तस्वीरे झूठ नहीं बोलती मंत्री जी, पप्पु यादव को 10 करोड़ का ऑफर!

Share Button

“ब्रजेश ठाकुर से पुराने संबंध हैं सुरेश कुमार शर्मा के,  सिर्फ पांच वर्षों में ‘प्रात: कमल’ को मिले 1 करोड़ 75 लाख, एग्रीडिएशन कमेटी और सलाहकार समिति में भी रहा ब्रजेश ठाकुर, सांसद पप्पू यादव को चुप रहने के लिए मिला दस करोड़ का ऑफर”

पटना (विनायक विजेता)। मुजफ्फरपुर अल्पावास गृह मामले के प्रकाश में आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और विरोधी दल के नेता तेजस्वी यादव ने बिहार के नगर विकास मंत्री पर कुछ संगीन आरोप लगाए थे। इन आरोपों से क्षुब्ध होकर सुरेश शर्मा ने तेजस्वी को कानूनी नोटिस भेजने की बात कही थी।

सुरेश शर्मा का दावा था कि उनका ब्रजेश ठाकुर से कभी कोई संबंध नहीं रहा। पर फिर से कुछ तस्वीरें हाथ लगी हैं, जो मंत्री के दावे को साफ झूठला रहें हैं। यह तस्वीरें मुजफफरपुर में आयोजित दो समारोह की है।

एक समारोह में सुरेश शर्मा के साथ तो ब्रजेश ठाकुर हैं हीं एक दूसरे समारो में ब्रजेश और अल्पावास मामले में फरार दिलीप ठाकुर माननीय मंत्री के साथ मंच पर बैठा दिखाई दे रहा है। ब्रजेश ठाकुर कभी छोटी मछलियों को चारा नहीं खिलाता था। वह बराबर सफेदपोश बड़ी मछलियों को ही अपने साथ सटाता था।

हाथ लगी एक अन्य तस्वीर में ट्रांसपोर्ट फेडेरेशन के चेयरमैन उदय सिंह ब्रजेश ठाकुर को सम्मानित करते दिखायी पड़ रहे हैं। ब्रजेश ठाकुर के अखबार प्रात: कमल को बिहार सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग से विज्ञापन मद में सिर्फ पांच वर्षों में ही 1 करोड़ 75 लाख का भूगतान किया गया।

सामाजिक कार्यकर्ता रजनीश कुमार ने सूचना के अधिकार के तहत सरकार से बिहार केअखबारों को विज्ञापन मद में भूगतान किए गए रुपयों का ब्योरा मांगा था। विभाग से मिले जवाब में वर्ष 2005-06 से लेकर मई 2011-12 तक के सात वित्तीय में से वित्तीय वर्ष 2007-08 एवं 2011-12 में कोई भूगतान नहीं हुआ है।

ब्रजेश ठाकुर की बिहार की राजनीतिक गलियारे में कितनी पहुंच थी कि इसका अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि वह बिहार विधान सभा की प्रेस समिति का सलाहकार तो बना ही पत्रकारों को सरकारी मान्यता दिए जाने वाले एग्रीडिएशन कमेटि का भी सदस्य बनाया गया था।

बताया जाता है कि उस समय सरकार के दो मंत्री जिनमें एक विभागीय मंत्री भी थे, का पूर्ण संरक्षण ब्रजेश ठाकुर को प्राप्त था। इसके अलावा भी कई मंत्री, पूर्व मंत्री विधायकों एवं राजनेताओं से ब्रजेश सिंह के काफी मधुर संबंध रहे हैं।

ब्रजेश ठाकुर कुछ वर्ष पूर्व बिहार के पत्रकारों के एक दल के साथ दिल्ली भी गया था जहां इस दल ने लोक सभाध्यक्ष सुमीत्रा महाजन से मुलाकात भी की थी। पत्रकारों का दल ट्रेन से दिल्ली गया था,जबकि ब्रजेश सिंह हवाई मार्ग से दिल्ली गया।

सूत्र बताते हैं कि दिल्ली प्रवास के दौरान ब्रजेश ठाकुर ने पानी की तरह पैसे बहाए थे। इधर मधेपुरा के सांसद पप्पू यादव ने एक नीजी चैनल को दिए साक्षत्कार में यह आरोप लगाया है कि मुजफ्फरपुर मामले में उन्हे चुप रहने के लिए 10 करोड़ रुपये देने की पेशकश की गई पप्पू यादव ने इसे अपने फेसबुक पेज पर भी शेयर किया है।

Share Button

Relate Newss:

वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र ने अपनी पोस्ट के आलोचको को यूं दिया करारा जवाब
भाजपा शासित राज्‍यों में दालों की जमकर जमाखोरी
सिल्ली विधायक ने सोशल मीडिया पर दिखाया सीएम को भ्रष्टाचार का आयना
कोई नहीं ले रहा संदिग्ध आतंकी के नियोक्ता अखबार का नाम ?
सुशासन बाबू के नालंदा में अराजकता, सिर्फ मीडिया में दिखता है सुशासन !
200 सीटें जीतने का दावे के साथ बेफिक्र है महागठबंधन
राहुल गांधी को लेकर मीडिया के इस रुख पर एक छात्रा ने जताई नाराजगी
साजिश का हिस्सा है 'केजरी-पुण्य वीडियो' का वायरलीकरण
बिहारः डायन का आरोप लगा वृद्ध महिला पंच की पिटाई
.....और यह है बिहार में नीतीश सरकार नया शराब बंदी कानून

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...