‘नमो’ के मुंडे की डीग्री पर भी उठा सवाल

Share Button

munde1प्रचंड बहुमत से केन्द्र पर काबिज हुई मोदी सरकार के एक और मंत्री हलफनामे में गलत जानकारी देने के आरोपों में घिर रहे हैं। इस बार आरोप महाराष्ट्र से आने वाले बीजेपी नेता गोपीनाथ मुंडे पर लगा है।

मोदी सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री बनाए गए गोपीनाथ मुंडे ने चुनाव आयोग को दिए अपने हलफनामे में लिखा है कि उन्होंने 1976 में न्यू लॉ कॉलेज, पुणे से बीजेएल की डिग्री हासिल की।

लेकिन न्यू लॉ कॉलेज की वेबसाइट के मुताबिक इसकी स्थापना ही 1978 में हुई। अगर यह वही न्यू लॉ कॉलेज है जिसका जिक्र मुंडे ने किया है तो उन्होंने कॉलेज शुरू होने से दो साल पहले ही डिग्री हासिल कर ली।

संभव है यह कोई तकनीकी या टाइपिंग की गड़बड़ हो, लेकिन सोशल मीडिया के इस दौर में लोग इन बातों को बख्शने को तैयार नहीं है।

munde_digriसोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर और फेसबुक पर मुंडे की इस गलती का न सिर्फ मजाक उड़ाया जा रहा है बल्कि तीखे सवाल भी उठाए जा रहे हैं। मुंडे ने इस बारे में कोई सफाई नहीं दी है।

मुंडे इस तरह के विवाद में फंसने वाले पहले मंत्री नहीं है। हाल ही में मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी भी हलफनामे में गलत जानकारी देने का आरोप भुगत चुकी हैं। उन्होंने 2004 के चुनाव में दाखिल हलफनामे में अपनी शिक्षा बीए बताई थी जबकि 2014 के लोकसभा चुनावों में दाखिल हलफनामे बीकॉम फर्स्ट ईयर।

दो अलग-अलग जानकारियों में से कोई ही सही हो सकती है, लेकिन स्मृति ईरानी ने इस पर कोई सफाई नहीं दी।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी शादी की जानकारी को लेकर आलोचनाएं झेल चुके हैं। मोदी ने गुजरात विधानसभा चुनावों में दिए हलफनामे में शादी का कॉलम खाली छोड़ दिया था जबकि लोकसभा चुनाव में खुद को शादीशुदा बताया।

 

Share Button

Relate Newss:

फेसबुक के बजाय जमीन पर काम करें मोदी : अखिलेश
मोदी-नीतीश के बाद अब ममता का चुनाव कैम्पेन संभालेंगे प्रशांत किशोर
भारतीय लोकतंत्र इस भाजपाई मंत्री की बपौती है मी लार्ड ?
मासूम भिखारी ने मांगा एक रुपया तो भाजपा की महिला मंत्री ने मार दी लात
स्मृति ईरानी की शिक्षा लीक करने वाले 5 डीयूकर्मी निलंबित
मद्रास हाई कोर्ट के जज ने कहा- मुझे भारत में पैदा होने पर आती है शर्म !
सूट-बूट में वेटर लगते हैं अरुण जेटलीः सुब्रमण्यम स्वामी
मीडिया मालिकों के कालाधन पर क्यों नहीं पड़ा छापा : आलोक मेहता  
दैनिक जागरणः  हत्या किसी की, फोटो छापा किसी का !
संकट में सुबोध, नहीं मान रहे युवराज !
मोदी राज के किसान क्यों कर रहे हैं आत्महत्या?
टाडा के भगौड़ा पत्रकार सुरेंद्र सिंह का 21 साल बाद सरेंडर
पत्रकार सोमारू नाग बाइज्ज़त बरी, सवालों के घेरे में बस्तर पुलिस
सुप्रीम कोर्ट ने लगाई जी न्यूज के सुधीर चौधरी को कड़ी फटकार
रामदेव बाबा की राह पर राम रहीम, बाजैर में 151 प्रोडक्ट उतारे !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...