नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार दिलीप पडगांवकर

Share Button

पुणे। जाने-माने पत्रकार और टाइम्स ऑफ इंडिया अखबार के कन्सल्टिंग एडिटर दिलीप पडगांवकर आज नहीं रहे। वे 72 साल के थे और उन्हें हार्ट अटैक के बाद पुणे के एक अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया था। उनके किडनी में भी समस्या थी जिसका इलाज चल रहा था. लेकिन आज उनका निधन हो गया।

उनका जन्म 1944 में पुणे में हुआ था। टाइम्स ऑफ़ इंडिया के संपादक बनने के पहले उन्होंने आठ साल तक यूनेस्को के लिए भी काम किया था।

टाइम्स ऑफ इंडिया का संपादक रहते उनका यह बयान काफी मशहूर हुआ था कि भारत में प्रधानमंत्री के बाद टीओआई के संपादक का पद सबसे महत्वपूर्ण पद है।

दिलीप पडगांवकर ने महज 24साल की उम्र में पत्रकारिता की दुनिया में कदम रखा। बैंकाक और पेरिस भी लंबे समय तक उनका कार्यक्षेत्र रहा।

पत्रकारिता में उल्लेखनीय के लिए उन्हें फ्रांस का सबसे बड़े नागरिक सम्मान ‘ज़ाक शिराक’ सम्मान भी मिला।  राजनामा.कॉम परिवार उनके निधन पर शोक प्रकट करता है।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.