जुबान नही,कलम बोलनी चाहिए पत्रकार की

Share Button

media

एक समय था जब पत्रकार बड़े जिम्मेवार और सभ्य व्यक्ति के रूप में जाने जाते थे। आज भी मूलतः यही छवि है।

परंतु वर्तमान परिस्थियों के सन्दर्भ में कुछ तथाकथित व्यक्तियों द्वारा इसे मूल परिभाषा से परिवर्तित करने का परिक्षण प्रतिभूत होता प्रतीत हो रहा है।

पत्रकार की ताकत उनकी कलम में होती है और उनकी भावना या व्यवस्था के प्रति आक्रोश भी उनकी लेखनी में परिलक्षित होती है।

वार्तालाप, व्यवहार एवं चरित्र में भद्रता की सर्वोत्तम परकाष्ठा का प्रयास निहित होता है। परंतु पत्रकार यदि अपनी प्रतिक्रिया किसी पक्ष के सम्बन्ध में अमर्यादित शब्दों को वाणी से उच्चारित करके दें तो निश्चित रूप से किसी परिपक्व एवं वरिष्ठ पत्रकार के सन्दर्भ में विश्वास से परे प्रतीत होता है।

निजी भावना से ऊपर जनभावना को लाने के प्रति प्रतिबद्धता केलिए आमलोगों के विश्वास पटल पर चित्रित होते हैं, वो होते हैं लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ माने जाने वाले पत्रकार।

अतः परिस्थियों की जंजीरे लाख विषम स्थितियों को सामने लाये,पत्रकारो से कम से कम मूल सिद्धांतों पर अडिग रहने की आशा रहती है।

दरभंगा से पत्रकार  अभिषेक कुमार की नजर

Share Button

Relate Newss:

शिवराज सरकार ने 300 पत्रकारों के मुंह में डाला जमीन का टुकड़ा
हे मोदी जी! इस कानून को ख़त्म कीजिये, देश मुस्कुरा उठेगा
दैनिक जागरणः  हत्या किसी की, फोटो छापा किसी का !
राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि को अतिक्रमणमुक्ति के योद्धा पुरुषोतम को जान-माल का खतरा
‘इंफाल टाइम्स’ की वायरल वीडियो में विधायक नहीं, उनके पीए व अन्य, देखिए पूरा वीडियो
मलमास मेला मोबाइल एप्प से हटाई गई भू-माफियाओं से जुड़ी सूचनाएं
'अन्ना आंदोलन' में शामिल होगें मनीष-केजरीवाल
शुक्रिया रघु’राज, आपकी जय हो!
...और राजगीर की मीडिया को यूं ऐड़ा बना पेड़ा खिला गया रोपवे प्रभारी
बाहुबली डीपी यादव की पटना में है करोड़ों की संपत्ति
संदर्भ दिग्गी-अमृता विवाहः इस स्थिति में क्या करेंगे आप?
नालंदा में बालू माफिया ने दो मजदूर भाइयों  को मौत की घाट उतारा
हाईकोर्ट का फैसला उत्तराखंड के लोगों की जीत : हरीश रावत
बाबूलाल मरांडी  ने खुद खोल ली अपनी राजनीति की कलई !
अवैध राजगीर गेस्ट हाउस होटल के सामने नगर प्रशासन का 24घंटे का दंडात्मक आदेश भी बौना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...