तबादले पर बवाल है-उठते कई सवाल हैं

Share Button
Read Time:2 Minute, 14 Second
जाने-माने एकंर-टीवी जर्नलिस्ट अरविन्द प्रताप अपने फेसबुक वाल पर ….

देश की सबसे प्रतिष्ठित सरकारी सेवा मानी जाती है यूपीएससी, जिसके अंतर्गत दृढ़ इच्छाशक्ति ओर कठिन परिश्रम से देश के युवा इस सेवा में शामिल होकर विभिन्न पदों पर अपनी सेवाएं देते हैं।

ऐसे में सवाल उठता है कि संदीप कदम, मनोज कुमार, भोर सिंह, इंद्रजीत महथा, पी मुरुगन और नैंसी सहाय जैसे कई और अन्य अधिकारी ही क्यों शिद्दत के साथ सिस्टम और समाज को सुधारने का बीड़ा उठाते हैं, क्यों अन्य अधिकारी ये जिम्मा नहीं निभाते, इसी शून्यता में कुछ अधिकारी अच्छा कार्य करके समाज मे हीरो बन जाते हैं।

लेकिन सवाल है क्या कमी रह जाती है उन युवा अधिकारियों के प्रशिक्षण में जो आईएएस आईपीएस बनकर भी अपनी जिमेवारी एक सामाजिक अधिकारी बन कर लोगों का दर्द दूर नही करते।

क्यों कोई प्रशिक्षु अधिकारी उन अधिकारियों पर भी भारी पड़ जाता है जिन्हें सिविल सेवा का लंबा अनुभव होता है, यूपीएससी क्वालीफाई कर के गहन प्रशिक्षण के बावजूद क्यों चंद अधिकारी ही उस कसम का मान रख पाते हैं, जो ट्रेनिंग के बाद कसम खा कर वे लेते हैं।

मुझे लगता है कि गहन चिंतन की जरूरत है कि कुछ लोग ही नायक क्यों बन पाते हैं, जबकि सबकी समान ट्रेनिंग होती है, एक बात और समाज की बुराइयों और सिस्टम को दुरुस्त करने का जिम्मा तो है ही इनके कंधों पर यही तो करने आये हैं। कुछ ऐसे ही नायकों को तस्वीर जिन्हें मैं जानता हूं।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

बंद हो अखबार के हॉकरों द्वारा बिना बिल दस रुपये की वसूली
आजसू ने जारी किया ‘युवा विजन डॉक्यूमेंट्सट’
राज्य सूचना आयोग ने कॉलेज के प्राचार्य को सशरीर शपथ पत्र के साथ किया तलब
....जाहिलों का पत्रकार संगठन कहेगें तो बुरा लगेगा
जमशेदपुर DPRO ने मीडिया हाउसों और रिपोर्टरों को यूं डराया
सरेआम क्लीनिक खोल कर यूं शोषण कर रहे हैं झोलाछाप
दस सालों तक सरकारी फाइलो में दबा रहा नालंदा का चंडी रेफरल अस्पताल
दैनिक जागरण के प्रतिनिधि की गोली मार कर हत्या, सगा भाई भी जख्मी
विनायक विजेता ने दैनिक भास्‍कर,पटना ज्वाइन किया
यहां सीबीआई के पूर्व निदेशक को मिलते हैं ऊंचे ओहदे
महिला ने कुख्यात देवर को बचाने की मंशा से थानेदार के खिलाफ यूं बनवाई सुर्खियां
दैनिक हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाला केस में शोभना भरतिया पर सवा लाख रूपया हर्जाना
वो गरिया क्या दिया, कुछ मीडिया वालों की सुलग गई
रांची वुमेंस कॉलेज के प्राचार्या ने Z News के लाइव रिपोर्टर से माइक छीनी
उषा मार्टिन एकेडमी प्रबंधन के खिलाफ 420 का मुकदमा
‘लोकस्वामी अखबार’ के 'माय होम' से 67 युवतियां मुक्त, मालिक जीतू सोनी फरार, बेटा अमित सोनी अरेस्ट
नागालैंड में बेगुनाह फरीद की हत्या के पीछे का षड्यंत्र !
......और मुड़ी कटाएं धनबाद थानेदार!
.....तो 2015 के चुनाव में नहीं मांगेगें वोट :नीतिश कुमार
पीएम मोदी को पीछे छोड़ बिगबी बने ट्वीटर के बादशाह
पूँजीवादी कारपोरेट मीडिया का राजनीतिक अर्थशास्त्र
नालंदा थाना पर्यटक सुविधा क्रेंद पर एक कथित पत्रकार का यूं सजा होटल बोर्ड
फिल्म 'पीके' का विरोध करने वाले घटिया लोग
झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने की फर्जी प्रेस वाहनों पर कार्रवाई की मांग
'राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से SDO-DSP हटायेगें अतिक्रमण और DM-SP करेंगे मॉनेटरिंग'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...