देवयानी मामले में राजनयिक गतिरोध को मूर्खतापूर्ण मानता है अमेरिका

Share Button

devyaniराजनयिक विवाद की वजह से भारत-अमेरिका संबंध को हुए नुकसान की बात स्वीकार करते हुए शीर्ष अमेरिकी नेतृत्व को यह एहसास है कि उन्होंने इस मामले में अपनी ओर से जो कुछ किया वह सबसे मूर्खतापूर्ण था और अब उसे संबंधों को फिर से पटरी पर लाने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। 

भारतीय राजनयिक देवयानी खोब्रागड़े के शुक्रवार रात राजधानी दिल्ली पहुंचने के साथ ही अमेरिकी सरकार ने राहत की सांस ली। अमेरिकी सरकार के अधिकारियों ने दोनों देशों के उस संबंध में आगे बढ़ने की अपनी प्रतिबद्धता जताई, जिसे अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने 21वीं सदी की निर्धारक साझेदारी बताया था।

वाइट हाउस के प्रेस सचिव जे. कार्नी ने कहा, ‘अमेरिका और भारत के बीच व्यापक और गहरी मित्रता है और अकेला मामला हमारे बीच के परस्पर सम्मान वाला संबंध समाप्त होने का संकेत नहीं है।’

ओबामा को घटनाक्रम के बारे में नियमित रूप से जानकारी दी जाती थी और ऐसा माना जाता है कि अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सुजैन राइस के साथ-साथ विदेश मंत्री जॉन कैरी भी स्थिति की निगरानी कर रहे थे।

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता जेन साकी ने संवाददाताओं से कहा, ‘अमेरिका-भारत संबंध में यह स्पष्ट रूप से चुनौती वाला समय है और अमेरिका यह उम्मीद करता है कि यह समाप्त नहीं होगा और भारत संबंधों में सुधार लाने और उन्हें रचनात्मक स्थिति में वापस लाने के लिए सार्थक कदम उठाएगा।’

Share Button

Relate Newss:

नहीं रहे दैनिक भास्कर के ग्रुप एडिटर कल्पेश याग्निक, हार्ट अटैक से मौत
न्यूज चैनल के ऑफिस पर ग्रेनेड से हमला, एक मीडियाकर्मी समेत तीन घायल
फेसबुक से लोग चुन-चुन कर हटा रहे इस 'लेडी ब्रजेश ठाकुर' की तस्वीरें
पीएमओ ट्वीटर की तारीफ से गदगद हुये नीतिश
संविधान में बराबरी और अलग प्रदेश की मांग को लेकर नेपाल में मधेसियों की उग्रता बरकरार
‘दुर्ग’ को जमानत, लेकिन ST-SC कोर्ट में यूं दिखा सुशासन का दोहरा चरित्र
पत्रकार उत्पीड़न को लेकर ग्रामीण हुए गोलबंद, DIG से करेगें SP की कंप्लेन
चीख रहा है बाथेः जितना चाहे नरसंहार करो
राजग को 300 सीटें आ भी जाएं तो कैसे आईं, यह कौन बताएगा?
दैनिक भास्कर रिपोर्टर पर हमला से शीघ्रतम पर्दा उठाए राजगीर पुलिस
औरत: हर रूप में महान......!
ABP न्यूज़ चैनल की पब्लिक डिबेट में BJP माइंडेड एकंर ने 'ललुआ' कहा, मचा हंगामा
जब एक स्थानीय पत्रकार ने गाया 'सवेरे बोले मोरबा,कोरबा छोड़ द बलमा' तो झूम उठे सैनिक
ऐसे पाएं सिम से डिलीट हो चुके मोबाइल नंबर्स
आखिर कौन है धानुका हत्याकांड का शातिर भाजपा नेता ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...