एन.एच-33 फोरलेनिंग में लापरवाही की हद

Share Button

राष्ट्रीय उच्च मार्ग- 33 के फोरलेनिंग यानि चौड़ीकरण के कार्य में जुटे अधिकारी कितने लापरवाह हैं, इसका जीता जागता प्रमाण है रांची जिले के ओरमांझी ब्लॉक चौक से ठीक पहले चकला मोड़ के पास हाईटेंशन बिजली के तार के सटे नीचे 11 हजार एवं 440 बिजली के तार खिंचा जाना। झारखंड बिजली बोर्ड के अधिकारियों की ओर से भी इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया जाना आम जन मानस की जान-माल के खतरे के प्रति उदासीनता की पराकाष्ठा ही मानी जायेगी।

विदित हो कि 1 लाख 60 हजार केवी क्षमता वाला यह हाइटेंशन बिजली सिकीदिरी हाइडल प्रोजेक्ट से हटिया सुपर ग्रिड तक कुल 6 तारों के द्वारा प्रवाहित होती है।

ऐसे सामान्य दिनों में ही इसके नीचे 440 बिजली के तारों को हाईटेंशन बिजली के तार प्रभावित करते रहे हैं। बरसात के दिनों की नमी में तो बिजली नहीं रहने के बाबजूद नीचे के 440 के बिजली तारों में असहनीय करंट प्रवाहित रहता है। यदि अभी यहां गड़े जा रहे बिजली के खंभों एवं उस पर खींचे जा रहे तार के काम को नहीं रोका गया तो उसके कार्यशील होने के साथ ही जान-माल का भारी नुकसान होना तय है। जिसका सारा खामियाजा भविष्य में झारखंड राज्य बिजली बोर्ड को भुगतना पड़ेगा। क्योंकि कार्य भले ही सड़क निर्माण से जुड़े नीजि ठेकेदार कर रहे हों, उसकी मॉनिटरिंग की सारी जबाबदेही उसके क्षेत्रीय विद्दुत अभियंताओं की है।जो कहीं भी अपने दायित्व का निर्वाह करते नहीं दिख रहे हैं।

इस संबध में कांके  प्रक्षेत्र के विद्दुत अभियंता  असगर अली बताते हैं कि इस तरह की तकनीकि समस्याओं को बिजली बोर्ड एवं उसके संबधित जिम्मेदार अधिकारियों को तुरंत गंभीरता से लेनी चाहिये। हाईटेंशन तार के नीचे किसी भी बिजली तार, चाहे वो 11000 वोल्ट की हो या 440 वोल्ट की। दोनों के बीच की दुरी कम से कम 20-25 फीट अवश्य होनी चाहिये। अन्यथा जान-माल का खतरा बरकरार रहेगा। बेहतर होगा कि ऐसे स्थानों पर अंडरग्राउंड केबुल द्वारा 11000 वोल्ट या 440 वोल्ट  बिजली की सप्लाई किया जाये। इस तरह के कार्य रिंग रोड में किये गये हैं।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले इसी जगह खंभे गाड़ने के बाद उस पर बिजली के तार खिंचने के क्रम में एक अप्रशिक्षित मजदूर  करंट का झटका पाकर नीचे गिर गया और उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी। जबकि 440 वोल्ट की बिजली काट दी गई थी। लेकिन 1 लाख 60 हजार की बिजली उसमें झनझनाने वाली करंट अचानक पैदा कर दी थी            ……..मुकेश भारतीय

Share Button

Relate Newss:

सावधान! जमशेदपुर-सरायकेला के ग्रामीण ईलाकों में ‘केसरी गैंग’ ने मचा रखा है यूं कोहराम
'गोरा katora' नहीं हुजूर, लोग कहते हैं 'घोड़ा कटोरा'
WhatsApp, Facebook और Instagram सर्वर डाउन, फोटो-वीडियो नहीं हो रहे डाउनलोड
प्रायः बड़े नेताओं के करीबी है मुजफ्फरपुर का महापापी ब्रजेश ठाकुर
बिहार डीजीपी से सीधी बात के बाद पीड़ित पत्रकार ने यूं तोड़ा आमरण अनशन
सोशल मीडिया मजा भी और सजा भीः फेसबुक ने यूं खोला कई सफेदपोशों का राज
लखन सिंह की फरारी के दलदल में फंसी रांची पुलिस महकमा
इंडिया टुडे ग्रुप का एक्जिट पोल से हड़कंप, एनडीए को मात्र 177 सीटें!
चीनी ऑनलाइन वाणिज्य कंपनी अलीबाबा ने घंटे भर में की 3.9 अरब की शापिंग
आखिर पत्रकार वीरेन्द्र मंडल के पिछे हाथ धोकर क्यों पड़ी है सरायकेला पुलिस
भ्रम जाल में उलझी है भाजपा
देवयानी मामले में राजनयिक गतिरोध को मूर्खतापूर्ण मानता है अमेरिका
देखिए वीडियोः  शराब व शवाब का कैसा स्टडी करने गए थे बिहार के ये माननीय
मौजूदा पत्रकारिता के दौर में खोजी खबरों का खेल
जानिए कौन है गांधी जी की मॉडर्न हत्यारिन पूजा शकुन पांडे ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...