नदी में डूबा देने के भय से दफ्तर में दुबके हैं घनश्यामपुर के सीओ!

Share Button

दरभंगा जिले के घनश्यामपुर प्रखंड में कानून व्यवस्था का क्या हाल है एवं विकास कार्यों की क्या गति होगी, इसका अंदाजा इस बात से सहज लगाया जा सकता है क़ि अनियमितता की शिकायत मिलने और उसे स्वीकारने के वाबजूद अंचलाधिकारी प्रभावित स्थल स्वयं इसलिए नही जा सकते क्योंकि, वहां के एक जनप्रतिधि ने उन्हें बाँध कर नदी में डूबा देने की धमकी दी है।

sanjayमामला प्रखंड के बुढेब इनायतपुर पंचायत की है। जहाँ 15 अगस्त 2014 को आये भीषण बाढ़ में कई लोगो के घर पूरी तरह तबाह हो गए।

लोगों को सरकारी राहत मिलने में भारी अनियमता की शिकायत मिली और फोटोग्राफी टीम के साथ गए अंचल निरीक्षक अजय शंकर एवं किसान मित्र सुरेश ठाकुर पर पैसे लेकर गलत लोगो का फोटोग्राफी का आरोप मुखिया समेत वहां के लोगों ने लगाया।

हमारी टीम को पर्याप्त सबूत भी समाचार संकलन के दौरान मिले। जिसे लेकर हम अंचलाधिकारी संजय कुमार रजनीश से मिले और इस पर उनका पक्ष जानना चाहा।

उन्होंने अनियंमितता की बात को स्वीकारते हुए पुनः अपने स्तर से जांच करने तथा उसी आरोपित अंचल निरीक्षक को भेजने की बात कही।

जब हमने उनसे पूछा कि चूँकि अंचल निरीक्षक पर ही आरोप है तो क्या वे स्वयं एक बार स्थल निरिक्षण नही कर सकते। इस पर उनका जवाब बहुत ही चौकाने वाला था तथा कानून व्यवस्था पर बड़ा सवाल उठा गया।

उन्होने बताया क़ि पंचायत के जनप्रतिनिधि ने उनपर रोड़ेबाजी करवाया था और स्थल पर जाने पर उन्हें बाँध कर उसी नदी में डूबा देने की धमकी दी है। इसलिए कुछ भी हो जाये, वह प्रभावित स्थल पर स्वयं नही जा सकते।

अब सवाल यह है कि जहां एक पदाधिकारी को कानून व्यवस्था पर भरोसा नही है, वहाँ आम जनता के दिल में व्यवस्था के प्रति कितना भरोसा होगा तथा विकास कार्यों को कितना धरातल पर उतारा जाता होगा।

बताते चलें कि यह प्रखंड राजद के कद्दावर नेता और विधायक अब्दुल बारी सिद्दीकी के विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है। उनसे हमने इस मामले में फ़ोन पर संपर्क करने का प्रयास किया परन्तु संपर्क नही हो सका। विधायक स्वयं भी प्रभावित स्थल का दौरा कर चुके हैं।

………दरभंगा से अभिषेक कुमार की रिपोर्ट

Share Button

Relate Newss:

आग की खबर कवरेज के दौरान पत्रकारों से मारपीट, जान से मारने की धमकी
ढाई साल में ‘मेड इन मोदी’ पर ही फूंक डाले 1100 करोड़ रुपये
एनएजे ने सीएम को लिखा पत्र- पत्रकार को तत्काल रिहा कर नालंदा डीईओ पर हो कड़ी कार्रवाई
अब नोटों के लिए जिस्म बेचने को विवश हैं ये विदेशी एक्ट्रेस
भाजपा के नये मुसीबत बने उपेंद्र कुशवाहा !
जमशेदपुर DPRO ने मीडिया हाउसों और रिपोर्टरों को यूं डराया
यहां कोरोना कवरेज में जुटे मीडियाकर्मियों की सेवा में आगे आए स्वंय सेवकों की टोली
बूथ कैप्चर की तस्वीरें ले रहे टाइम्स नाउ के रिपोर्टर को जदयू वालों ने पीटा, EC ने DM-SP को दिए FIR क...
हे आर्य, तेनु काला चसमा सजदा हे देव जँचता जी रुखड़े मुखड़े पे
स्वतंत्र मित्रा को समाचार प्लस में मिला भारी भरकम पद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...