जेजेए ने पत्रकार हरी प्रकाश की मौत को लेकर डीजीपी को सौंपा ज्ञापन

Share Button

रांची। झारखण्ड जर्नलिस्ट एसोसियेशन  के प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज़ हसन ने पुलिस महानिदेशक से हज़ारीबाग के पत्रकार हरी प्रकाश की मौत की जांच और दोषियों की गिरफ्तारी की मांग की है।

उन्होंने आज संगठन सचिव अरविंद प्रताप के साथ प्रदेश के पुलिस महानिदेशक को सौंपे ज्ञापन में लिखा है कि हज़ारीबाग के दैनिक जागरण के पत्रकार हरी प्रकाश का शव संदिग्ध स्थितियों में रेलवे स्टेशन के पास पाया गया था। पत्रकार हरी प्रकाश की मौत के बाद कई ऐसे सवाल हैं, जिसके मद्देनज़र गहराई से जांच आवश्यक हो जाता है। हरी प्रकाश के परिजनों ने भी हत्या का मामला दर्ज कराया है और जांच की मांग की है।

ज्ञापन के अनुसार 28 वर्षीय हरि प्रकाश का शव सोमवार को संदिग्ध अवस्था में बरामद किया गया था। परिजनों के आवेदन पर हरि प्रकाश की महिला मित्र प्रीति अग्रवाल और प्रीति के सहयोगियों के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गई है। शव के पास से पुलिस ने एक सुसाइड नोट भी बरामद किया है, जिसमें उन्होंने महिला मित्र पर प्रताड़ित करने के गंभीर आरोप लगाए हैं। एसपी भीमसेन टुटी ने मामले की जांच डीएसपी स्तर के पदाधिकारी से कराने और उसका बिसरा एफएसएल जांच के लिए भेजने की बात कही है। हरि के पिता जीतन महतो ने पुलिस को दिए आवेदन में आरोप लगाया है कि उनके पुत्र का अपहरण कर, उसके करीबी महिला मित्र प्रीति अग्रवाल ने ही हत्या कराई है। प्रीति सदर अस्पताल में गुप्त रोग विभाग में बतौर सहायक कार्यरत है। महतो ने कहा कि हरि प्रकाश ने घर में अपनी जान को खतरा बताया था तथा महिला मित्र द्वारा एचआइवी का इंजेक्शन लगाने की आशंका भी व्यक्त की थी। हत्या की आशंका को लेकर मेडिकल बोर्ड का गठन कर पोस्टमार्टम कराया गया। चिकित्सकों ने उसकी मौत जहर से होने की बात कही है। हरि प्रकाश 30 दिसंबर से गायब थे। इस बीच प्रीति अग्रवाल दो दिनों की छुट्टी लेकर ऑफिस से निकल गई हैं। इस पूरे मामले में पुलिस अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं कह रही है। सुसाइड नोट के आधार भी वो पूरे मामले की जांच में जुटी है।

जेजेए अध्यक्ष ने अपने ज्ञापन में निम्न खास बिंदुओं विशेष जांच कराने की मांग की है…..

* प्रीति जिस पर हत्या का आरोप परिजनों ने लगाया है वे 30 से ही छुट्टी पर है और हरी प्रकाश भी घर से 30 दिसंबर से गायब थे।

* हरी प्रकाश का मोबाइल गायब है, कॉल रेकॉर्ड से पुलिस पता लगाये कि अंतिम बार किस से बात हुयी और कब हुई।

* हरी प्रसाद के घर 31 दिसंबर को बबलू (इस्माईल) ने उसके पिता को गायब होने की सूचना शव मिलने से पहले ही कैसे दी ?

Share Button

Relate Newss:

क्या फर्जी है बिहार विधान सभा की प्रेस सलाहकार समिति!
शराब बंदी कानून की निकली हवाः कंटेनर से 354 कार्टन विदेशी शराब बरामद,पांच गिरफ्तार, दो वाहन जब्त
गुजरात में पक्षियों के उड़ने का मौलिक अधिकार है या नहीं- अब सुप्रीम कोर्ट तय करेगा
मैं सरकारी कर्मचारी नहीं, प्रेस परिषद का अध्यक्ष हूं :जस्टिस काटजू
रघुवर दास के बेटे के 'SEX AUDIO' पर हाईकोर्ट में याचिका
भ्रष्टाचार में संलिप्त पुलिस महकमे के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर रही रघुबर सरकार
मुंगेर के 'जांबाजों' और 'हिन्दुस्तान' की अब लड़ाई दिल्ली में, आपके सहयोग की आस
सेना की मनमानी से त्रस्त ग्रामीणों की सीएम से गुहार
भयभीत मनोरंजन ने राजनामा से कहा, सीएम स्तर से दब रहा है मामला !
गोला गोली कांड : प्रशासन ने सर्पदंश व दुर्घटना को बताया मौत की वजह !
ब्रजेश ठाकुर के भाई एवं अखबार के पटना ब्यूरो चीफ झूलन के हाथ में कहां से आया इंसास रायफल
मुंडा राज में फर्जी पत्रकारों के बीच बंटे रेवड़ियों की जांच जरुरी
JAC अध्यक्ष दुर्गा उरांव ने की राजनामा के संपादक पर फर्जी पुलिस केस की भ्रत्सना, राजगीर मामले को लेक...
नागालैंड में बेगुनाह फरीद की हत्या के पीछे का षड्यंत्र !
यह रही मोदी सरकार की वेबसाइट विज्ञापन नीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...