‘दिल्ली वर्किंग जनर्लिस्ट एक्ट’ को महामहिम की मंजूरी

Share Button

राजनामा.कॉम। महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ‘ दिल्ली वर्किंग जर्नलिस्ट संशोधन अधिनियम 2015’ को मंजूरी दे दी है।

यह मजीठिया वेतन बोर्ड की सिफारिशों को प्रभावी ढंग से लागू किए जाने को सुनिश्चित करता है और कानून का पालन नहीं किए जाने की स्थिति में दंडनीय प्रावधान भी करता है। 

इस कानून का पालन नहीं किए जाने पर एक साल तक की कैद की सजा हो सकती है। दिल्ली विधानसभा ने ‘ वर्किंग जनर्लिस्ट अधिनियम ’ में संशोधन के लिए दिसंबर 2015 में यह विधेयक पारित किया था। इस कदम का उद्देश्य मौजूदा कानून में बदलावों को प्रभावी करना है। 

श्रम मंत्री गोपाल राय ने आज कहा कि देश में मजीठिया वेतन बोर्ड को प्रभावी ढंग से लागू करने को सुनिश्चित करने के लिए कानून में संशोधन करने वाला दिल्ली पहला राज्य बन गया है। 

यह कानून दिल्ली आधारित मीडिया संगठनों पर लागू होगा। इस कानून के मुताबिक अनुबंध ( कॉंट्रेक्ट ) पर रखे गए पत्रकारों से श्रमजीवी पत्रकार ( वर्किंग जनर्लिस्ट ) जैसा व्यवहार किया जाएगा। 

दिल्ली सरकार की एक अधिसूचना में कहा गया है कि किसी कर्मचारी को बकाया राशि का भुगतान नहीं करने की स्थिति में नियोक्ता को दंडित किया जाएगा।  कानून , न्याय और विधायी मामलों के विभाग ने सात मई को यह अधिसूचना जारी की है।

नये कानून के मुताबिक इसका उल्लंघन करने वाले पर 5,000 रूपया से 10,000 रूपया तक जुर्माना और उसे एक साल तक की सजा हो सकती है।

Share Button

Relate Newss:

टीवी जर्नलिस्ट सुनील कुमार नाग का ब्रेन हैमरेज से निधन
...और राजगीर की मीडिया को यूं ऐड़ा बना पेड़ा खिला गया रोपवे प्रभारी
कनफूंकवे खुश तो रघुवर खुश...!
एनएचएआई ने सड़क किनारे बना रखा है मौत का गढ्ढा
पढ़िये दैनिक जागरण की कल्पित खबर
पार्टी नेता पुत्री से प्रेम विवाह करने वाला पूर्व रालोसपा प्रदेश अध्यक्ष लापता
सांप का खून पीने विदेशी बॉक्सर को घी खाने वाले भारतीय ने धोया
जी न्यूज और न्यूज नेशन के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचे धोनी
‘इंफाल टाइम्स’ की वायरल वीडियो में विधायक नहीं, उनके पीए व अन्य, देखिए पूरा वीडियो
नहीं सुधर रहा दैनिक हिन्दुस्तान, एक्पायर विज्ञापन छाप कर रहा यूं घोटाला
पत्रिका खोल रही पोलः भास्कर ने खाया 765 करोड़ का कोयला
4.5 लाख की साइकिल से चले अखिलेश
पटना हाई कोर्ट में अब हिंदी में भी दायर होगीं याचिकाएं
खोखला है मोदी का 56 ईंच का सीनाः सोनिया
सेना की मनमानी से त्रस्त ग्रामीणों की सीएम से गुहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...