झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष के खिलाफ माहौल गर्म

Share Button

रांची। इन दिनों झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष शहनवाज हसन को लेकर माहौल काफी गर्म है। विभिन्न समाचार माध्यमों से जुड़े पत्रकार सोशल मीडिया के जरिये अपना आक्रोश प्रकट कर रहे हैं।

कुतंलेश पांडेय लिखते हैं कि जेजेए के प्रदेश अध्यक्ष का सभी फोन कई दिनों से बंद है। न्यूज़ वर्ल्ड के कर्मचारी पैसे के लिए भूखे भेड़िये की तरह उन्हें खोज रहे है। लेकिन न तो रांची और न ही जमशेदपुर में दिख रहे है। रांची कार्यालय व जमशेदपुर में उनका मकान का भाड़ा कई महीने से बाकी है।

उन्होंने आगे लिखा है कि जेजेए के नाम पर जितने भी कार्यक्रम हुए सभी जगह काम करने वालो का बकाया है। धनबाद में जो कार्यक्रम हुए उसके खाने पीने का इंतजाम करने वाले कैटरर का पैसा अभी तक नहीँ दिया गया। जबकि इसके लिए डेलिगेशन फी के नाम से अलग से पैसा लिया गया। रांची से भी यही शिकायत है। उनके पिताजी अभी बीमार हो सकते है, लेकिन यह सब बकाया कई माह पुरानी है। आवाज में संगठन का विज्ञापन पांच हज़ार रुपये का दिया गया थे, वह भी बकाया है। अब तक जो भी कार्यक्रम हुये सब में लाखों रूपये वसूले गए। जिसका हिसाब नहीँ दिया गया। जो भी हिसाब मांगा उसे निष्कासित कर दिया गया।

उन्होंने लिखा है कि शक्ति जी, नित्यानन्द जी, प्रदुम्न जी, संजीव जी, दीपक जी, स्वरुप जी, शत्रुंजय जी इन लोगों पर किसी भी तरह के घोटाले का आरोप नहीँ है, फिर भी ये लोग बुरे हो गए। जिसके खिलाफ समाज में कटुता फ़ैलाने के आरोप में आईबी और एनआईए का जाँच चल रहा है, वह दूसरे में खामिया खोज रहे हैं।

इस पर रौशन गुप्ता ने लिखा है कि संगठन की ओर से आईडी कार्ड निर्गत करने के नाम पर उसका भी 280 रूपये डकार लिया गया हौ और ऐसा प्रायः सदस्य पत्रकार के साथ किया गया है।

इसके आलावे संगठन से जुड़े रहे अनेक पत्रकारों ने ऐसे कई गंभीर आरोप लगाये हैं, जिसे  झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष शहनवाज हसन का पक्ष जाने बगैर स्पष्ट नहीं किया जा सकता। जो कि उपलब्ध नहीं हो पा रहा है।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...