नरेंद्र मोदी के नाम खुला खत

Share Button
Read Time:4 Minute, 11 Second

narendra-modiराजनामा.कॉम।  नरेंद्र मोदी जी आप जिस तरह अपनी छवि को धर्मनिरपेक्ष और सभी सामुदाय काहित चाहने व सम्प्रदायवाद से नफरत करने वाले व्यक्ति की तरह पेश कर रहेहैं, क्या आपको थोड़ा भी अंदाजा है कि इस तरह की बातों पर विश्वास करनेमें आम आदमी और समाज के बुद्धिजीवी  वर्ग को कितनी कठिनाई महसूस हो रहीहोगी।

आप जैसा कहते हैं, उसी तरह गुजरात दंगे में आपकी भूमिका के सवाल कोछोड़ भी दिया जाए तो भी कई ऐसे सवाल हैं जो आपकी धर्मनिरपेक्ष व सभी समुदायका हित चाहने वाले व्यक्ति बनने की कोशिश को संदिग्ध बना रही है। आम जनविशेषकर अल्पसंख्यक वर्ग तो उलझन है कि आपकी अब की छवि पर विश्वास किया जाएया पिछली छवि पर।
आप पर्यटन को बढ़ावा देकर देश की ब्रांडिंग की बात करते हैं। क्या इस सवालका आपके पास कोई पुख्ता जवाब है कि आपने भारतीय ब्रांड एम्बेस्सडर आमिरखान को गुजरात के पर्यटन को प्रमोट करने के लिए चुनने के बजाए अमिताभ बच्चनको चुना?

शायद आपको इस बात से फर्क न पड़े लेकिन आम मुस्लिम वर्ग में तोयही संदेश गया होगा कि आमिर खान मुस्लिम हैं, इसलिए आपने आमिर खान केद्वारा गुजरात के पर्यटन को प्रमोट करना पसंद नहीं किया।
शायद आप इस बात को जानते हुए भी नजर अंदाज कर रहे हैं कि जिस आरएसएस के आपगुनगान गाते हैं, उससे जुड़ने वाले नए नवेले युवा वर्ग में मुस्लिम वर्ग केप्रति एक नफरत पनप रही है। आप तो बड़े-बड़े मंच से धर्मनिरपेक्षता की बातकरते हैं, लेकिन जैसा कि आप कहते हैं कि आरसएसएस व बीजेपी सभी समुदाय काहित चाहती है, क्या आपके पास इस सवाल का जवाब है कि धर्मनिरपेक्षता व सभीका हित चाहने वाला संगठन युवाओं को इस तरह ट्रैन (प्रशिक्षित) करता है किइससे जुड़ा युवा मुस्लिम वर्ग के प्रति ज़हर उगलता है? नरेंद्र मोदी जी आपमानो या न मानो यह सच्चाई है।
आपकी पार्टी की विचारधारा को मानने वाले नेता व उम्मीदवार नफरत भरे बयान देरहे हैं, क्या यही धर्मनिरपेक्षता है?, क्या प्रधानमंत्री बनने के बाद इसीतरह सबका हित साधा जाएगा?
नरेंद्र मोदी जी आप अपने साक्षात्कारों में लगातार कह रहे हैं कि आपकीपार्टी व आप सच्चाई देश की जनता को बता रहे हैं, क्या आपको इस बात का आपकोथोड़ा भी अंदाजा है कि आपकी पार्टी की ओर से आने वाले कई भाषण व बयान ऐसेहोते हैं जिसमें भ्रमित करने व भड़काऊ जानकारी होती।

इसका एक उदाहरण है, गत दिनों आपकी पार्टी की ओर से जम्मू कश्मीर एक बयान आया था। जिसमें आपकीपार्टी ने कहा था कि ‘आम आदमी पार्टी की वेबसाइट पर भारत के नक्शे मेंकश्मीर को पाकिस्तान में दिखाया गया है’  जबकिइसका सही वाक्य होना चाहिए था कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के एक भाग को पाकिस्तान में दिखाया गया है।

मेरा यह खत अगर आप तक किसी तरह पहुंच जाए तो मैं चाहूंगा कि अपने अगलेसाक्षात्कारों में इन सवालों के जवाब भी आप देंगे तो आमजन के साथ न्याय हो पाएगा।

.………. अनिल कुमार

 

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

शर्मसार भारतः स्त्री देह की ऊर्जा से पूंजीवाद को बढ़ावा देगी तेजस
'हैदराबाद से जेएनयू तक मोदी सरकार की ग़लतियां'
जून में ही कर दी थी अर्णब गोस्वामी की भविष्यवाणी !
पूर्व भाजपा सांसद शहनवाज हुसैन से कुख्यात शहाबुद्दीन के रहे हैं गहरे ताल्लुकात
आखिर मोदी राज में रामजादा कौन और हरामजादा कौन?
इन दिनों काफी सुर्खियों में है सरायकेला दैनिक जागरण का यह रिपोर्टर !
बोले पीएम मोदी- विवेकपूर्ण और तार्किक ढंग से खबरें पेश करे मीडिया
टीवी जर्नलिस्ट अनूप सोनू ने यूं निभाया मानवता का धर्म
यहां टेंडर मैनेज कराने वाले सीएम क्या रोकेगें भ्रष्टाचार : बाबू लाल मरांडी
'इस महापाप में न्यायपालिका, विधायिका, कार्यपालिका, मीडिया,एनजीओ सब शरीक'
'धूर्त्तपुरुष' की राह पर 'युगपुरुष' ?
जमशेदपुर DPRO ने मीडिया हाउसों और रिपोर्टरों को यूं डराया
डोनाल्ड ट्रंप से बेहतर हैं नरेंद्र मोदी : कन्हैया
पांच जजों की बेंच करेगी सीता सोरेन मामले की सुनवाई
सेलरी नहीं दे सकते तो बंद करो अपनी ठगी और गोरखधंधे की दुकान
....और इस मनगढ़ंत बड़ी खबर से पटना की मीडिया की विश्वसनीयता हो गई तार-तार
पुलिस-प्रशासन ने दी केस की धमकी, फिर भी चालू न हो सका राजगीर का रज्जू मार्ग
झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने की फर्जी प्रेस वाहनों पर कार्रवाई की मांग
नीतीश-लालू का खूंटा उखाड़ने के फेर में दांव लगे मोदी
प्रशासन से अधिक चुनौतीपूर्ण है मीडिया की भूमिकाः डीएम योगेन्द्र सिंह
लालू-कन्हैया की मुलाकात के बीच शराब कारोबारी की मौजूदगी का क्या है राज !
फोटाग्राफर नहीं, बल्कि ग्राफिक हिस्टोरियन थे 'किशन'
जी न्‍यूज पर चली झूठी खबर को सच बनाने में सारे चैनल टूट पड़े
इलेक्शन के दौरान मीडिया पर हमले को लेकर BPMU ने चुनाव आयोग सौंपा ज्ञापन
CBI DIG के इस नए खुलासे में केन्द्रीय मंत्री से लेकर अजीत डोवल तक फंसे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...