छतीसगढ़ के मूलवासी रघुवर दास होंगे झारखंड के नये सीएम !

Share Button

raghubar_das_bjpझारखंड के नये मुख्‍यमंत्री रघुवर दास होंगे। इनके नाम पर सहमति बन गयी है। औपारिक घोषणा शेष रह गयी है। श्री दास ओबीसी के बनिया समाज से आते हैं। वह मूलत: छत्‍तीसगढ़ के रहने वाले हैं।

उन्‍होंने अपनी राजनीति जमशेदपुर में मजदूर यूनियन से शुरू की थी और पहली बार वह 1995 में बिहार विधान सभा के लिए चुने गए थे। वह राज्‍य के दसवें व पहले गैर आदिवासी मुख्‍यमंत्री होंगे।  

बताया जा रहा है कि भाजपा के पर्यवेक्षक आज रांची पहुंचेंगे और कल विधायक दल की बैठक होगी।

विधायक दल की बैठक में श्री दास विधायक दल का नेता चुना जाएगा।

इसके बाद राज्‍यपाल से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। माना यह जा रहा है कि वह पार्टी अ‍ध्‍यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पसंद है।

वह आडवाणी और पूर्व पार्टी अध्‍यक्ष नीतीन गडकरी के करीबी भी रहे हैं। 

शिबू सोरेन सरकार में थे उपमुख्‍यमंत्री  

शिबू सोरेन सरकार में वह उपमुख्‍यमंत्री बनाए गए थे। 2009 में बनी इस सरकार से बाद में भाजपा ने समर्थन वापस ले लिया था। वैसे अर्जुन मुंडा सरकार में रघुवर दास मंत्री व डिप्टी सीएम रह चुके थे।

वित्त मंत्री के तौर पर रघुवर दास ने लंबा काम किया है। रघुवर की पहचान एक सादगी पसंद नेता के रूप में है। जब वे डिप्टी सीएम थे, तब बस एक सरकारी एंबेसडर कार में चला करते थे।

उनके साथ न तो गाड़ियों का काफिला हुआ करता था और न ही सुरक्षाकर्मियों की फौज।  (नौकरशाही डॉट कॉम की खबर)

Share Button

Relate Newss:

अचानक मुनाफा कमाने लगे दैनिक हिन्दुस्तान और जागरण
रिपोर्टर आरजू बख्स को इजलास नोटिश से नालंदा पुलिस का उभरा विकृत चेहरा
100 वर्षों से लग रहा है हैदरनगर में भूतों का मेला
न्यूज11 के मालिक अरूप चटर्जी के खिलाफ अरेस्ट वारंट
रांची पुलिस के खिलाफ वरिष्ठ पत्रकार गुंजन सिन्हा की फेसबुक पर अपील
झारखंड के 30 पूर्व विधायक सम्मानित, प्रदीप यादव बने उत्कृष्ट विधायक
झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने की फर्जी प्रेस वाहनों पर कार्रवाई की मांग
वन्यप्राणी सप्ताह-2011 चित्रांकण प्रतियोगिता में माउंट कार्मेंल की छात्रा निधि रानी को प्रथम स्थान
रघु'राज के प्रमुख प्रेस सलाहकार योगेश किसलय ने फेसबुक पर उड़ेली ओछी मानसिकता
रांची से शुरु हुआ मानवता को समर्पित “पा लो ना” अभियान
संकट में सुबोध, नहीं मान रहे युवराज !
रांची प्रेस क्लब कोर कमेटी के निर्णयों से पत्रकारों में आक्रोश
झारखंड में भी लागू हो पत्रकार सुरक्षा कानून  : JJA
रांची निर्भया कांड की गुत्थी सुलझाने में राज्य-तंत्र विफल, अब सीबीआई करेगी जांच
लक्ष्मण गिलुवा का स्वागत करने पहुंचा उग्रवादी धराया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...