जमशेदपुर प्रेस क्लब का चुनाव हास्यास्पद ,बली का बकरा बने श्रीनिवास

Share Button

जमशेदपुर में कैमरा बगल में लटकाये आपको कई ऐसे कैमरामैन मिल जायेंगे जिनका एक मात्र उद्देश पत्रकारिता को सीढ़ी बनाकर अवैध उगाही करना है।

nawasanप्रबंधन (समाचार पत्र एवं न्यूज़ चैनल) ऐसे कैमरामैन से आवयश्कता अनुसार तस्वीरें तो लेता है ,परन्तु उन्हें किसी प्रकार का ऐसा कोई प्रमाण पत्र नहीं दिया गया है जिससे कि वे स्वयं को किसी बैनर का कैमरामैन कह सके।

 ऐसे ही चंद कैमरामैन की युवा पीढ़ी ने जमशेदपुर प्रेस क्लब की स्थापना कर दी ,बिना किसी अनुमति के पहले मीटिंग बुलाई गई और 20 से 25 की संख्या में शामिल कुछ पत्रकारों को लेकर शरीफ और सीधे साधे सौभाव के एस श्रीनिवास को बली का बकरा बना दिया गया।

शायद पत्रकारों को यह भी जानकारी नहीं होगी की कैमरामैन को जॉर्नलिस्ट की श्रेणी में नहीं रखा जाता है ,और वह भी ऐसे कैमरामैन जिनमे से अधिकांश नॉन मेट्रिक है ,अब वे पत्रकारों का प्रतिनिधित्व करेंगे ?

प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया से लगातार झारखण्ड के सभी पत्रकार संगठनो और पत्रकारों के बीच समन्वय स्थापित करने के लिए मै लगातार संपर्क में हूँ। जल्द ही रांची और जमशेदपुर में प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया और केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावेडकर का संयुक्त कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा।

जमशेदपुर प्रेस क्लब का यह चुनाव पूरी तरह से अनैतिक है इसलिए की इसमें पत्रकारों दुआरा नहीं बल्कि कैमरामैन दुआरा यह मीटिंग बुलाई गई थी ,और मेरी इस बात से सभी वरिष्ठ पत्रकार सहमत हैं।

……जमशेदपुर से Shahnawaz Hassan Journalist अपने फेसबुक वाल पर।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...