जमशेदपुर प्रेस क्लब का चुनाव हास्यास्पद ,बली का बकरा बने श्रीनिवास

Share Button

जमशेदपुर में कैमरा बगल में लटकाये आपको कई ऐसे कैमरामैन मिल जायेंगे जिनका एक मात्र उद्देश पत्रकारिता को सीढ़ी बनाकर अवैध उगाही करना है।

nawasanप्रबंधन (समाचार पत्र एवं न्यूज़ चैनल) ऐसे कैमरामैन से आवयश्कता अनुसार तस्वीरें तो लेता है ,परन्तु उन्हें किसी प्रकार का ऐसा कोई प्रमाण पत्र नहीं दिया गया है जिससे कि वे स्वयं को किसी बैनर का कैमरामैन कह सके।

 ऐसे ही चंद कैमरामैन की युवा पीढ़ी ने जमशेदपुर प्रेस क्लब की स्थापना कर दी ,बिना किसी अनुमति के पहले मीटिंग बुलाई गई और 20 से 25 की संख्या में शामिल कुछ पत्रकारों को लेकर शरीफ और सीधे साधे सौभाव के एस श्रीनिवास को बली का बकरा बना दिया गया।

शायद पत्रकारों को यह भी जानकारी नहीं होगी की कैमरामैन को जॉर्नलिस्ट की श्रेणी में नहीं रखा जाता है ,और वह भी ऐसे कैमरामैन जिनमे से अधिकांश नॉन मेट्रिक है ,अब वे पत्रकारों का प्रतिनिधित्व करेंगे ?

प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया से लगातार झारखण्ड के सभी पत्रकार संगठनो और पत्रकारों के बीच समन्वय स्थापित करने के लिए मै लगातार संपर्क में हूँ। जल्द ही रांची और जमशेदपुर में प्रेस क्लब ऑफ़ इंडिया और केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावेडकर का संयुक्त कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा।

जमशेदपुर प्रेस क्लब का यह चुनाव पूरी तरह से अनैतिक है इसलिए की इसमें पत्रकारों दुआरा नहीं बल्कि कैमरामैन दुआरा यह मीटिंग बुलाई गई थी ,और मेरी इस बात से सभी वरिष्ठ पत्रकार सहमत हैं।

……जमशेदपुर से Shahnawaz Hassan Journalist अपने फेसबुक वाल पर।

Share Button

Relate Newss:

पत्रकारिता के जरिए पहाड़ ढाहने का दंभ भरने वाले भाइयों के लिए -1
दैनिक हिन्दुस्तान पर डीएसपी ने ठोका मानहानि का मुकदमा
मीडिया ट्रायलबाजों के लिए एक सबक है एनबीएसए की यह कार्रवाई
सीवान में दैनिक हिन्दुस्तान के क्राईम रिपोर्टर को चाकू गोदा, हालत गंभीर
देश में बढ़ती असहिष्णुता के खिलाफ आमिर खान भी प्रबुद्ध वर्ग में शामिल
पत्रकारिता से मुश्किल काम है राजनीति :आशुतोष
शिवराज सरकार ने 300 पत्रकारों के मुंह में डाला जमीन का टुकड़ा
600 Volunteers, Over 1000 artists and 60,000+ strong audience in one mega show
पत्रकारों ने मांगी छुट्टी तो हिन्दुस्तान के संपादक दिनेश मिश्रा ने दी गालियां !
बहुत कठिन है सहिष्णु होना श्रीमान
दैनिक हिंदुस्तान के जिलावार अवैध संस्करणों में सरकारी विज्ञापन पर रोक
राष्ट्रीय पुरस्कार लौटाने वाले समेत 24 हस्तियों में सईद मिर्जा, कुंदन शाह, अरुंधति राय भी शामिल
पांच्यजन्य अखबार के विरुद्ध कार्यवाही क्यों नहीं?
देखिये पटना की सड़क पर एसपी शिवदीप लांडे की 'लंठगिरी'
बाबा रामदेव की पतंजलि लि. का फर्जीवाड़ा, हुआ 11 लाख का जुर्माना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...