दैनिक जागरण पर चुनाव आयुक्त ने दिया FIR दर्ज करने का निर्देश

Share Button

नई दिल्ली। भारत के चुनाव आयुक्त ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के 15 जिले के चुनाव अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे दैनिक जागरण के खिलाफ चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में संपादकीय विभाग के मीडिया हेड के खिलाफ तत्काल एफआईआर दर्ज करायें।

दैनिक जागरण पर आरोप है कि उसने चुनाव के पहले ही एक्जिट पोल का प्रकाशन कर चुनाव आयोग के नियमों का उलंघन किया है। यह एफआईआर दैनिक जागरण के प्रबंध निदेशक और अन्य अथोरिटी के अलावा रिसोर्स डेवलपमेंट इंटरनेशनल (आई) प्राईवेट लिमिटेड के खिलाफ कराने का निर्देश दिया गया है। दैनिक जागरण के प्रबंध निदेशक के साथ साथ इसी अखबार के प्रबंध संपादक, मुख्य संपादक, संपादक के खिलाफ भी चुनाव आयोग ने एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है।

चुनाव आयुक्त ने जिला अधिकारियों को इस मामले में एफआईआर कराने के बाद पूरी रिपोर्ट भी देने का निर्देश दिया है। देश के सभी मीडिया हाउस को चुनाव से पहले उस एक्जिट पोल का प्रकाशन या प्रसारण करना मना है जिसके प्रकाशन या प्रसारण से मतदाताओं पर असर पड़े। दैनिक जागरण पर आरोप लगा है कि इस अखबार ने धारा 126 ए और बी का उलंघन किया है। दैनिक जागरण पर आरोप है कि उसने ओपनियन पोल में दिखाया था कि भारतीय जनता पार्टी पहले चरण में हुये चुनाव में सबसे आगे है।   (भड़ास.कॉम पर मुंबई के पत्रकार और आरटीआई एक्सपर्ट शशिकांत सिंह की रिपोर्ट)

Share Button

Relate Newss:

शोशल प्रोफ़ाइल पर है पुलिस की नज़र
नालंदा एसपी ने जागरण रिपोर्टर को भेजा जेल, अखबार ने बताया निजी मामला
अब ‘आप’ में गुल खिलायेगें तिवारी बाबा !
महिला पत्रकार की अतरंग वीडियो वायरल करने वाले 27 पत्रकारों पर पुलिस की गाज
नवयुवक पत्रकारों के लिये खतरनाक हैं ऐसे प्रयास
माहौल बिगाड़ने में लगे हैं कुछ लोग : नितीश कुमार
21 दिन बाद भी सुपरविजन नहीं, बीडीओ पर मेहबान है रांची पुलिस !
पत्रकार रंजन हत्याकांड के आरोपी को सीबीआई कोर्ट से जमानत
भाजपा सांसद गिरिराज सिंह गायब, नवादा के चौक-चौराहे पर चिपके पोस्टर
चित्रा त्रिपाठी को पीटने के आरोप में अतुल अग्रवाल गिरफ्तार
सोशल मीडिया को लेकर यूं गंभीर हुये नालंदा के डीएम-एसपी
समूचे झारखंड से ठुकराया गया विकलांग बच्चा पहुंचा भुसुर !
नालंदा में अपराधियों का नंगा नाच, एन एच 31 पर मुखिया के देवर को गोली मार पांच राइफल लूटे
हाकिमों-नेताओं के दलाल बन गए हैं अखबारों के प्रखंड रिपोर्टर
मनीषा दयाल की कार्यों की तरह उसके पजेरो में भी है काफी झोल-झाल !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...