टीवी जर्नलिस्ट सुनील कुमार नाग का ब्रेन हैमरेज से निधन

Share Button

सुनील कुमार नाग की यह पहचान सिर्फ गया तक ही नहीं थीं।बिहार से बाहर कई राज्यों तक विडियो जर्नलिस्ट सुनील कुमार नाग का नाम लोकप्रिय था। ईटीवी से कैमेरा मैन की नौकरी छोड़ने के बाद वे हिंदी दैनिक ‘संमार्ग’ के साथ जुड़े सुनील कुमार नाग हमारे बीच नहीं रहे।”

राजनामा.कॉम (जयप्रकाश नवीन। बिहार के गया से कई सालों तक ईटीवी न्यूज चैनल में एक नाम उभरता था। कैमरा मैन सुनील नाग के साथ अरूण चौरसिया ईटीवी गया।

पिछले दिन ब्रेन हैम्ब्रेज के बाद उनका इलाज पीएमसीएच में चल रहा था। जहाँ वे जिंदगी की जंग हार गए ।शुक्रवार अपराह्न को उन्होंने अंतिम सांस ली।सात महीने पहले ही उनकी शादी हुई थीं । पिछले महीने ही वें अपनी पत्नी के साथ बाली की यात्रा पर गए हुए थें ।

बिहार के गया से सुनील कुमार नाग पत्रकारिता में काफी लंबे समय से जुड़े हुए थें। ईटीवी के वरीय संवाददाता अरूण चौरसिया के साथ उनकी जोड़ी गया में काफी लोकप्रिय थीं। ईटीवी में विडियो जर्नलिस्ट रहते हुए उन्होंने कई साहसिक विजुअल शुट किया था।

एक बार एनएमसीएच के जूनियर डाॅक्टरों की हड़ताल की खबर कवर करने गए हुए थे।जहाँ जूनियर डाॅकटरों ने उन पर हमला कर दिया था । फिर भी वे डटे रहे । बाद में चिकित्सकों ने उनका कैमरा भी तोड़ दिया था।

उनके बारे में कहा जाता था कि अंधेरी रातों में भी वें अकेले निकल पड़ते थें।नक्सलियों के गढ़ में घुसकर विडियो ले आना उनका बांए हाथ का कमाल था। सड़क पर आगजनी हो, पुलिस की लाठीचार्ज या फिर गोलीबारी, इन सब के बीच भी वे डटे रहते थे ।

वे एक निर्भीक विडियो जर्नलिस्ट बड़े ही  हंसमुख व्यक्तित्व के धनी थे। लोगों से मिलना उनका दोस्त बन जाना यह उनका एक गुण था ।

पिछले बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान नाग ईटीवी के वरीय संवाददाता अरूण चौरसिया के साथ नालंदा आए थे। जहाँ इस संवाददाता के साथ मुलाकात हुई थीं । लगभग तीन घंटे उनके साथ रहा ।

इस बीच बातचीत के दौरान हमेशा उनके चेहरे पर हंसी ही देखने को मिली। उनसे बातचीत के दौरान लगा ही नहीं कोई अजनबी से बात कर रहा हूँ। गया के पत्रकारों के बीच हंसमुख,मिलनसार स्वभाव ही उनकी एक पहचान थीं ।

उनके निधन से गया की पत्रकारिता जगत को अपूर्णीय क्षति पहुंची है।गया का होनहार पत्रकार को खोने का गम उन्हें साल रहा है। पत्रकारों ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।

शोक व्यक्त करने वालों में इंडियन जर्नलिस्ट्स यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कमलेश कुमार सिंह, राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य रंजन सिन्हा, गया लाइव के कुमुद रंजन, धीरज सिन्हा, अरूण कुमार चौरसिया, एलिन लिली पटना से आनन्द कौशल, अमिताभ ओझा, सौरभ कुमार, मुरली मनोहर श्रीवास्तव, रजनीश कुमार, रमेश पांडेय,विशाल स्वरुप सहित कई पत्रकार शामिल हैं।

उनके निधन पर गया के विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता, सामाजिक संगठनों, व्यावसायिक संगठनों, शिक्षाविद आदि ने शोक व्यक्त किया ।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...