना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...