थाना से भागा या भगाया गया लखन सिंह

Share Button

राजधानी रांची के मशहूर व्यवसायी राजू धानुका के दिन दहाड़े नृशंस हत्या से चर्चित हुआ कुख्यात शूटर लखन सिंह तुपूदाना थाना से भाग गया है। हालांकि यह एक गंभीर जांच का विषय है कि वह इतनी आराम से भागने में सफल हो गया है या एक सोची समझी रणनीति के तहत पुलिस-अपराधी-माफिया गठजोड़ अपनी पोल खुलने के डर से भगाया है।

बताया जाता है कि बीते शनिवार की सुबह पौने दस बजे लखन सिंह को थाना के मुंशी ने शौच के हाजत से निकाल कर शौचालय ले गया, जहां से वह हथकड़ी निकाल कर भाग गया। इस घचना के समय उसकी निगरानी में एक भी सिपाही नहीं था। लखन सिंह के भागने के काफी बाद तक पुलिस  ने उसे पकड़ने की कोई कोशिश नहीं की।

हालांकि रांची के एसएसपी ने पुलिस को आम फजीहत से बचाने के उद्देश्य से इस मामले में थाना प्रभारी कृष्ण मुरारी, जेएसआई रामाशंकर कुवंर और मुंशी नित्यानंद सिन्हा को सस्पेंड कर दिया है।

इस घटना का दिलचस्प पहलु है कि तकरीबन दस बजे  थाना  के मुंशी शौचालय गया तो पाया कि लखन सिंह के जुते और हथकड़ी फर्श पर पड़े हैं और वह फरार है। उसके बाद मुंशी ने बैरेक में आराम फरमा रहे सिपाहियों को लखन सिंह के भागने की खबर दी। थाना के उक्त मुंशी के मुताबिक लखन ने शौचालय में रखे साबून को हाथ में लगा कर हथकड़ी सरका ली और दीवार फांद कर भाग निकला।  

उधर, प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार- थाना से लखन सिंह आठ फीट दीवार फांद कर बाहर निकला था और बाहर पहले से इंतजार कर रहे एक बाइक सबार युवक उसे बालसिरिंग रेलवे स्टेशन की तरफ ले आराम से ले उड़ा। एक अन्य बाइक पर सवार युवक उसकी निगरानी कर रहा था।

Share Button

Relate Newss:

शिक्षा मंत्री ने कोडरमा डीडीसी को कहा- ‘बेवकूफ कहीं के...अंदर जाओगे’   
बाबूलाल मरांडी  ने खुद खोल ली अपनी राजनीति की कलई !
SBI बैंक में देखिये भ्रष्टाचार, मिड डे मिल का 100 करोड़ बिल्डर के एकाउंट में डाला
भ्रष्टाचार को लेकर दोहरा मापदंड अपना रही है झारखंड की रघुबर सरकार
हर डाल पर रघुवर बैठा है, अंजामे झारखण्ड क्या होगा...
मेहमानों को भी बेइज्जत करने से नहीं चूके झारखंडी अफसर
रघु'राज में भी बेलगाम हैं प्रदेश के निजी स्कूल
झाडू के जरिए सिर्फ अपनी मार्केटिंग कर रहे हैं मोदीः राहुल गांधी
काफी आहत हैं PGI लखनऊ में भर्ती देवघर के कैंसर पीड़ित पत्रकार आलोक संतोषी
लखन सिंह की फरारी के दलदल में फंसी रांची पुलिस महकमा
'रघुबर सरकार ने रांची की निर्भया कांड की CBI जांच की अनुशंसा तक नहीं की'
2018 देवर्षि नारद पत्रकारिता सम्मान, श्री चंदन कुमार मिश्र के नाम
चक्रधरपुर पवन चौक पर पत्रकार पवन शर्मा की मूर्ति का अनावरण
प्रेम-प्रणय का आध्यात्मिक पर्व भगोरिया
झारखंड में एसएआर कोर्ट खत्म करने की तैयारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...