नीतीश जी इ अंधभक्त को समझाईये कि गोरैया बाबा कब से खून पीने लगे

Share Button

nitish sporter

राज़नामा.कॉम (मुकेश भारतीय)। नीतिश जी यह पागलपन है। उसे आप ही बेहतर समझा सकते हैं। समर्थक सब होते हैं। भक्त भी बन जाते हैं लेकिन अंधभक्ति को उचित नहीं ठहराया जा सकता ।

अब देखिए न। जहानाबाद के घोसी थाना के वैना गांव के युवक अनिल शर्मा उर्फ अली बाबा को।

आपकी पांचवी बार सीएम बनने के बाद जो किया है और इसके पहले भी चार बार करता आया है, वह चाहत नहीं, पागलपन की हद है। उसने आपकी पांचवी ताजपोशी होने के साथ ही अपनी पांचवी उंगली भी अंधविश्वास की भेंट चढ़ा दिया है।

इन दिनों फेसबुक, व्हाट्सअप जैसे सोशल साइट पर उसकी तस्वीरें खूब वायरल हो रही हैं।

खबर है कि आपकी पांचवीं बार मुख्यमंत्री बनने से उत्साहित अनिल शर्मा उर्फ अली बाबा नामक युवक ने अपनी हाथ की ऊंगली काटकर गोरैया स्थान (मंदिर) पर चढा दिया है।

इसके पहले भी आपकी हर सीएम पद के शपथ ग्रहण के बाद वह इसी तरह अपनी उंगली काटकर जीत का जश्न मनाता आ रहा है।

वह घायल अवस्था में भी काफी उत्साहित है। उसे काको पीएचसी में भर्ती कराया गया था, जहां से उसे सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

वह पेशे से किसान है। हो सकता कि आपने उसके गांव-जेवार में जो बेहतर कार्य किये हैं,  वह उसके कायल हो। या फिर उसे व्यक्तिगत फायदा मिला हो या फिर आपसे काफी उम्मीद पाल रखा हो। बात कुछ भी हो लेकिन, है तो यह सब विक्षिप्तता ही न। इ गौरैया बाबा खून कब से पीने लगे?

कोई कुछ भी बोले। सौ फीसदी विश्वास है कि आप सरीखे नेतृत्व को खून नहीं पसीना की जरुरत है। ऐसे अंधभक्त युवाओं कड़े संदेश दीजिए… बिहार के लिए खून नहीं बल्कि, इतना पसीना बहाओ कि खेतों में फसल लहलाए। एक समृद्ध और खुशहाल राज्य का सपना पूरा हो।   

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.