जानिये वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र के खिलाफ FIR पर क्या बोले धुर्वा थाना प्रभारी

Share Button

रांची (INR)। अभी-अभी वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र के खिलाफ रांची के धुर्वा थाना में सोशल साइट पर किये एक पोस्ट पर FIR को लेकर धुर्वा थाना प्रभारी से बात की तो सनसनीखेज तथ्य उभर कर सामने आये।

थाना प्रभारी से से जब वरिष्ठ पत्रकार पर आईटी एक्ट की धारा-66 (I) को लेकर बात की  तो वे 66 (A) की बात करने लगे। जब उन्हें यह बताया गया कि माननीय सुप्रीम कोर्ट ने इस धारा को निरस्त दिया है तो उनका साफ कहना था कि इसके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। वरीय पदाधिकारी के मौखिक आदेशानुसार धारा लगाई गई है।

अब सवाल उठता है कि जिस धारा के के बारे में केस दर्ज करने वाले थाना प्रभारी को को ज्ञात न हो, उस केस की क्या अहमिय रह जाती है। उपरी दबाव में एक थाना प्रभारी का एक्शन क्या मायने रखता है। आखिर वो अधिकारी कौन है ,जिसने प्रवधान से इतर मामले दर्ज रने के मौखिक आदेश निर्गत किये।

थाना प्रभारी का यह भी कहना है कि दो लड़को ने शिकायत की कि  भगवान के रुप में सीएम का पोस्ट डाला गया था, उसी पर केस दर्ज किया गया था। जब थाना प्रभारी से पुछा गया कि केस में जो धारा-66 (I) लगाया गया है, वह क्या कहती हो। इसपर थाना प्रभारी कोई उतर नहीं दे पाये। बाद में उन्होंने कहा कि उस धारा का आशय(66) ए से है। जब उन्हें यह बताया गया कि  इस धारा को सुप्रीम कोर्ट ने निरस्त कर दिया है तो वे कुछ नहीं वोल सके और फोन काट दिया।

उन्होंने एक सबाल के जबाव में बताया कि इसमें कुछ षंडकारी लोग के नाम सामने आ रहे हैं, जो श्री कृष्ण बिहारी मिश्र से इतर हैं। पुलिस सच्चाई की तह में जाकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। प्रथम दृष्टया श्री मिश्र के नाम सामने नहीं है। कोई  ऐसे लोग शामिल हैं, जिसकी सघनता से पड़ताल कर रही है।

 

 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...